Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

भारत की महान विरासत योग को अपने दैनिक जीवन का हिस्सा बनायें: डॉ राम करन सिंह

24 Jun, 2022
Head office
Share on :

देहरादून : अंतररष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर देहरादून स्थित इक्फ़ाई विश्वविद्यालय के सभागार में विश्वविद्यालय के प्राधिकारी एवं प्रोफेसरों सहित सैकड़ों की संख्या में लोगों ने योग एवं प्राणयाम किया। विदित हो कि 21 जून को वैश्विक स्तर पर योग दिवस मनाया गया है भारत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आवाहन पर योग दिवस मनाने की शुरुआत एक मिशन के तौर पर हुई है। इक्फ़ाई विश्वविद्यालय ने भी योग को आम जीवन का एक हिस्सा बनाने के उद्देश्य के साथ विश्वविद्यालय परिसर में योग दिवस मनाया जिसके तहत आर्ट ऑफ़ लिविंग फाउंडेशन के सहयोग से विभिन यौगिक क्रियायों एवं प्राणायाम का अभ्यास किया गया।

कार्यक्रम की शुरुआत विश्वविद्यालय के वाईस चांसलर प्रोफेसर डॉ राम करन सिंह के द्वारा दीप प्रज्वलन के साथ हुई जिसमें बतौर अतिथि एवं ट्रेनर आर्ट ऑफ़ लिविंग फाउंडेशन से मालविका सेन, नंदिता, नितिन शर्मा एवं नितिन जैन को आमंत्रित किया गया। कार्यक्रम के आरम्भ में विश्वविद्यालय के वाईस चांसलर प्रोफेसर डॉ राम करन सिंह ने सम्बोधित करते हुए कहा कि योग के द्वारा न सिर्फ शरीर को स्वस्थ बनाया जा सकता है बल्कि जीवन को अनुशासित बनाये रखने के लिए भी योग आवश्यक है। डॉ सिंह ने योग को भारत की महान सांस्कृतिक विरासत बताते हुए इसे अपने जीवन का अहम् हिस्सा बनाने का आवाहन भी किया।

पढ़ें ;- गुजरात दंगा: PM मोदी को मिली क्लीन चिट बरकरार, जाकिया जाफरी की SC ने ख़ारिज की याचिका, जानें पूरा मामला

इस अवसर पर आर्ट ऑफ़ लिविंग फाउंडेशन से आमंत्रित ट्रेनर नितिन शर्मा ने सभागार में उपस्थित विश्वविद्यालय के प्राधिकारियों, कर्मचारियों एवं छात्रों को विभिन प्रकार की यौगिक क्रियायों, प्राणायाम एवं ध्यान मुद्राओं का अभ्यास कराया। दरसल अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर इक्फ़ाई विश्वविद्यालय में योग पर कार्यशाला आयोजित करने का उद्देश्य योग दिवस को मनाने के साथ योग को लेकर जन जागरूकता करना भी था।

यह भी पढ़ें :- Delhi Fire: रोहिणी सेक्टर-5 की बिल्डिंग में लगी आग, एक युवक की मौत, आठ लोग सुरक्षित बाहर निकाले

इस कार्यक्रम को सफल बनाने में विश्वविद्यालय के कुलसचिव ब्रिगेडिएर राजीव सेठी ने भी अपना योगदान दिया। कार्यक्रम के दौरान लॉ स्कूल की सहायक डीन डॉ मोनिका खरोला, मैनेजमेंट विभाग के डीन संजीव मालवीय, डॉ पुनीत गुप्ता, तकनीकी विभाग से डॉ संजीव कुमार, अमित बेरा, अमित दास एवं निशांत माथुर भी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें ;- PM मोदी से मिले CM धामी GST क्षतिपूर्ति की अवधि बढ़ाने व राष्ट्रीय Pharmaceutical शिक्षा एवं शोध संस्थान को राज्य में शाखा स्थापित किये जाने का अनुरोध किया

News
More stories
गुजरात दंगा: PM मोदी को मिली क्लीन चिट बरकरार, जाकिया जाफरी की SC ने ख़ारिज की याचिका, जानें पूरा मामला