Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

Russia-Ukraine War: ज़ेलेंस्की के शान्ति प्रस्ताव पर बोले पुतिन, मैं यूक्रेनियों को बर्बाद कर दूंगा: रिपोर्ट

30 Mar, 2022
Employee
Share on :

रूस के व्यवसायी रोमन अब्रामोविच जो यूक्रेन और रूस के बीच अनौपचारिक शांति दूत के रूप में काम कर रहे हैं, तो उनको राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की तरफ से कहा गया है कि वे यूक्रेनियन को कुचल देंगे.

नई दिल्ली: एक रिपोर्ट के मुताबिक रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा है कि वो यूक्रेनियन को ‘कुचल’ देंगे. दरअसल रूस के व्यवसायी रोमन अब्रामोविच  जो यूक्रेन और रूस के बीच अनौपचारिक शांति दूत के रूप में काम कर रहे हैं. तो, उन्हें राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की ओर से कहा गया है कि वे यूक्रेनियन को कुचल देंगे. द टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, हाथ से लिखे पत्र में युद्ध को समाप्त करने के लिए यूक्रेन की शर्तों का विवरण दिया गया है.

यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोदिमिर ज़ेलेंस्की और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन

और यह भी पढ़ें- युद्ध के दौरान रूस पर लगे प्रतिबन्ध के बीच रूस भारत को बेचेगा सस्ता तेल, क्या भारत में हो सकते हैं पेट्रोल-डीजल के दाम कम ?

इससे पहले भी, स्वीकृत रोमन अब्रामोविच ने 24 फरवरी को शुरू हुए युद्ध को समाप्त करने के लिए वार्ता में मदद करने के लिए यूक्रेन के अनुरोध को स्वीकार कर लिया था. लेकिन इससे पहले भी यूक्रेन और रूस के बीच में कई दौर की बातचीत हुई थी जिसमें सबसे पहली रूस और यूक्रेन के बीच आमने-सामने की बातचीत मंगलवार को तुर्की में होने वाली है.

रूस और यूक्रेन के बीच अनौपचारिक शांति दूत के रूप में बात करने वाले रोमन अब्रामोविच

रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, यूक्रेन का शीर्ष उद्देश्य युद्धविराम को सुरक्षित करना है, यूक्रेन के विदेश मंत्री दिमित्रो कुलेबा ने कहा, न्यूनतम कार्यक्रम मानवीय प्रश्न होंगे और अधिकतम कार्यक्रम युद्धविराम पर एक समझौते पर पहुंचना होगा. उन्होंने कहा, “हम लोग, जमीन या संप्रभुता का व्यापार नहीं कर रहे हैं.

अभी फिलहाल यूक्रेन की  जमीन पर स्थिति काफी तनावपूर्ण बनी हुई है. जैसे-जैसे युद्ध काफी गंभीर स्थिति में पहुँचता जा रहा है वैसे-वैसे रूस के हमले और तेज हो गए हैं और रूस से सैनिकों ने मारियूपोल को यूक्रेन के संपर्क से पूरी तरह काट दिया है. कुछ दिन पहले ही जेलेंस्की कह चुके हैं कि मारियूपोल पर वापस कब्जा करना मुमकिन नहीं है. ऐसे में रूस की कार्रवाई ने यूक्रेन को भी काफी कमजोर कर दिया है. लेकिन अभी तक के लिए तसल्ली की बात यह है कि इस भीषण युद्ध में यूक्रेन का सबसे बड़ा किला ‘कीव’ बचा हुआ है. रूसी सेना ने कीव को चारों तरफ से घेर जरूर लिया है, लेकिन अभी तक उस पर कब्जा नहीं हो कर पाया है.

रूस-यूक्रेन युद्ध के बीच मरियापुल शहर की तस्वीर

रूस की तरफ से हमले तेज होने का सबसे बड़ा कारण यह भी है कि वह 32 दिन के युद्ध के बाद भी कीव पर पूर्ण रूप से कब्ज़ा नहीं कर पाया है हालंकि रूसी सैनिकों ने कीव को चारों तरफ से जकड़ रखा है उसके इशारे के बिना कोई कीव से निकल भी नहीं सकता है. इसलिए अब रूस कीव को हासिल करने के लिए सैन्य कार्रवाई में तेजी ला रहा है. अब कुछ दिनों से रूस बहुत आक्रमक नजर आ रहा है, लेकिन यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की भी जंग का मैदान छोड़ने को तैयार नहीं हैं. उनकी तरफ से बातचीत का प्रस्ताव हर बार रखा गया है, लेकिन वे साथ ही ये भी कह रहे हैं कि अपनी एक इंच जमीन भी किसी को नहीं देने वाले हैं. जेलेंस्की के इसी रुख से पुतिन बहुत नाराज है और अब उसी नाराजगी ने यूक्रेन के लिए रूस के राष्ट्रपति पुतिन की तरफ से ये खुली धमकी दिलवा दी है.

News
More stories
हर राज्य सरकार,स्थानीय निकाय और पंचायत हर जिले में 75 अमृत सरोवर के लिए काम करें : PM मोदी