चेन्नई में पटरी से उतरकर प्लेटफॉर्म पर जा चढ़ी लोकल ट्रेन, लोको पायलेट ने चलती ट्रेन से मारी छलांग

25 Apr, 2022
Deepa Rawat
Share on :
Chennai EMU Accident

चेन्नई में रविवार को एक बड़ा हादसा होते-होते टल गया। यहां एक लोकल ट्रेन पटरी से उतरकर प्लेटफॉर्म पर जा चढ़ी। गनीमत रही कि इस लोकल यानी इलेक्ट्रिक मल्टीपल यूनिट (ईएमयू) को यार्ड से प्लेटफॉर्म पर ले जाया जा रहा था। घटना के समय ट्रेन पूरी खाली थी।

नई दिल्ली: चेन्नई में एक बड़ा ट्रेन हादसा होने से बच गया। यहां एक खाली लोकल ट्रेन पटरी  से उतरकर प्लेटफॉर्म पर जा चढ़ी। यह एक लोकल EMU ट्रेन थी, ट्रेन को यार्ड से (ताम्बरम) मार्ग ले जाया जा रहा था।

शंटर ने रेक से मार दी छलांग


दक्षिण रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी एस गुगणेशन (s GUgneshan)  के मुताबिक, शेड लाइन से प्लेटफॉर्म 1 पर एक खाली ईएमयू रेक को ले जाते समय रेक प्लेटफॉर्म के बफर एंड को तोड़ते हुए आगे निकल गया। इसके बाद उसने प्लेटफॉर्म 1 को क्षतिग्रस्त कर दिया। चूंकि रेक पूरी तरह से खाली था। यानी उसमें कोई यात्री नहीं था। प्लेटफॉर्म पर भी उस समय कोई यात्री नहीं था, लिहाजा किसी को कोई नुकसान नहीं पहुंचा। हादसे के बीच शंटर (दो रेक को जोड़ने या हटाने वाला कर्मचारी) ने रेक से छलांग लगा दी। उसे मामूली चोट आई है। वहीँ उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

बताया जा रहा है ट्रेन के हुए ब्रेक फेल

रेलवे अधिकारियों के अनुसार, हादसा किस वजह से हुआ, इसका पता करने उचित स्तर पर जांच कराई जाएगी। शुरुआती जांच में सामने आया है कि ब्रेक फेल होने से यह हादसा हुआ। जैसे ही ट्रेन का डिब्बा पटरी से उतरकर प्लेटफॉर्म पर चढ़ा, वहां खड़े लोगों में भगदड़ मच गई। गुगणेशन ने कहा कि करीब 9 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद EMU को घटनास्थल से हटाया जा सका। फिलहाल, पायलट के खिलाफ IPC की धारा 279 और रेलवे एक्ट की धारा 151, 154 के तहत मामला दर्ज कराया है। हादसे में ट्रेन के दो डिब्बे क्षतिग्रस्त हुए हैं।

लापरवाही भी बताई जा रही है वजह


पिछले दिनों बिहार के सिवान में एक पायलट की लापरवाही सामने आई थी। बिहार के सिवान में आने वाले सिसवान ढाला में ट्रेन के पायलट को चाय की तलब लगी, तो उसने बीच में ट्रेन रोक दी। यह घटना झांसी यानी ग्वालियर मेल एक्सप्रेस ट्रेन नंबर-11123 के साथ हुई। यह ट्रेन शुक्रवार को सुबह 5 बजकर 27 मिनट पर सिवान स्टेशन पहुंची थी। तभी उसे 91 ए सिसवन ढाला के पास रोक दिया, क्योंकि उसे चाय की तलब लगी थी। ट्रेन जिस जगह रोकी गई, वहां फाटक है। ऐसे में वाहनों को इंतजार करना पड़ा। इस मामले की भी जांच कराई जा रही है।

News
More stories
पटना के चाय वाले रैपर की कहानी, बहन की पढाई के लिए बेचा EMI पर खरीदा हुआ फ़ोन
%d bloggers like this: