बिहार में जहरीली शराब पीने से 24 घंटे में 12 लोगों की मौत, 6 गंभीर रुप से बीमार, सभी ने एक ही दुकान से पी थी शराब!

14 Dec, 2022
Deepa Rawat
Share on :

बता दें, अगस्त 2022 में सारण में जहरीली शराब पीने से 6 लोगों की मौत हो गई है। इससे पहले बिहार में 2021 में जहरीली शराब के 13 मामले सामने आए, जिनमें कम से कम 66 लोगों की मौत हो गई थी।

नई दिल्ली: बिहार में एक बार फिर जहरीली शराब का कहर देखने को मिला है। बिहार जिले के सारण में जहरीली शराब पीने से 24 घंटे के अंदर 12 लोगों की मौत हो गई। जबकि छह अन्य गंभीर रूप से बीमार हो गए। मिली जानकारी के मुताबिक, सभी लोगों ने सोमवार की शाम में एक जगह पर शराब पी रखी थी। इसके बाद मंगलवार के दिन से उनकी हालत बिगड़ने लगी थी। बता दें इस घटना के विरोध में आक्रोशित ग्रामीण जमकर हंगामा कर रहे हैं। गुस्साएं लोगों ने ने मसरख हनुमान चौक स्टेट हाईवे 90 पर शव को रखकर जाम कर दिया है। स्थानीय ग्रामीण जिला प्रशासन के खिलाफ भी नारेबाजी कर रहे हैं।

ये भी पढ़े: 1 घंटे पहले नवजात को डॉक्टर ने स्वस्थ बताया, कुछ देर बाद हो गई नवजात शिशु की मौत!

Poisonous liquor havoc in Gujarat 19 people died Eros company supplied  methyl batod gandhinagar - Gujarat Hooch Tragedy: शराब की जगह लोगों को बेचा  गया था मिथाइल केमिकल वाला पाउच, SIT की
File Photo

बिहार में जहरीली शराब पीने से अब तक कितने लोगों की मौत हो चुकी है?

बता दें, अगस्त 2022 में सारण में जहरीली शराब पीने से 6 लोगों की मौत हो गई थी। इससे पहले बिहार में 2021 में जहरीली शराब के 13 मामले सामने आए, जिनमें कम से कम 66 लोगों की मौत हो गई। 2021 नवंबर में गोपालगंज और पश्चिमी चंपारण में जहरीली शराब पीने से 40 लोगों की मौत हो गई थी। इससे पहले जुलाई में भी पश्चिमी चंपारण जिले में 12 लोगों की मौत हो गई थी।

भारत में जहरीली शराब पीने से मरने वालों का आंकड़ा

साल 2016 से 2022 के बीच, भारत में 6 हजार 172 लोगों की मौत अवैध और नकली शराब पीने से हुई है। सरकार द्वारा दिए गए आंकड़ों के मुताबिक, 2016 में 1054, 2017 में 1510, 2018 में 1365, 2019 में 1296 और 2020 में 947 लोगों की मौत हुई।

बिहार में कब से है शराबबंदी?

बिहार में जहरीली शराब से मरने वालों की संख्या 9 पहुंची, 17 लोगों की गई  आंखों की रोशनी
File Photo

अप्रैल 2016 में नीतीश कुमार सरकार द्वारा राज्य में शराब की बिक्री और खपत पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया गया था, पिछले साल हुए विधानसभा चुनावों से पहले मुख्यमंत्री द्वारा बिहार की महिलाओं से किए गए वादे को पूरा करते हुए।

बिहार में शराब पीने पर क्या है जुर्माना?

संशोधित मद्य निषेध अधिनियम के तहत राज्य सरकार ने धारा 37 के तहत पहली बार शराब पीकर पकड़े गए अभियुक्तों को शपथ पत्र व दो से पांच हजार रुपए जुर्माना लेकर छोड़ने का प्रावधान किया है।

शराब जहरीली कब होती है?

Know Poisonous Desi liquor Alcohol Making Process and Why it is very  dangerous for health know many other details about it | आखिर कैसे जहरीली हो  जाती है शराब... ये बनाई कैसे
File Photo

जानकारी के लिए बता दें, जब शराब में यूरिया, ऑक्सीटॉक्सिन, बेसरमबेल की पत्ती वगैरह मिलाकर फर्मेंटेशन यानी किणवन कराया जाता है, तो इन रसायनों के मिलने से शराब (एथिल एल्कोहॉल) की बजाय मेथिल एल्कोहॉल बन जाता है। यह मेथिल एल्कोहॉल ही शराब को जहरीला बनाने का कारण होता है। ये शरीर के लिए काफी खतरनाक होता है।

Edit By Deshhit News

News
More stories
1 घंटे पहले नवजात को डॉक्टर ने स्वस्थ बताया, कुछ देर बाद हो गई नवजात शिशु की मौत!
%d bloggers like this: