Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

एक बार फिर शुरू हुआ हिजाब विवाद, अलीगढ़ में छात्राओं को कॉलेज के गेट पर रोका गया

13 Mar, 2022
Employee
Share on :
aligarh hijaab vivad

शुक्रवार को श्री वार्ष्णेय डिग्री कॉलेज में एक छात्रा हिजाब पहनकर क्लास रूम में पहुंच गई. छात्रा को हिजाब में देख एक छात्र भगवा वस्त्र पहनकर क्लास में पहुंच गया. दोनों के बीच नोकझोंक हुई जिसके बाद मामला प्रोक्टोरियल टीम तक पहुंचा और छात्रा के माफी मांगने के बाद मामला शांत हो गया.

श्री वार्ष्णेय डिग्री कॉलेज

नई दिल्ली: पांच राज्यों के चुनावी नतीजों के बाद हिजाब का जिन्न एक बार फिर से जिंदा हो गया है. अलीगढ़ के श्री वार्ष्णेय डिग्री कॉलेज में हिजाब पहनकर आई छात्राओं को कॉलेज प्रशासन ने गेट पर रोक दिया और ड्रेस कोड का पालन करने को कहा. इस पर कुछ छात्राओं ने हिजाब उतारने से मना कर दिया और घर के लिए वापस लौट गईं. कॉलेज के प्राचार्य ने कहा के कॉलेज में ड्रेस कोड का पालन कराया जाएगा. अगर कोई बाहर से हिजाब पहनकर आता है तो उसे गर्ल्स रूम में चेंज करना होगा ।

हिजाब पहनकर आई छात्राएं

दरअसल, शुक्रवार को श्री वार्ष्णेय डिग्री कॉलेज में एक छात्रा हिजाब पहनकर क्लास रूम में पहुंच गई थी. छात्रा को हिजाब में देख एक छात्र भगवा वस्त्र पहनकर क्लास में पहुंच गया. दोनों के बीच नोकझोंक हुई जिसके बाद मामला प्रोक्टोरियल टीम तक पहुंचा और छात्रा के माफी मांगने के बाद मामला शांत हो गया. शनिवार को कॉलेज प्रशासन ने प्रोक्टोरियल टीम को गेट पर ही खड़ा कर दिया और हिजाब पहनकर आई छात्राओं को ड्रेस कोड का पालन कर क्लास में जाने को कहा. कुछ छात्राएं तो मान गईं लेकिन कई छात्राएं हिजाब ना उतारने की जिद पर अड़ी रहीं और वहां से वापस चली गईं.

घर वापस जाने वाली छात्राओं में से निकहत ने बताया कि वो वार्ष्णेय डिग्री कॉलेज में बीए फर्स्ट ईयर की छात्रा हैं और कॉलेज ने हिजाब की वजह से उसे बाहर लौटा दिया. दूसरी छात्रा मुस्कान ने कहा कि क्या अदब से आना गुनाह है? आखिर कॉलेज प्रशासन क्या समस्या हो रही है? आफरीन ने बताया कि सर ने कहा कि आप हिजाब को उतारो, सिर्फ इसलिए वापस जा रही हूं.

श्री वार्ष्णेय डिग्री कॉले

इधर, कॉलेज के प्राचार्य डॉक्टर अरुण कुमार ने बताया कि जहां तक हिजाब की बात है तो हमारे यहां ड्रेस कोड लागू है. बच्चियां स्कार्फ पहन कर आती हैं अपने गर्ल्स रूम में जाकर उसको चेंज कर लेती हैं, फिर क्लास करती हैं. कोई बड़ा इशू नहीं है, लेकिन ड्रेस कोड का पालन करना जरूरी है जो बच्चे ड्रेस कोड का पालन नहीं करेंगे उनको महाविद्यालय में प्रवेश नहीं देंगे. ऐसा कॉलेज में नोटिस भी लगाया जाता है. मैं दोबारा एक नोटिफिकेशन जारी करूंगा कि सभी लोग ड्रेस कोड कोड में आएं.

News
More stories
कश्मीर फाइल टीम मिली PM मोदी से, ‘बॉयकॉट कपिल शर्मा शो’ हुआ फिर ट्रेंड