Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

जोशीमठ: भूधंसाव के कहर से दो होटलों मलारी इन और माउंट व्यू को किया जा रहा है ध्वस्त।

10 Jan, 2023
komal verma
Share on :

जोशीमठ में भू-धंसाव का कारण पानी के निकासी की व्यवस्था ना होना जोशीमठ में भू-धंसाव और दरारों की एक बड़ी वजह है। जानकारी के मुताबिक, अलकनंदा नदी में हो रहा कटाव भी इसका एक बहुत बड़ा कारण है।

नई दिल्ली: जोशीमठ में भूधंसाव से कहर भरपा हुआ है। जोशीमठ को रेड जोन के चलते वहां के लोगों को तीन दिन के भीतर घर खाली करने के निर्देश तो दे ही दिए गए थे लेकिन जोशीमठ में भूधंसाव का खतरा इतना बड़ गया है कि वहां के दो होटलों को मलारी इन और माउंट व्यू को ध्वस्त करने की नौबत आ गई है। बताया जा रहा है कि सबसे पहले होटल मलारी इन और फिर माउंट व्यू को गिराया जाएगा। इसके लिए मौके पर बुलडोजर पहुंच गया है। दोनों होटलों को एक्सपर्ट टीम की देखरेख में ध्वस्त किया जाएगा।

ये भी पढ़े: गुरुग्राम के सेक्टर-49 में भीषण आग से 200 झुग्गियां जलकर राख, 150 से ज्यादा सिलेंडर फटे।

दो होटलों में से मलारी इन को आज चरणबद्ध तरीके से पहले तोड़ा जाएगा। सबसे पहले ऊपर के हिस्से को तोड़ा जाएगा। ऐसा इसलिए किया जा रहा है, क्योंकि दोनों होटल झुक गए हैं और एक-दूसरे के बेहद करीब आ गए हैं। जोशीमठ क्षेत्र के 678 मकानों में दरारें आने की पुष्टि हो चुकी है। दूसरी तरफ, जिन इलाकों में इमारतें गिराई जाएंगी, उन्हें प्रशासन ने असुरक्षित जोन घोषित कर खाली करा दिया है। एसडीआरएफ कर्मियों की मदद से लोगों के सामान को दूसरे जगह पर ले जाया जा रहा है। लोग अपने घरों को खाली करते हुए बहुत दुखी और भावुक हैं। जोशीमठ में अब तक 81 प्रभावित परिवारों का रेस्‍क्‍यू किया जा चुका है। इन सभी लोगों को सुरक्षित स्‍थानों पर बनाए गए राहत शिविरों में रखा गया है।

वहीं, जिला प्रशासन ने असुरक्षित 200 से अधिक घरों पर लाल निशान लगा दिया है। उसने इन घरों में रहने वाले लोगों को या तो अस्थायी राहत केंद्रों में या किराये के घर में जाने को कहा है। इसके लिए प्रत्येक परिवार को अगले छह महीने तक राज्य सरकार से 4000 रुपये मासिक सहायता मिलेगा।

जोशीमठ में भू-धंसाव का कारण पानी के निकासी की व्यवस्था ना होना जोशीमठ में भू-धंसाव और दरारों की एक बड़ी वजह है। जानकारी के मुताबिक, अलकनंदा नदी में हो रहा कटाव भी इसका एक बहुत बड़ा कारण है। बता दें जोशीमठ में भूधंसाव की चेतावनी 50 साल पहले ही वैज्ञानिक एक्सपर्ट द्वारा दे दी गई थी।


Bhudhansav in joshimath
deshhit newsJoshimathJoshimath latest NewsJoshimath mai bhudhansav ka kaharJoshimath mai Bhudhansav ke chalte do hotel ko kiya jayega dhuastJoshimath mai Bhudhansav se 3000 parivaar prabhavitJoshimath mai mlari in hotel ko kiya ja raha hai dhuastJoshimath mai mlari in hotel ko kiya jayega dhuastJoshimath mai mount view hotel ko kiya ja raha dhuastJoshimath mai mount view hotel ko kiya ja raha hai dhuastJoshimath NewsJoshimath Updated News

Edit By Deshhit News

News
More stories
Pathaan Trailer Out: 'खत्म हुआ 'पठान' का वनवास',हवाई एक्शन ने किया इम्प्रेस, टेरर अटैक से देश को बचाने निकले Shah Rukh Khan