Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

Grammy Award 2022: कौन हैं फाल्गुनी शाह ? जिन्हें ग्रैमी अवार्ड की जीत पर पीएम मोदी ने दी बधाई

05 Apr, 2022
Employee
Share on :

अभी हाली ही में (सोमवार) संगीत की दुनिया के सबसे पॉपुलर अवॉर्ड ‘ग्रैमी अवॉर्ड्स’ का लास वेगास में शानदान समापन हुआ है. इस अवॉर्ड शो में भारतीय मूल की गायिका फाल्गुनी शाह को “बेस्ट चिल्ड्रन म्यूजिक एल्बम” के लिए ग्रैमी अवॉर्ड से सम्मानित किया गया है.

नई दिल्ली: अभी हाली ही में (सोमवार) संगीत की दुनिया के सबसे पॉपुलर अवॉर्ड ‘ग्रैमी अवॉर्ड्स’ का लास वेगास में शानदान समापन हुआ है. इस अवॉर्ड शो में भारतीय मूल की गायिका फाल्गुनी शाह को “बेस्ट चिल्ड्रन म्यूजिक एल्बम” के लिए ग्रैमी अवॉर्ड से सम्मानित किया गया है. अवॉर्ड शो के बाद भारत के पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्विट कर फाल्गुनी शाह को बधाई दी है. पीएम के ट्वीट के बाद से ही हर कोई फाल्गुनी शाह के बारे में जानने की कोशिश कर रहा है.

फाल्गुनी शाह ने संगीत की दुनिया के सबसे पॉपुलर अवॉर्ड ‘ग्रैमी अवॉर्ड्स’ 2022 को जीता है

और यह भी पढ़ें- प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी दो दिन के गुजरात दौरे पर, आज राष्ट्रीय रक्षा विश्विद्यालय की एक इमारत को राष्ट्र को करेंगे समर्पित

कौन है फाल्गुनी शाह ?

‘फालू’ के नाम से प्रसिद्ध फाल्गुनी शाह को ग्रैमी अवार्ड्स दूसरी बार बेस्ट चिल्ड्रन म्यूजिक एल्बम कैटेगरी के लिए सम्मानित किया गया है. वह एकमात्र भारतीय मूल की महिला हैं, जिन्हें दो बार ग्रैमी अवॉर्ड्स के लिए नामांकित किया गया है. इससे पहले, फालू “बाजार” नामक उनके एल्बम को ग्रैमी अवॉर्ड्स के 2018 संस्करण में नामांकित किया गया था. हालांकि इस साल उन्होंने पहली बार गैमी अवॉर्ड जीता है.

पीएम मोदी ने ट्विट कर दी बधाई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार की सुबह अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्विट कर भारतीय मूल की अमेरिकी सिंगर फाल्गुनी शाह को ग्रैमी पुरस्कार जीतने के लिए बधाई दी. प्रधानमंत्री ने अपने ट्वीट में लिखा कि “फाल्गुनी शाह को ग्रैमी में सर्वश्रेष्ठ बच्चों के संगीत एल्बम का पुरस्कार जीतने पर बधाई. उनके भविष्य के प्रयासों के लिए उन्हें शुभकामनाएं. लॉस एंजेलिस में सोमवार को ग्रैमी अवॉर्ड्स का आयोजन किया गया. फाल्गुनी शाह ने ‘ए कलरफुल वर्ल्ड’ के लिए सर्वश्रेष्ठ बच्चों के संगीत एल्बम का पुरस्कार जीता है. श्रेणी में नामांकित अन्य लोगों में 123 एंड्रेस द्वारा सक्रिय, पियर्स फ्रीलॉन द्वारा ब्लैक टू द फ्यूचर, लकी डियाज़ द्वारा क्रेयॉन किड्स, 1 ट्राइब कलेक्टिव द्वारा ऑल वन ट्राइब और फैमिली जैम बैंड भी शामिल थे.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का ट्विट

फाल्गुनी ने इन्स्टाग्राम पर डाली भावुक पोस्ट

पीएम मोदी के ट्विट के बाद, फाल्गुनी ने अपने आधिकारिक इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक भावुक नोट लिखा. उन्होंने अपनी जीत पर खुशी जाहिर करते हुए लिखा कि “आज की खुशी का वर्णन करने के लिए मेरे पास शब्द नहीं हैं. ग्रैमी प्रीमियर समारोह के उद्घाटन के लिए प्रदर्शन करना कितना सम्मान की बात है, ये मैं महसूस कर सकती हूँ. और फिर उन्होंने आगे लिखा कि एक रंगीन दुनिया पर काम करने वाले सभी अविश्वसनीय लोगों की ओर से एक मूर्ति घर ले जाना, बहुत गर्व की बात है. हम इस जबरदस्त पहचान के लिए कृतज्ञ हैं और इस रिकॉर्डिंग प्लेटफार्म को हम धन्यवाद देते हैं.”

फाल्गुनी शाह ने अपने अधिकारिक इन्स्टाग्राम अकाउंट पर डाली भावुक पोस्ट

फाल्गुनी शाह ने जयपुर घराने से सीखा है संगीत

मुंबई में रहने वाली फालू को जयपुर घराने के संगीत परंपरा में प्रशिक्षित किया गया था. जहां वह हर दिन लगभग 15 से 16 घंटे संगीत की ट्रेनिंग लेती थीं. बाद में उन्होंने संगीतकार मास्टर उस्ताद सुल्तान खान से संगीत की शिक्षा ली. साल 2000 में संगीत की पढ़ाई के लिए फालू बोस्टन चली गई थीं. उसके बाद बोस्टन स्थित इंडो-अमेरिकन बैंड करिश्मा में फाल्गुनी शाह शामिल हो गईं और वहां पर काफी मेहनत के बाद फाल्गुनी मुख्य गायिका बन गईं.

फाल्गुनी शाह जिन्होंने अपने संगीत की शुरुआत जयपुर घराने से की थी
News
More stories
Karauli Violence: करौली हिंसा का वो जाबांज सिपाही से जिसने जान पर खेल कर बचाई मासूमों की जिंदगी