Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

सफदरजंग हॉस्पिटल के बाहर सड़क पर महिला बच्चे को जन्म देने पर मजबूर, गर्भपती महिला को भर्ती न करने का अरोप

19 Jul, 2022
Head office
Share on :
सफदरजंग हॉस्पिटल वायरल वीडियो

सफदरजंग अस्पताल के परिसर में ही एक महिला अपने बच्चे को जन्म देने के लिए मजबूर हो गई. बताया जा रहा है कि गर्भवती महिला को हॉस्पिटल में एडमिट नहीं किया गया था.

नई दिल्ली: आज सुबह करीब 9 बजे यूपी से आई 30 वर्षीय महिला ने सफदरजंग अस्पताल परिसर में लेबर रूम के बाहर ही मजबूर होकर बच्चे को जन्म दिया. हॉस्पिटल के बाहर सड़क किनारे कुछ महिलाएं आगे आईं और उन्होंने खुद अपने दुपट्टों और साड़ियों को हाथ में पकड़कर पर्दा बनाया और महिला की स्तिथि को संभाला। इस दौरान वहां दर्जनों लोगो की भीड़ मौजूद थी.

इस दौरान मौके पर मौजूद अन्य महिला ने बताया कि महिला और उसका परिवार रात से ही अस्पताल के चक्कर काट रहा था. लेकिन डॉक्टरों ने एडमिट करने से इनकार दिया था.

बताया जा रहा है कि इस मौके पर महिला की जेठानी सुमन भी वहीं मौजूद थीं. उन्होंने आरोप लगाया कि सोमवार रात को अपनी भाभी को लेकर अस्पताल आयें लकिन डोक्टरों ने एडमिट नहीं किया और टालते हुए कहा कि अभी दर्द नहीं है तो कभी कहा कि नर्स नहीं है और उनको लेबर रूम के अंदर नहीं लिया. इस पूरी मामले की एक वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रही है.

उनमे से एक महिला, जिनका नाम राबिय सिंह है, ने बताया कि वे इस मामले को अस्पताल के अधिकारियों के पास लेकर जाना चाहती थीं लेकिन वहां मौजूद गार्ड्स ने उन्हें घेर लिया और आगे जाने नहीं दिया. बड़ी मशक्कतों के बाद वह उनसे बात कर पायीं. तब तक कुछ महिलाओं ने सब सँभालते हुए बाहर ही बचे की डिलीवरी करवाई. इस चीख पुकार के बीच एक नर्स बाहर दौड़ कर आई और वहां जन्मे नवजात को लेकर अंदर चली गयी.

इन्टरनेट पर वीडियो वायरल होने के बाद इस पूरे मामले पर अस्पताल प्रशासन ने अपनी सफाई में कहा कि बच्चे को नर्सरी में रखा गया और उसकी मां भी भर्ती है, अब दोनों बिलकुल स्वस्थ हैं.

अस्पताल के बाहर खुले आसमान के नीचे महिला ने बच्चे को जन्म दिया. परिजनों का आरोप है कि उन्हें एडमिट करने की अनुमति नहीं दी गई. बच्चे का जन्म होने के बाद इस मौके की वीडियो आग की तरह सोशल मीडिया पर फ़ैल गई और यह मामला तूल पकड़ने लगा, इसके बाद अस्पताल प्रबंधन ने तत्काल जांच शुरू करवाई है. इस संबंध में दिल्ली महिला आयोग (DCW) की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने भी नोटिस जारी किया है. इस पूरे मामले पर गायनेकोलॉजी विभाग की अध्यक्ष को जांच करने के लिए कहा गया है.

News
More stories
खनन माफियाओं ने DSP को डंपर तले कुचला, ड्यूटी के दौरान DSP की मौत