Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

खरगोन हिंसा में घायल हुआ 16 साल का शिवम शुक्ला अभी भी जिंदगी और मौत के बीच झूल रहा है ट्विटर पर ट्रेंड हुआ #Justiceforshivam

15 Apr, 2022
Employee
Share on :

मध्य प्रदेश के खरगोन में राम नवमी के दिन निकाले गए जुलूस में हुए पथराव में कई लोग घायल हो गए थे जिसमे एक 16 साल का लड़का भी था जो इस वक्त जिंदगी और मौत के बीच झूल रहा है। उस नाम है शिवम् शुक्ला। शिवम् शुक्ला को इस वक्त इंदौर के एक प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है. जहां उनकी हालत काफी गंभीर बनी हुई है।

बता दे की राम नवमी के दिन देश भर में कई राज्यों में जुलूस निकाला जा रहा था। उन राज्यों में एक जगह थी खरगोन जहाँ जुलूस तो निकला लेकिन उस जुलूस के साथ कुछ ऐसा जिसे देख कर शायद आपकी भी रूहं कांप उठेगी। दरअसल खरगोन में राम नवमी के अवसर पर निकले जुलूस पर विशेष समुदाय के लोगों ने पथराव करना शुरू कर दिया, जुलूस पर पत्थर से हमला किया गया, पेट्रोल बम फेंके गए और कई जगहों पर  गोलियां भी चलीं। जिसमे 16 वर्षीय शिवम शुक्ला अचानक लहुलहान होकर गिर पड़ा। जिसे इलाज के अस्पताल ले जायेगा गया। जांच में पता चला की शिवम् के सिर पर गहरा घाव हो गया है। हालांकि, उनकी सांसें चल रही थीं। फिलहाल शिवम् को इंदौर के एक प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया है। जहाँ उसकी हालत काफी गंभीर बनी हुई है. उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया है और अभी तक होश नहीं आया है।

खरगोन में रामनवमी पर हुई हिंसा को 5 दिन हो चुके है , लेकिन पीछे छूटे जख्म अब तक नहीं भरे हैं। हिंसा में गंभीर रूप से घायल हुआ शिवम अभी जिंदगी और मौत के बीच झूल रहा है।

शिवम मंदिर में पूजा करने गया था और हिंसा की चपेट में आ गया। लेकिन शिवम् के परिवार को राम नवमी पर हुई हिंसा की दौहरी मार पड़ी है क्योंकि 7 अप्रैल को शिवम की सगी बहन की शादी होनी थी, लेकिन शिवम की हालत को देखते हुए उसके ठीक होने तक (2 महीने) विवाह स्थगित कर दिया गया है। इसके अलावा परिजनों का आरोप है की बड़ी घटना होने के बाद भी किसी ने शिवम की हालत के बारे में जानकारी नहीं ली। 

वहीँ अब शिवम् को इंसाफ दिलाने की मांग ट्विटर पर उठ रही है ट्विटर पर #JUSTICEFORSHIVAM ट्रेंड कर रहा है जिसका इस्तमाल कर 47 हजार से अधिक लोग शिवम् को इंसाफ दिलाने के आवाज उठा रहे है।

हालाँकि शिवराज सरकार द्वारा दंगाई पर एक्शन लिए जा चूका है जहाँ पर कई दंगाई के घरों पर बुलडोज़र चला दिए वहीँ हिंसा के मामले में अब तक 121 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. रामनवमी जुलूस के दौरान पथराव और आगजनी की घटनाओं के बाद रविवार शाम को खरगोन शहर में कर्फ्यू लगा दिया गया था.

News
More stories
दिल्ली: अक्षरधाम मेट्रो स्टेशन की दीवार पर चढ़कर लड़की ने लगा दी छलांग, CISF-पुलिस ने ऐसे बचाई जान