Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

जहांगीरपुरी हिंसा: पांच पर NSA के तहत मामला दर्ज; कुल 14 गिरफ्तार

22 Apr, 2022
Employee
Share on :
हिंसा के पीछे कथित मुख्य साजिशकर्ता अंसार और सोनू जिसे हिंसा के दौरान एक वीडियो में फायरिंग करते देखा गया

हिंसा के पीछे कथित मुख्य साजिशकर्ता अंसार और सोनू जिसे हिंसा के दौरान एक वीडियो में फायरिंग करते देखा गया

नई दिल्ली: एनएसए के तहत जिन लोगों पर मामला दर्ज किया गया है, उनमें हिंसा के पीछे कथित मुख्य साजिशकर्ता अंसार और सोनू जिसे हिंसा के दौरान एक वीडियो में फायरिंग करते देखा गया था तथा अन्य तीन सलीम, दिलशाद और अहीर हैं जिनपर हिंसा में मुख्या आरोपी पाये जाने के बाद एनएसए के तहत पांचो पर मामला दर्ज हुआ है।

जहांगीरपुरी/ दिल्ली
राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम क्या है?
राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम, 1980 जिसे आमतौर पर एनएसए के रूप में जाना जाता है, एक ऐसा अधिनियम है जो सरकार को किसी व्यक्ति को हिरासत में लेने का अधिकार देता है यदि अधिकारी संतुष्ट हैं कि वह राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा है या उसे सार्वजनिक व्यवस्था को बाधित करने से रोकता है।
पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने 23 सितंबर 1980 को राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लाया था।

जहांगीरपुरी हिंसा के आरोपी
पुलिस ने मंगलवार को कहा कि जहांगीरपुरी हिंसा के एक आरोपी को कथित तौर पर पिस्तौल की आपूर्ति करने के आरोप में "गुल्ली" नाम के एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। मामले में गुल्ली के अलावा दिलशाद को भी गिरफ्तार किया गया है। ये दोनों जहांगीरपुरी के रहने वाले हैं।
पुलिस के अनुसार, संघर्ष के सिलसिले में 25 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और दो किशोरों को गिरफ्तार किया गया है। यह पूछे जाने पर कि क्या किसी आरोपी का संबंध पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) से है, एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि जांच प्रारंभिक चरण में है और सभी कोणों से जांच की जा रही है। पुलिस ने मंगलवार को कहा कि जहांगीरपुरी हिंसा के एक आरोपी को कथित तौर पर पिस्तौल की आपूर्ति करने के आरोप में "गुल्ली" नाम के एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। मामले में गुल्ली के अलावा दिलशाद को भी गिरफ्तार किया गया है। ये दोनों जहांगीरपुरी के रहने वाले हैं।
NSA / राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम

पुलिस के अनुसार, संघर्ष के सिलसिले में 25 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और दो किशोरों को गिरफ्तार किया गया है। यह पूछे जाने पर कि क्या किसी आरोपी का संबंध पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) से है, एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि जांच प्रारंभिक चरण में है और सभी कोणों से जांच की जा रही है।

ये भी पढ़ें: Alwar: राजस्थान के अलवर में चला बुलडोजर, विकास के नाम पर तोड़े 300 साल पुराने तीन मंदिर

पुलिस कर रही जांच

“जांच अपने प्रारंभिक चरण में है और यदि पीएफआई के साथ कोई संबंध है या यदि यह किसी आपराधिक साजिश का हिस्सा था या यह एक पूर्व नियोजित कार्य था, तो दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा इकाई सभी कोणों से मामले की जांच कर रही है। जांच टीमों द्वारा विस्तृत और गहन जांच की जा रही है।” जहांगीरपुरी हिंसा के कई कथित वीडियो सामने आए हैं, जिनका विश्लेषण अपराध शाखा की टीम द्वारा और अपराधियों की पहचान करने के लिए किया जा रहा है। ऐसे ही एक कथित वीडियो में जुलूस के पीछे से कई लोगों को आते देखा गया। उनमें से कुछ को तलवारें लहराते हुए भी देखा गया।

News
More stories
EARTH DAY 200: Google ने विश्व पृथ्वी दिवस 2022 को टाइम-लैप्स डूडल के साथ मनाया