Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

Sawan Shivratri 2022: सावन की शिवरात्रि आज, जानें शुभ मुहूर्त और चारों पहर की पूजन विधि

26 Jul, 2022
Employee
Share on :
maha shiv ratri 2022

इस दिन व्रत, उपवास, मंत्रजाप और रात्रि जागरण का विशेष महत्व है. महीने की हर चतुर्दशी को मास शिवरात्रि आती है, लेकिन सावन का महीना शिव जी का महीना है इसलिए सावन की शिवरात्रि का विशेष महत्व हो जाता है. इस दिन लोग कांवड़ में जल भरकर शिवलिंग पर अर्पित करते हैं. इस बार सावन की शिवरात्रि 26 जुलाई को है.

नई दिल्ली: शिवरात्रि सनातन धर्म का एक बहुत बड़ा पर्व है. ऐसा माना जाता है इस दिन शिवजी का प्राकट्य हुआ था. इसके अलावा शिवजी का विवाह भी इस दिन माना जाता है. इस महादेव की उपासना से व्यक्ति को जीवन में सम्पूर्ण सुख प्राप्त हो सकता है. इस दिन व्रत, उपवास, मंत्रजाप और रात्रि जागरण का विशेष महत्व है. महीने की हर चतुर्दशी को मास शिवरात्रि आती है, लेकिन सावन का महीना शिव जी का महीना है, इसलिए सावन की शिवरात्रि का विशेष महत्व हो जाता है. इस दिन लोग कांवड़ में भरकर शिवलिंग पर अर्पित करते हैं. इस बार सावन की शिवरात्रि 26 जुलाई को है.

कैसे करें शिवजी की उपासना?

Sawan Shivratri 2022


स्नान करके शिव पूजा का संकल्प लें. शिवजी को जल अर्पित करें. इसके बाद पंचोपचार पूजन करके शिव जी के मन्त्रों का जाप करें. रात्रि में शिव मंत्रों के अलावा रुद्राष्टक अथवा शिव स्तुति का पाठ भी कर सकते हैं. अगर चार पहर पून करते हैं तो पहले पहर में दूध, दूसरे में दही, तीसरे में घी और चौथे में शहद से पूजन करें. हर पहर में जल का प्रयोग जरूर करना चाहिए.

शिवरात्रि शुभ मुहुर्त

Sawan Shivratri 2022


हिंदू पंचांग के अनुसार, सावन माह की चतुर्दशी तिथि 26 जुलाई शाम 6 बजकर 46 मिनट से प्रारंभ  होगी. इस तिथि का समापन 27 जुलाई को रात्रि 9 बजकर 11 मिनट पर होगा. शिवरात्रि व्रत का पारण मुहूर्त 27 जुलाई की सुबह 8 बजकर 41 मिनट से लेकर दोपहर 3 बजकर 52 मिनट तक रहेगा.

चार पहर में करें महादेव की पूजा

Sawan Shivratri 2022


सुबह के वक्त स्नान करके शिव पूजा का संकल्प लें. शिव जी को जल अर्पित करें. इसके बाद पंचोपचार पूजन करके शिव जी के मन्त्रों का जाप करें. रात में शिव मंत्रों के अलावा रुद्राष्टक या शिव स्तुति का पाठ भी कर सकते हैं. अगर चार पहर पूजन करते हैं तो पहले पहर में दूध,

दूसरे पहर में दही, तीसरे पहर में घी और चौथे पहर में शहद से पूजन करें. हर पहर में जल का प्रयोग जरूर करना चाहिए.

शिवरात्रि के दिव्य उपाय

Sawan Shivratri 2022

धन की प्राप्ति के लिए प्रार्थना करें.

संतान के लिए

Sawan Shivratri 2022


शिव लिंग पर घी अर्पित करें. फिर जल की धारा अर्पित करें. इसके बाद संतान प्राप्ति के लिए प्रार्थना करें

विवाह के लिए क्या उपाय करें?

शिवलिंग पर 108 बेल पत्र अर्पित करें. हर बेल पत्र के साथ “नमः शिवाय” कहें.

News
More stories
Draupadi Murmu Painting : द्रौपदी मुर्मू बनी भारत की 15वीं राष्ट्रपति, कलाकार ने बनाई 7 फीट लंबी पेंटिंग