Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

पंजाब: पटियाला में शिवसेना की रैली के दौरान दो गुटों में झड़प

30 Apr, 2022
Employee
Share on :

शिवसेना के प्रमुख हरीश सिंगला का कहना है कि शिवसेना कभी भी पंजाब में खालिस्तानी गुट नहीं बनने देगी.

पटियाला: पंजाब के पटियाला में काली देवी मंदिर के पास शुक्रवार को दो गुटों में झड़प हो गई. यह घटना उस समय हुई जब शिवसेना पंजाब शिवसेना के कार्यकारी अध्यक्ष हरीश सिंगला की देखरेख में खालिस्तानी समूहों के खिलाफ पटियाला में मार्च निकाल रही थी।

हालाँकि, कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए मौके पर पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है। पटियाला डीएसपी ने बताया की वहां की कानून-व्यवस्था की समस्या को देखते हुए, पुलिस को तैनात किया गया है और दोनो समूहों में से एक, शिवसेना के प्रमुख हरीश सिंगला के साथ बात कर रहे हैं क्योंकि उनके पास मार्च करने की कोई अनुमति नहीं है. वहीं हरीश सिंगला का कहना है कि शिवसेना कभी भी पंजाब में खालिस्तानी गुट नहीं बनने देगी.

दरअसल, रैली के दौरान एक सिख संगठन और एक हिंदू संगठन के सदस्य आपस में भिड़ गए। भीड़ में से कई लोगों ने नारेबाजी भी की, जिससे इलाके में तनाव बढ़ गया। शिवसैनिकों ने “खालिस्तान मुर्दाबाद” के नारे लगाए, जिसके बाद सिख संगठनों के कुछ सदस्य तलवारें लहराते हुए सड़कों पर उतर आए। इसके बाद दोनों समूहों ने पथराव शुरू कर दिया जिससे स्थिति तनावपूर्ण हो गई।

इसे भी पढ़ेंDelhi riots: UAPA मामले में उमर खालिद की जमानत खारिज

इनसब के बिच, विपक्षी दलों ने राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति को लेकर भगवंत मान के नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी (आप) सरकार पर सवाल उठाया। वहीं, पटियाला के उपायुक्त साक्षी साहनी ने शांति का आह्वान किया और लोगों से “निराधार समाचारों का शिकार न होने” का आग्रह किया है। साक्षी साहनी ने कहा, मौजूदा स्थिति नियंत्रण में है और लगातार निगरानी की जा रही है। सभी से अनुरोध है कि वे निराधार समाचारों / सोशल मीडिया के आगे न झुकें और अपने-अपने घरों पर लौट आएं।”

विवाद को हल करने के लिए दोनों समूहों के बीच बातचीत का आह्वान करते हुए साक्षी साहनी ने कहा, “शांति और सद्भाव हमारे सभी धर्मों और उनके मूल लोकाचार के केंद्र में हैं। भले ही कोई विवाद या गलतफहमी हो, इसे बातचीत से हल करना महत्वपूर्ण है।”

वहीं, भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने हवाई फायरिंग भी की और माना जा रहा है कि झड़पों में कम से कम दो लोग घायल हुए हैं।

News
More stories
शाहीन बाग में अवैध अतिक्रमण के खिलाफ चल सकता है बुलडोजर