Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

चीन की नापाक साजिश, हैकरों ने लद्दाख के पास भारतीय बिजली केन्द्रों को किया हैक: रिपोर्ट

07 Apr, 2022
Employee
Share on :

रिपोर्ट में कहा गया कि, हैकरों ने जानकारी निकालने के लिए एक भारतीय राष्ट्रीय आपातकालीन प्रतिक्रिया प्रणाली और एक बहुराष्ट्रीय रसद कंपनी की सहायक कंपनी से समझौता किया था.

नई दिल्ली: चीन के हैकरों ने लद्दाख के पास स्थित बिजली केंद्रों को निशाना बनाया है. निजी खुफिया फर्म रिकॉर्डेड फ्यूचर की एक रिपोर्ट में बुधवार को इस बात का खुलासा कर कहा गया है कि हाल के महीनों में हमने कम से कम सात इंडियन स्टेट लोड डिस्पैच सेंटर के संभावित नेटवर्क को टारगेट करते हुए घुसपैठ की संभावना देखी है. ये सेंटर्स ग्रिड नियंत्रण और बिजली के फैलाव के लिए रियल टाइम ऑपरेशन के लिए जिम्मेदार हैं.

निजी खुफिया फर्म रिकॉर्डेड फ्यूचर ने दावा किया है कि चीन के कुछ हैकरों ने लद्दाख के बिजली संरक्षण को हैक किया है

और यह भी पढ़ें- सोशल मीडिया बंद, श्रीलंका में विरोध प्रदर्शन के बीच कर्फ्यू

हैकर्स ने बहुराष्ट्रीय रसद कंपनी की सहायक कंपनी से समझौता किया था

रिपोर्ट में कहा गया कि, हैकरों ने जानकारी निकालने के लिए एक भारतीय राष्ट्रीय आपातकालीन प्रतिक्रिया प्रणाली और एक बहुराष्ट्रीय रसद कंपनी की सहायक कंपनी से समझौता किया था. वहीं हैकिंग के लिए हैकिंग ग्रुप ने शैडोपैड नाम के सॉफ़्टवेयर का इस्तेमाल किया, जो पहले देखा गया है कि चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी उसका इस्तमाल करती थी.

आपको आगे बताते चले कि रिकॉर्डेड फ्यूचर के सीनियर मैनेजर जोनाथन कोंद्रा का कहना है कि इंटरनेट ऑफ थिंग्स डिवाइस और कैमरों का इस्तेमाल करके घुसपैठ करना काफी आम है. वहीं इस डिवाइस का इस्तेमाल ताइवान और दक्षिण कोरिया में भी घुसपैठ के लिए की जा चुकी है.

इंटरनेट ऑफ थिंग्स डिवाइस

रिकॉर्डेड फ्यूचर ने आगे कहा कि रिपोर्ट प्रकाशित करने से पहले सरकार को अपनी जानकारी से अवगत करा  दिया था. खुफिया फर्म के अनुसार, चीनी हमलावर महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचा प्रणालियों के बारे में जानकारी इकट्ठा करने की कोशिश कर रहे थे.

भारत के विदेशमंत्री जयशंकर की चीन के विदेशमंत्री यांग से हुई मुलाकात

माना जा रहा है कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और भारत आए चीन के विदेश मंत्री ने हाल ही में लद्दाख तनाव और यूक्रेन विवाद के भू-राजनैतिक जैसे संवेदनशील मुद्दों पर चर्चा की है. दोनों देशों के बीच सौहार्दपूर्ण माहौल में बात हुई. कुछ अहम मुद्दों पर चर्चा की गई जिसमें से लद्दाख में बाकी बचे हुए इलाकों में  दोनों की सेना पीछे हेट और बॉर्डर पर एक अच्छा माहौल बनें और साथी ही द्विपक्षीय संबंधों को सामान्य स्वरूप देने के लिए बाकी बचे काम को भी खत्म करने पर जोर दिया गया है.

भारत के विदेशमंत्री एस. जयशंकर ने चीन के विदेशमंत्री वांग यी से की मुलाक़ात
News
More stories
पीएम मोदी हुए सख्त, सभी मंत्रालयों और विभागों को दिए निर्देश, तत्काल भरें खाली पद