Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

भारत-जापान 14 वां शिखर सम्मलेन: जापान के प्रधानमंत्री किशिदा ने यूक्रेन हमले पर क्या कहा ?

20 Mar, 2022
Employee
Share on :

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को अपने जापानी समकक्ष फुमियो किशिदा से मुलाकात की और दोनों राष्ट्रप्रमुखों के मध्य आर्थिक, कारोबारी और ऊर्जा क्षेत्र सहित द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत बनाने को लेकर सार्थक बातचीत हुई.

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री मोदी और जापानी पीएम किशिदा ने यूक्रेन में परमाणु सुविधाओं पार जोर दिया और कहा की इस युद्ध का हल बातचीत के माध्यम से होना चाहिए. अगर ये युद्ध और ज्यादा दिन तक चला तो इसके परिणाम बहुत घातक हो सकते हैं.

भारत-जापान का 14 वां शिखर सम्मलेन

और यह भी पढ़ें- एनसीडब्ल्यू ने राजनीति में महिलाओं के लिए अखिल भारतीय क्षमता निर्माण कार्यक्रम ‘शी इज ए चेंजमेकर’ किया शुरू


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को अपने जापानी समकक्ष फुमियो किशिदा से मुलाकात की. किशिदा दो दिवसीय दौरे पर आज भारत पहुंचे. दोनों राष्ट्रप्रमुखों के मध्य आर्थिक, कारोबारी और ऊर्जा क्षेत्र सहित द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत बनाने को लेकर सार्थक बातचीत हुई. जापान के प्रधानमंत्री की भारत यात्रा पर विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने कहा कि मजबूत राजनीतिक इच्छाशक्ति से प्रेरित होकर भारत-जापान साझेदारी ने महत्वपूर्ण प्रगति की है. भारत और जापान इसी लक्ष्य को आगे बढ़ाते रहे तो ये प्रगति के मामले में कई देशों को पीछे छोड़ जायेंगे लेकिन हमें आर्थिक मामलों में तो विशेष ध्यान देना ही है साथ ही हमें विश्व शान्ति पर भी जोर देना चाहिए. अगर विश्व में शांति स्थापित होगी तो व्यापार की सीमाएं बढ़ेंगी.

जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा और भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मुलाक़ात करते हुए


दोनों देशों के प्रधानमंत्री ने इस 14 वें शिखर सम्मलेन में क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर विस्तार से चर्चा की. और आज जब दुनिया महामारी के दौर से गुजर रही है तो वही उसकी अर्थव्यवस्था भी काफी नाजुक स्थिति में पहुँच गई है इसी सभी समस्यओं को देखते हुए जापान और भारत के प्रधानमन्त्री ने तीन क्षेत्रों में संधि की है जो कि साइबर सुरक्षा पर सहयोग का एक ज्ञापन, सतत विकास के क्षेत्र में सहयोग का एक ज्ञापन और अपशिष्ट जल प्रबंधन पर सहयोग का एक ज्ञापन.’ उन्होंने बताया कि पीएम मोदी और किशिदा ने आज यूक्रेन पर भी अपने दृष्टिकोण का आदान-प्रदान किया. दोनों ने यूक्रेन में जारी संघर्ष और मानवीय संकट पर गंभीरता व्यक्त की.


वहीं दूसरी ओर भारत ने अलग से जारी बयान में कहा कि क्वाड हिन्द प्रशांत महासागर में शांति, स्थिरता और समृद्धता को सुनिश्चित करने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए. क्वाड गठबंधन के तीन सदस्यों जापान, ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका से इतर भारत ने रूस की सैन्य कार्रवाई के खिलाफ आए तीन प्रस्ताव के दौरान मतदान नहीं किया है. रूस ने भारत के स्वतंत्र और संतुलित रुख की प्रशंसा की है, जब नई दिल्ली संयुक्त राष्ट्र में आए प्रस्ताव के दौरान गैर हाजिर रहा.

जापान के प्रधानमंत्री किशिदा और भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आपसी बातचीत को आगे बढ़ाते हुए


जापान के प्रधानमंत्री शनिवार से भारत के दो दिन दौरे पर आये हैं इसी दौरे पर दोनों देशों के बीच कई समझौते हुए हैं इसी समझौते के बीच में जापान ने कहा की वह भारत में आने वाले पांच सालों में 42 अरब डॉलर निवेश करेगा.

News
More stories
Hijab ban: कर्नाटक के मुख्य न्यायाधीश को मिली जान से मारने की धमकी