Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

गणतंत्र दिवस के मौके पर मिस्त्र के राष्ट्रपति अब्देल फतह अल सीसी आएंगे भारत।

10 Jan, 2023
komal verma
Share on :

रायसीना डायलॉग की बात करें तो यह भू-राजनीतिक एवं भू-आर्थिक मुद्दों पर चर्चा का वार्षिक मंच है। विदेश मंत्रालय और ऑब्जर्वर रिसर्च फाउंडेशन द्वारा संयुक्त रूप से इसका आयोजन किया जाता है जिसमें बहुआयामी और बहुपक्षीय वार्ता का अवसर प्राप्त होता है।

नई दिल्ली: दुनिया में भारत के बढ़ते प्रभाव के चलते मिस्त्र के राष्ट्रपति अब्देल फतह अल सीसी जनवरी में भारत आएंगे और गणतंत्र दिवस परेड में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत करेंगे। इसी के साथ आगामी कुछ महीने में दुनिया के कई राष्ट्राध्यक्ष और राजनेता भारत का दौरा करेंगे। इनमें जर्मनी के चांसलर ओलाफ शोल्ज, फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों और ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री एंथोनी अल्बानीज का नाम प्रमुख है। इन नेताओं के दौरे का उद्देश्य दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करना, ऊर्जा, व्यापार, तकनीक, रक्षा उत्पादन, हेल्थ केयर क्षेत्र में परस्पर सहयोग को बढ़ावा देना है। 

ये भी पढे: हापुड़: चार वर्ष का बालक बोरवेल में गिरा, पिछले महीने ही बोरवेल में गिरने से हुई थी 6 साल की तन्मय की मौत,तन्मय के पिता का छलका था दर्द, कहा था- “मेरा बेटा अब नहीं रहा लेकिन कुछ ऐसा करें, जिससे अब किसी के साथ ऐसा न हाे”।

चार मार्च को है ‘रायसीना डायलॉग’ का आयोजन

जी-20 देशों के विदेश मंत्री भी एक और दो मार्च को नई दिल्ली में विदेश मंत्रियों की एक अहम बैठक में शामिल होने भारत पहुंचेंगे। साथ ही दो और चार मार्च को ‘रायसीना डायलॉग’ का आयोजन होना है, जिसमें शामिल होने के लिए भी कई विदेश मंत्री भारत आएंगे। इनके अलावा नेपाल के पीएम पुष्प कुमार दहल, सऊदी अरब के युवराज और प्रधानमंत्री मोहम्मद बिन सलमान बिन अब्दुल अजीज अल सऊद भी आगामी कुछ महीनों में भारत आ सकते हैं। 

क्या है रायसीना डायलॉग ?

रायसीना डायलॉग-2022 - Latest Current Affairs for Competitive Exams

रायसीना डायलॉग की बात करें तो यह भू-राजनीतिक एवं भू-आर्थिक मुद्दों पर चर्चा का वार्षिक मंच है। विदेश मंत्रालय और ऑब्जर्वर रिसर्च फाउंडेशन द्वारा संयुक्त रूप से इसका आयोजन किया जाता है जिसमें बहुआयामी और बहुपक्षीय वार्ता का अवसर प्राप्त होता है। विभिन्न देशों के विदेश, रक्षा और वित्त मंत्री इस चर्चा में शामिल होते हैं। यह एक बहु हितधारक और बहुपक्षीय बैठक है जिसमें बहुत सारे पक्षों को सम्मिलित किया जाता है और उनसे विचार-विमर्श किया जाता है, जिसमें नीति-निर्माताओं, विभिन्न राष्ट्रों के हितधारकों, राजनेता, पत्रकार, उच्चाधिकारियों, उद्योग एवं व्यापार जगत के प्रतिनिधि शामिल होते हैं।

मार्च में हो सकता है फ्रांसीसी राष्ट्रपति का दौरा ?

फ्रांस के राष्ट्रपति चार दिवसीय दौरे पर नौ मार्च को आएंगे भारत, पीएम मोदी  से होगी द्विपक्षीय वार्ता - France President will visit India on March 9  for four days tour and
जर्मन चांसलर शोल्ज

गौरतलब है कि इन नेताओं का भारत दौरा ऐसे वक्त में हो रहा है, जब यूक्रेन युद्ध के कारण पूरी दुनिया में खाद्य और ऊर्जा सुरक्षा प्रभावित हो रही है। मिली जानकारी के अनुसार, जर्मन चांसलर शोल्ज फरवरी के अंत में भारत का दौरा कर सकते हैं। वहीं ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री मार्च में भारत आएंगे। फ्रांसीसी राष्ट्रपति का दौरा भी मार्च में हो सकता है लेकिन अभी तक उनके दौरे की तारीखें तय नहीं हुई हैं। 

जर्मनी के चांसलर ओलाफ शोल्ज की पहली भारत यात्रा

बता दें, जर्मनी के चांसलर ओलाफ शोल्ज की बतौर राष्ट्राध्यक्ष यह भारत की पहली यात्रा होगी। प्रधानमंत्री मोदी के साथ उनकी मुलाकात में हिंद प्रशांत महासागर में चीन की बढ़ती चुनौती से निपटने के लिए सहयोग बढ़ाने पर चर्चा हो सकती है। ऑस्ट्रेलिया और फ्रांस के राष्ट्राध्यक्षों के साथ भी चीन की चुनौती से निपटने के लिए सहयोग बढ़ाने पर चर्चा हो सकती है। विदेश नीति से जुड़े सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि ऑस्ट्रेलियाई पीएम के साथ बातचीत में दोनों देशों के साथ व्यापार और समुद्री सुरक्षा के लिए सहयोग बढ़ाने पर बातचीत होगी। 

इन मुद्दों पर होगी चर्चा?

फ्रांस के साथ रक्षा और रणनीतिक सहयोग बढ़ाने पर बातचीत हो सकती है। ऐसी भी खबरें हैं कि इमैनुएल मैक्रों के भारत दौरे पर भारत और फ्रांस के बीच राफेल जेट के मरीन वर्जन की खरीद पर भी बातचीत हो सकती है हालांकि अभी तक आधिकारिक तौर पर इसे लेकर कुछ नहीं कहा गया है। 

deshhit newsEgyptian President Abdel Fatah alGerman Chancellor ScholzRaisina DialogueRepublic day

Edit By Deshhit News

News
More stories
हापुड़: चार वर्ष का बालक बोरवेल में गिरा, पिछले महीने ही बोरवेल में गिरने से हुई थी 6 साल की तन्मय की मौत,तन्मय के पिता का छलका था दर्द, कहा था- "मेरा बेटा अब नहीं रहा लेकिन कुछ ऐसा करें, जिससे अब किसी के साथ ऐसा न हाे"।