Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

स्वास्थ्य मंत्रालय ने विश्व मलेरिया दिवस पर पूरे भारत में जागरूकता कार्यक्रम का किया आयोजन

25 Apr, 2022
Employee
Share on :
विश्व मलेरिया दिवस के अवसर पर, स्वास्थ्य मंत्रालय ने देश भर में आयोजित जागरूकता कार्यक्रमों की झलकियां ट्विटर के द्वारा साझा की...

विश्व मलेरिया दिवस के अवसर पर, स्वास्थ्य मंत्रालय ने देश भर में आयोजित जागरूकता कार्यक्रमों की झलकियां ट्विटर के द्वारा साझा की…

विश्व मलेरिया दिवस

नई दिल्ली: मलेरिया बुखार के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए दुनिया भर में हर साल 25 अप्रैल को विश्व मलेरिया दिवस मनाया जाता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन की विश्व मलेरिया रिपोर्ट 2021 के अनुसार, भारत में अभी भी मलेरिया के सबसे अधिक केसलोएड्स में से एक है, हालांकि पिछले कुछ वर्षों से देश में मलेरिया के मामलों में गिरावट देखी दी है। मलेरिया की समस्या को रोकने के लिए सरकार NMCP (नेशनल मलेरिया कंट्रोल प्रोग्राम) चला रही है, जिसमें वेक्टर कंट्रोल यानी मच्छरों का प्रजनन और मलेरिया हॉटस्पॉट की निगरानी और पर्यवेक्षण शामिल है।

विश्व मलेरिया दिवस

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को विश्व मलेरिया दिवस के अवसर पर मलेरिया के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए देश भर में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया। स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने “मलेरिया रोग को कम करने और जीवन बचाने के लिए नवाचार का उपयोग” विषय पर एक कार्यक्रम आयोजित किया।

ये भी पढ़ें: World Health Day 2022: आयुष मंत्रालय ने आयोजित किया ‘योग अमृत महोत्सव’, हर मनुष्य के स्वास्थ्य पर ध्यान केंद्रित करना आवयश्यक

मंडाविया ने किसी भी बीमारी से निपटने के लिए प्रौद्योगिकी में नए नवाचारों का उपयोग करने की आवश्यकता पर बल दिया। इस कार्यक्रम में केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण, स्वास्थ्य राज्य मंत्री भारती पवार और विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रतिनिधि डॉ. रोडेरिको ऑफरीन भी मौजूद थे।

विश्व मलेरिया दिवस

इस बीच, WHO के प्रतिनिधियों ने कहा कि भारत ने मलेरिया को रोकने के लिए एक राष्ट्रीय ढांचा विकसित किया है और इसके 2030 तक समाप्त होने की उम्मीद है। “WHO ग्लोबल मलेरिया तकनीकी, रणनीति के अनुरूप, भारत ने 2027 तक शून्य मामलों को प्राप्त करने का प्रण लिया है.

ये भी पढ़ें : यह शाकाहारी स्रोत अंडे और मांस से अधिक प्रोटीन प्रदान करता है

स्वास्थ्य मंत्रालय ने देश भर में आयोजित, जागरूकता कार्यक्रमों की झलकियां साझा करने के लिए ट्विटर का सहारा लिया। मंत्रालय ने ट्वीट करते हुए कहा की “विश्व मलेरिया दिवस के अवसर पर, देश भर में जागरूकता गतिविधियाँ हुईं। यहां महाराष्ट्र का नंदुरबार जिला एक रैली का आयोजन करता है जिसमें, छात्रों और जिला अधिकारियों ने पूरे दिल से भाग लिया.”

News
More stories
चिनाब नदी पर भारत के प्रोजेक्ट्स से बौखलाया पाकिस्तान, जानिए क्या है पूरा मामला...