तेलंगाना: सिकंदराबाद कबाड़ गोदाम में आग लगने से 11 लोगों की मौत

23 Mar, 2022
Employee
Share on :

सिकंदराबाद के न्यू भोईगुड़ा में बुधवार तड़के ‘एक लकड़ी के गोदाम’ में भीषण आग लगने से कम से कम 11 लोग जिंदा जल गए जहाँ सभी मृतक बिहार के प्रवासी श्रमिक थे।

नई दिल्ली: हैदराबाद में बुधवार सुबह एक कबाड़ के गोदाम में भीषण आग लगने से कम से कम 11 लोगों की मौत हो गई. एबीपी न्यूज के सूत्रों के मुताबिक गोदाम के अंदर करीब 12 लोगों के फंसे होने की आशंका है. फायर टेंडर की आठ गाड़ियां मौके पर पहुंची और एक व्यक्ति को आग से बचा लिया गया। उन्हें नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। नवीनतम जानकारी के अनुसार, गोदाम के अंदर फंसे 12 लोग सो रहे थे और भीषण आग के कारण गोदाम की एक दीवार ढह गई और वे मौके से भाग नहीं पाए. ऐसे में, 11 लोगों की जान जिन्दा जलने से चली गई।

गोदाम हैदराबाद में सिकंदराबाद के भोईगुड़ा इलाके में स्थित है। मौके पर पहुंचे गांधी नगर के एसएचओ मोहन राव ने कहा, “12 लोगों में से एक व्यक्ति की जान बच गई है। डीआरएफ आग बुझाने के लिए मौके पर पहुंच चूका है। आग लगने का कारण शॉक सर्किट हो सकता है। हम मामले की जांच कर रहे हैं।” बता दें, सिकंदराबाद के न्यू भोईगुड़ा में बुधवार तड़के ‘एक लकड़ी के गोदाम’ में भीषण आग लगने से कम से कम 11 लोग जिंदा जल गए जहाँ सभी मृतक बिहार के प्रवासी श्रमिक थे।

Telangana State Disaster Response और Fire Services Department के अनुसार, नियंत्रण कक्ष में भोईगुडा से सुबह 3.55 बजे एक कबाड़ गोदाम में आग लगने की घटना के बारे में एक आपातकालीन कॉल आया, जिसके बाद पास के गांधी अस्पताल में तैनात एक फायर टेंडर को तैनात किया गया। सुबह साढ़े नौ बजे तक आग पर काबू पा लिया गया और फायर टेंडर की आठ टीमों को सेवा में लगाया गया। वहीं, हैदराबाद के District Fire अधिकारी एम श्रीनिवास रेड्डी ने indianexpress.com को बताया कि जब तक दमकल कर्मी गोदाम में घुसते तब तक मजदूरों की मौत हो चुकी थी। “हम केवल उनका नाम और उम्र जानते हैं, लेकिन शरीर पहचान से परे हैं। उनके परिवारों को उनकी पहचान करने के लिए डीएनए परीक्षण करने की आवश्यकता होगी।”

वहीं, तेलंगाना के सीएम के चंद्रशेखर राव ने आग में बिहार के श्रमिकों की मौत पर शोक व्यक्त किया। उन्होंने परिजनों को पांच-पांच लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की और मुख्य सचिव को घटना में मारे गए श्रमिकों के शवों को वापस लाने की व्यवस्था करने का निर्देश भी दिया। पीएम मोदी ने शोक व्यक्त करते हुए मृतकों के परिवार को संतावना दी और परिजनों को 2 लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की.

इसे भी पढ़ें अरविन्द केजरीवाल ने दी BJP को चुनौती कहा- दम है तो समय पर MCD चुनाव कराओ और आप पार्टी से जीत कर दिखाओ, छोड़ दुंगा राजनीति

हालाँकि, पुलिस का कहना है कि घटना की जांच शुरू कर दी गयी है।

News
More stories
ट्रेड यूनियन की 28-29 मार्च को देशव्यापी हड़ताल, क्यों कर रहें केंद्र की योजनाओं का विरोध ?
%d bloggers like this: