Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

केन्द्रीय मंत्री हरदीप पुरी ने ट्विटर पर दी जानकारी, यूक्रेन के सुमी शहर में फंसे 694 विद्यार्थियों को सुरक्षित निकाला

08 Mar, 2022
Employee
Share on :

भारतीय नागरिकों की सुरक्षित निकासी के लिए भारतीय समयानुसार दोपहर 13.30 बजे रूस संघर्षविराम की घोषणा

नई दिल्ली: अभी कुछ दिनों पहले रूस ने संघर्ष विराम की घोषणा की थी जिसके बाद रूस ने यूक्रेन में मानवीय गलियारा खोला था उस समय भारत को भी काफी राहत मिली थी और आज भी भारतीय समय के अनुसार करीब 1:30 रूस ने कहा था की वह संघर्ष विराम करेगा और मानवीय गलियारा खोलेगा और भारत ने 3:00 बजे तत्काल ही ऑपरेशन गंगा के तहत यूक्रेन के सुमी शहर से बस के माध्यम से पोल्तावा के रास्ते से 694 भारतीय विद्यार्थियों को निकाला है और इसकी जानकारी केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से दी है.

हरदीप सिंह पुरी ने भारतीय विद्यार्थियों को सुमी से निकालने की ट्विटर पर दी जानकारी

और यह भी पढ़ें- रूस और यूक्रेन के युद्ध में ट्विटर पर #ISTANDWITHPUTIN का हुआ ट्रेंड

नई दिल्ली स्थित रूसी दूतावास ने ट्वीट कर ये जानकारी दी थी कि सुमी से भारतीय नागरिकों की सुरक्षित निकासी के लिए भारतीय समयानुसार दोपहर 13.30 बजे रूस संघर्षविराम करेगा ताकि मानवीय गलियारा बनाया जा सके. रूस ने ये संघर्ष विराम का एलान इसलिए किया है क्योंकि यूक्रेन में जो स्टूडेंट्स फंसे है उन्हें वहां से निकाला जा सके रूस ने इसके लिए कीव, चर्नेहिव और मारियूपोल में फंसे लोगों को निकालने के लिए कुछ रूट तय किए हैं। साथ ही रूस ने यह भी कहा कि ये संघर्ष विराम तब तक ही रहेगा जब तक यूक्रेन इसका पालन करेगा ।

बस में सुमी से निकलते भारतीय विद्यार्थी

यूक्रेन और रूस के बीच आज युद्ध का 13 वां दिन हैं इस बीच भारत सरकार ने अपने नागरिकों को निकालने के लिए ऑपरेशन गंगा के तहत यूक्रेन से अब तक 13 हजार से ज्यादा भारतीयों को स्वदेश ला चुका है. जबकि करीब तीन हजार भारतीय यूक्रेन के पड़ोसी यूरोपीय देशों में सुरक्षित पहुंच चुके हैं सुमी सरकार की चिंता इस बात पर थी कि विद्यार्थियों को कीव से निकालने के बाद अब वह सुमी से भारतीय नागरिक और विद्यार्थियों को सुरक्षित निकाल दे. यूक्रेन और रूस के बीच युद्ध बहुत गहराता जा रहा है अब भारत सरकार को कूटनीति के माध्यम से रूस से संघर्ष विराम की घोषणा करवाकर यूक्रेन में जितने भी भारतीय नागरिक और विद्यार्थी है उन्हें निकाला जाए लेकिन ये कार्य भारत सरकार को आनन-फानन में करने की जरूरत है क्योंकि अभी तक जो सूचना भारत को मिली है उसके अनुसार युद्ध में कई भारतीय नागरिक भी मारे गये हैं अभी कुछ दिनों पहले एक एमबीबीएस विद्यार्थी नवीन को रूसी सैनिक ने गोली मारकर हत्या कर दी थी अब ऐसे में सरकार को और भी गंभीरता के साथ आपातकाल स्थिति में भारतीय लोगों को निकलना चाहिए ।

भारतीय विद्यार्थी जो अभी भी यूक्रेन में फंसे हैं

News
More stories
गोवा, पंजाब, मणिपुर और उत्तराखंड की वोटिंग हुई ख़त्म, एग्जिट पोल के बाद किसकी बनेगी सरकार ?