Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

Jahangirpuri Violence: जहांगीरपुरी में अतिक्रमण हटाने पर रुकी कार्रवाई, सुप्रीम कोर्ट ने कहा- जैसी स्थिति है उसे बना कर रखें

20 Apr, 2022
Employee
Share on :
Delhi jahangirpuri Hinsa

Jahangirpuri Violence Live Updates: जहांगीरपुरी हिंसा में एमसीडी के बुलडोजर ने अवैध निर्माण को तोड़ना शुरू कर दिया है. H-ब्लॉक से कई झुग्गियां हटा दी गईं हैं. मौके पर भारी फोर्स तैनात है.

दिल्ली CJI- यथास्थिति बरकरार रखी जाए

जमीयत-उलेमा-ए-हिंद देश के कई राज्यों में चल रहे बुलडोज़र एक्शन के खिलाफ अपनी याचिका पर जल्द सुनवाई की मांग आज सुप्रीम कोर्ट में रख सकता है. यह प्रस्ताव चीफ जस्टिस की अध्यक्षता वाली बेंच के सामने भी रखा जा सकता है. दिल्ली के जहांगीरपुरी में होने जा रही कार्रवाई का मसला भी उठाया जा सकता है. दुष्यंत दवे ने कोर्ट से कहा है कि अवैध तरीके से कार्रवाई हो रही है और इन्हें नोटिस भी नहीं दिया गया.

दिल्ली के जहांगीरपुरी में हुनमान जयंती के मौके पर हुई हिंसा में दिल्ली पुलिस की जांच तेजी से चल रही है. दिल्ली पुलिस अभी तक इस मामले में 23 लोगों को अरेस्ट कर चुकी है. यही नहीं सूत्रों के मुताबिक पुलिस को 30 फोन नंबर भी मिले हैं जो जहांगीरपुरी  हिंसा का पूरा सच खोलेंगे. ये 30 फोन नंबर अंसार, सोनू और एक नाबालिग आरोपी से जुड़े हैं. क्राइम ब्रांच की टीम अंसार, असलम और सोनू के भी घटना वाले दिन की लोकेशन से लेकर कॉल डिटेल रिकॉर्ड को खंगालने में जुटी है.

वहीं एमसडी आज इस इलाके में अवैध निर्माण गिराने की कार्रवाई कर चूकी है. इसे लेकर इलाके में तनाव है. जहांगीरपुरी, कुशल सिनेमा चैराहे के सामने सीडी पार्क झुग्गी के बाहर अवैध कब्ज़ा है. एमसीडी इन्हें ही हटाएगी. सुबह लोगों को जैसे ही पता चला कि आज ये अवैध निर्माण हटाए जाएंगे तो अफरा-तफरी मच गई. सभी लोगों ने वहां से अपना सामान हटाना शुरू कर दिया है. लोगों का कहना है कि हमारी रोज़ी रोटी है, लेकिन मजबूरी में हमें यहां से सबकुछ हटाना पड़ रहा है.

दंगाइयों के अवैध निर्माण ढहाने के लिए लिखी चिट्ठी

इस बीच, बीजेपी की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने मंगलवार को एनडीएमसी के महापौर को पत्र लिखकर जहांगीरपुरी में ‘दंगाइयों’ के अवैध निर्माणों का पता लगाकर इन्हें बुलडोजर से ध्वस्त करने को कहा है। इस पत्र की प्रति निगम के आयुक्त को भी भेजी गई है। मध्य प्रदेश में पिछले दिनों खरगोन हिंसा के बाद शिवराज सरकार ने इसी तर्ज पर कार्रवाई की थी।.

पुलिस को एमसीडी की चिट्ठी में क्या-क्या कहा आईये आपको बताता है.

एनडीएमसी ने उत्तर पश्चिमी पुलिस उपायुक्त को लिखे पत्र में कहा कि एक विशेष संयुक्त अतिक्रमण-रोधी कार्यक्रम जहांगीरपुरी में निर्धारित है। एनडीएमसी सिविल लाइंस जोन के सहायक आयुक्त ने डीसीपी को लिखे पत्र में कहा, ‘आप (पुलिस) से 20 अप्रैल या 21 अप्रैल को (सुबह 9.30 बजे से) अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई के दौरान कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए महिला पुलिस/बाहरी बल सहित कम से कम 400 पुलिसकर्मियों को उपलब्ध कराने का अनुरोध किया जाता है।’

एनडीएमसी ने अभियान के संबंध में कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए दिल्ली पुलिस से कम से कम 400 कर्मियों की तैनाती करने को कहा है। बुधवार सुबह जहांगीरपुरी में हलचल भी शुरू हो गई है। इलाके में बड़ी तादाद में सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है। मेयर इकबाल सिंह के मुताबिक टीम ठीक दस बजे पहुंच गयी थी।

बुलडोजर आने से पहले ही अवैध निर्माण करने वाले लोगों ने अपना सामान हटाना शुरू कर दिया है। नॉर्थ एमसीडी के सूत्रों के मुताबिक एमसीडी अपनी कार्रवाई करीब 10 बजे शुरू कर दी थी।

जहांगीरपुरी में बुलडोजर आने से पहले सामान हटा रहे एक शख्स ने न्यूज एजेंसी एएनआई को बताया कि अधिकतर लोग कबाड़ का काम करते हैं। बुलडोजर अभियान की खबर के बाद वह अब इसे वहां से हटा रहे हैं।

ओवैसी का केजरीवाल से सवाल

क्या जहांगीरपुरी के लोगों ने इसलिए दिया वोट?

इस बीच ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन के चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने एमसीडी की कार्रवाई पर सवाल उठाए हैं। ओवैसी ने बीजेपी को घेरते हुए कहा  वह गरीबों के खिलाफ मुहिम चला रही है। कब्जे हटाने के नाम पर यूपी और एमपी में गरीबों के घर तोड़े जा रहे हैं। उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की चुप्पी पर सवाल उठाए हैं। ओवैसी ने ट्वीट में लिखा है कि क्या उनकी सरकार का लोक निर्माण विभाग भी इस अभियान का हिस्सा है। उन्होंने कहा कि क्या जहांगीरपुरी के लोगों ने इस कायरता के लिए उन्हें वोट दिया था। केजरीवाल का यह बहाना नहीं चलेगा कि पुलिस हमारे कंट्रोल में नहीं है।

जहांगीरपुरी में अतिक्रमण हटाने के लिए 7 जेसीबी मशीनें और एमसीडी का पर्याप्त स्टाफ भेजा गया है। हम अवैध निर्माण को हटाएंगे और कानून के मुताबिक कार्रवाई करेंगे

स्पेशल कमिश्नर (लॉ एंड ऑर्डर) दीपेंद्र पाठक ने कहा कि एमसीडी का जो भी एनक्रोचमेंट ड्राइव होगा, हम उसमें सहायता करेंगे। हमारा रोल कानून व्यवस्था मेंटेन करना और उसके अनुसार पर्याप्त फोर्स मुहैया कराने का है। हमने आज इस ड्राइव को देखते हुए पर्याप्त इंतजाम किए हैं। हमारी पुख्ता तैयारी है। स्पेशल सीपी दीपेंद्र पाठक, जॉइंट सीपी विवेक किशोर और डीसीपी ऊषा रंगनानी मौके पर पहुंचे, इलाके की घेराबंदी तेज।

अतिक्रमण हटाने पहुंच गया बुलडोजर

जहांगीरपुरी में सड़क किनारे अतिक्रमण को हटाया जा रहा है। नगर निगम का पूरा दस्ता इलाके में पहुंच गया है। बुलडोजर आने से पहले ही लोगों ने अपना समान हटाना शुरू कर दिया है। इलाके में भारी संख्या में पुलिसबल तैनात हैं। चप्पे-चप्पे पर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी मौके पर कैंप कर रहे हैं।

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह का भी बयान आया सामनें

कानून हिंदू और मुसलमान देखकर कार्रवाई नहीं करता है। जहांगीरपुरी में एमसीडी के बुलडोजर कार्रवाई की तारीफ की जानी चाहिए। जिन्ना के डीएनए वाले असदुद्दीन ओवैसी को हर कारवाई में हिंदू- मुसलमान ही दिखता है।

जहां से हुआ था पथराव, उसी के बगल में हटाया जा रहा है अतिक्रमण

एमसीडी का बुलडोजर दस्ता हनुमान जयंती के दिन जिस जगह से पथराव हुआ था, उसी के बगल में बने अवैध निर्माण को हटा रहे हैं। जहांगीरपुरी में इस वक्त भारी संख्या में पुलिस के जवान तैनात हैं। अवैध निर्माण को हटाने के लिए 20-21 अप्रैल को एमसीडी का अभियान चल रहा है। सड़क किनारे पड़े समान हटाए जा रहे हैं। एमसीडी के 9 बुलडोजर इस कार्रवाई में लगे हुए हैं।

उत्तर दिल्ली नगर निगम के जहांगीरपुरी में चलाए जा रहे अतिक्रमण हटाओ अभियान पर यथास्थिति बनाए रखा जाए। मामले पर कल होगी सुनवाई

News
More stories
Uttarakhand: सीएम धामी ने सचिवालय के सभी अधिकारियों को दिए निर्देश, कहा आपदा प्रबंधन की करें पूरी तैयारी