Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

जानिए छठ पूजा की कुछ रोमांचक बातें, आखिर व्रती महिलाएं क्यों लगाती है नाक से मांग तक सिंदूर

28 Oct, 2022
Employee
Share on :
chhath pooja 2022

छठ पूजा हर साल बहुत ही धूम धाम से मनाई जाती है। इस वर्ष इसका आरम्भ 30 अक्टूबर दिन रविवार से होगा और यह लगभग 4 दिनों तक चलता है और इन चार दिनों में महिलाएं 36 घंटे का उपवास रखती है और इसी के साथ साथ वह अपनी संतान और अपने परिवार की मंगलकामना के लिए पूजा करती हैं।

नई दिल्ली: छठ पूजा का आगमन हो चूका है और यह त्यौहार बिहारियों के लिए बड़ी हर्षौल्लास वाला पर्व भी कहलाया जाता है, यह त्योहार मुख्य रूप से पूर्वी उत्‍तर प्रदेश और बिहार में मनाया जाने वाला त्योहर है। इस चार दिन में महिलाएं नाक से मांग तक खास सिंदूर लगाती हैं जिसके पीछे बहुत सी मान्यता बताई जाती है। तो आइए जानते है क्या है इसके पीछे का कारण

chhath puja 2022

इसलिए लगाती है व्रती महिलाएं नाक से सिंदूर

हिंदू धर्म में सिंदूर सुहाग का प्रतीक होता है. वैसे तो पति की लंबी आयु के लिए महिलाएं मांग में सिंदूर लगाती हैं, लेकिन छठ पूजा के दिन नाक से लेकर मांग तक सिंदूर लगाने की प्रथा है. इस दिन महिलाएं पति की लंबी आयु की कामना के लिए मांग में नारंगी सिंदूर लगाती हैं. मान्‍यता है कि लंबा सिंदूर पति के लिए शुभ होता है. यह भी मान्‍यता है कि लंबा सिंदूर परिवार में सुख संपन्‍नता का भी प्रतीक है और इस दिन लंबा सिंदूर लगाने से घर परिवार में खुशहाली आती है.

chhath puja 2022

माना जाता है कि इस‍ दिन अगर कोई महिला नाक से सिर तक लंबा सिंदूर लगाए तो उसकी मनोकामनाएं पूरी होती हैं और पति दिर्घायु होता है. इस दिन सूर्यदेव की पूजा के साथ महिलाएं अपने पति और संतान के सुख, शांति और लंबी आयु की कामना करते हुए अर्घ्‍य देकर अपने व्रत को पूर्ण करती हैं.

नारंगी सिंदूर का महत्‍व

chhath puja 2022

शास्त्रों में ये की मान्यता है कि हनुमान जी को चढ़ने वाला सिंदूर अर्थात नारंगी सिंदूर मांग में निरंतर धारण करने वाली सुहागन परमधाम को प्राप्त होती हैं, उनको एक भी दिन विधवा होकर इस धरा धाम पर नहीं जीना पड़ता.

जानें कैसे लगाएं सिंदूर

chhath puja 2022

इस दिन सुहागिन महिलाएं सुबह स्‍नान कर सबसे पहले सिंदूर लगाती हैं. माना जाता है कि यह सिंदूर माथे से लेकर जितना लंबा होगा, उनके पति की आयु भी उतनी ही लंबी होगी. बिना नहाए कभी भी सिंदूर नहीं लगाना चाहिए. हमेशा नाक की सीध में ही सिंदूर लगाएं. कभी भी गिरा हुआ सिंदूर ना लगाएं. दूसरे का सिंदूर कभी नहीं लगाना चाहिए.

Edited By Deshhit News

News
More stories
फेक न्यूज पर बोले PM मोदी, चिंताजाहिर करते हुए कहा- बिना फैक्ट चेक किए मैसेज आगे न बढ़ाएं, क्योंकि...