Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

UP News: UP सरकार के 6 महीने पूरे, फिर क्यों है CM योगी शांत ? क्या खुद को मीडिया के सामने नहीं लाना चाहते योगी आदित्यनाथ ?

26 Sep, 2022
Employee
Share on :
up cm yogi adityanath

उत्तर प्रदेश सरकार के 6 महीने पूरे हो गए हैं, लेकिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खुद को मीडिया की सुर्खियों से दूर रखा है. योगी के करीबी और जानकार बताते हैं कि इस बार मुख्यमंत्री की रणनीति कुछ अलग है, वह अपने काम को खुद से बताने की बजाय सरकार के विभिन्न साधनों और तंत्र के जरिए लोगों तक पहुंचा रहे हैं.

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश सरकार के 6 महीने पूरे हो चुके है, लेकिन इस बार सीएम निवास लखनऊ में न कोई शोर है और न ही कोई बड़ी हलचल. इस बार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इन 6 महीने में एक नए तरीके से खुद को पेश किया. उन्होंने अभी तक किसी को भी कोई इंटरव्यू नहीं दिया है, न किसी चैनल से उनकी बातचीत हुई है. इस मामले में मुख्यमंत्री कार्यालय का कहना है कि सीएम योगी ने सिर्फ अपना ध्यान काम पर केंद्रित किया हुआ है और इस बार उनकी रणनीति अलग है. आईये बताते है आपको आखिर क्या है मामला !!

6 महीने के कार्यकाल की बात करें तो

इन 6 महीने में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने पिछले कार्यकाल के काम को आगे बढ़ाया है. लखनऊ से ज्यादा वो उत्तर प्रदेश के अलग-अलग जिलों और इलाकों मे घूमते नजर आए. इस दौरान भी सीएम योगी ने किसी भी मीडिया संस्थान से कोई बात नहीं की. यहां तक की मुख्यमंत्री बनने के तुरंत बाद भी योगी आदित्यनाथ ने इंटरव्यू देने से परहेज किया.

UP CM Yogi Adityanath

यानी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अभी तक खुद को मीडिया की सुर्खियों से दूर रखा है. योगी के करीबी और जानकार बताते हैं कि इस बार मुख्यमंत्री की रणनीति कुछ अलग है, वह अपने काम को खुद से बताने की बजाय सरकार के विभिन्न साधनों और तंत्र के जरिए लोगों तक पहुंचा रहे हैं और खुद को प्रचार से दूर रख रहे हैं.

हालांकि मुख्यमंत्री का मीडिया संभाल रहे लोगों ने 6 महीने पूरे होने पर उनकी प्रेस वार्ता अलग-अलग मीडिया संस्थानों से के साथ उनके इंटरव्यू आदि की निंग कर रखी थी, लेकिन फिलहाल सीएम योगी ने उसे भी मना कर दिया. आखिर वह कौन सी वजह है कि मुख्यमंत्री ने अपने 100 बड़े काम लिस्ट तो मीडिया तक पहुंचा दी लेकिन खुद अपने दूसरे कार्यकाल पर बोलने से परहेज कर रहे हैं ?

UP CM Yogi Adityanath

मीडिया से नहीं बात करने का फैसला मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का अपना है. कब बात करेंगे? इस पर फैसला भी वह खुद लेंगे लेकिन एक बात साफ दिखती है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कतई नहीं चाहते कि उनके किसी मुद्दे के लिए उन्हें दिल्ली दरबार की तरफ देखना पड़े और मीडिया इंटरव्यू उन्हीं में से एक मुद्दा है.

UP CM Yogi Adityanath

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जबसे मुख्यमंत्री बने हैं तभी से उन्होंने कोई इंटरव्यू नहीं नहीं दिया. सूत्रों के माने तो केंद्र के साथ कई मुद्दों पर उनकी असहमति है जो कि फिलहाल उनके मौन में समाहित है. दरअसल. योगी 2.0 के गठन में मंत्रिमंडल बनने से लेकर प्रशासनिक फेरबदल तक लखनऊ और दिल्ली दरबार के बीच एक ऐसी असहमति दिखाई दी है, जो चर्चाओं में है.

UP CM Yogi Adityanath

चाहे उप मुख्यमंत्री के नाम का चुनाव हो, डिप्टी सीएम के प्रमुख सचिवों का चयन हो, प्रशासनिक फेरबदल हो या अवनीश अवस्थी का सेवा विस्तार का मामला हो या अब ताजा मामला हटाए गए पूर्व डीजीपी मुकुल गोयल को लेकर केंद्र और राज्य सरकार के बीच छिड़ी रार हो. इन मामलों ने थोड़ी असहज स्थिति पैदा कर दी, यही वजह है कि माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ फिलहाल चुप हैं और वह कुछ बोलना नहीं चाहते.

Edited By – Deshhit News

News
More stories
Ankita Bhandari Murder Case: अंकिता की मां और पिता से मिलने पहुंचे उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत !