Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

1 घंटे पहले नवजात को डॉक्टर ने स्वस्थ बताया, कुछ देर बाद हो गई नवजात शिशु की मौत!

13 Dec, 2022
komal verma
Share on :

मंगलवार को गोरखपुर जिले के गुलरिहा थाना क्षेत्र में नवजात शिशु की मौत पर स्वजनों ने लापरवाही बताकर अस्पताल प्रशासन के विरुद्ध घंटो हंगामा किया। मौके पर गुलरिहा पुलिस पहुंचकर स्वजन को शांत कराया। तहरीर मिलने के बाद पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है।

नई दिल्ली: गोरखपुर में परिजनों के मुताबिक, डॉक्टर की लापरवाही के कारण नवजात शिशु की मौत हो गई। डॉक्टर ने शिशु को चेककर घर भेज दिया था लेकिन घर जाते समय रास्ते में ही नवजात शिशु की मौत हो गई। मृतक नवजात के परिजन ने अस्पताल पर गंभीर आरोप भी लगाए है। नवजात की मौत से परेशान परिजन ने अस्पताल पर पहुंचकर जमकर हंगामा किया।

ये भी पढ़े: प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले कांग्रेस नेता राजा पटेरिया को 14 दिन की जेल, पहले भी दे चुके कई विवादित बयान…

क्या है पूरा मामला?

गोरखपुर जिले के गुलरिहा क्षेत्र में रहने वाली कविता निषाद नाम की एक युवती हरसेवकपुर नंबर दो बजरंग धाम कालोनी स्थित बैदिक अस्पताल में भर्ती हुई। युवती ने 12 दिसंबर को एक पुत्र को जन्म दिया। डिलीवरी होने के बाद युवती को डिस्चार्ज कर दिया गया लेकिन 13 दिसंबर को शिशु की तबीयत अचानक खराब हो गई तो परिजन शिशु को लेकर अस्पताल पहुंचे। अस्पताल पहुंचने पर डॉक्टर पीएन गुप्ता घंटो देर बाद पहुंचे। डॉक्टर पीएन गुप्ता ने शिशु को चेक करके घर जाने के लिए बोल दिया लेकिन अस्पताल के कुछ दुरी ही पर पहुंचने पर नवजात शिशु की मौत हो गई और अस्पताल पहुंचने पर डॉक्टर ने भी नवजात को मृत घोषित कर दिया।

नवजात की मृत्यु डॉक्टर की लापरवाही से हुई है – मृतक शिशु के परिजन

Child Died During Treatment Family Created Ruckus In Hospital - गोरखपुर:  इलाज के दौरान बच्चे की मौत, परिजनों ने अस्पताल में किया हंगामा - Amar Ujala  Hindi News Live
File Photo

मृतक नवजात शिशु की दादी ने अस्पताल पर आरोप लगाते हुए कहा कि अस्पताल प्रशासन ने 25 हजार कैश ले लिया है। कोई रशीद नहीं दिया है। अस्पताल में कोई सुविधा नहीं है। बोर्ड पर डॉक्टर का नाम लिखा गया है लेकिन डॉक्टर अस्पताल पर आते नहीं है। नवजात शिशु की मृत्यु डॉक्टर की लापरवाही से हुई है।

स्वजनों की लापरवाही व दवा नहीं दने से नवजात की मृत्यु हुई है – बैदिक अस्पताल के संचालक

वहीं बैदिक अस्पताल के संचालक विकास ने जानकारी देते हुए बताया कि 12 दिसंबर को सुबह 12 बजे नवजात और उसकी मां को डिस्चार्ज कर दिया गया था, दोनों स्वस्थ्य थे। स्वजनों की लापरवाही व दवा नहीं देने से नवजात शिशु की मृत्यु हुई है। डॉक्टर ने बचाने की पूरी कोशिश किया है।

गुस्साएं परिजन ने अस्पताल के सामने किया जमकर हंगामा

मंगलवार को गोरखपुर जिले के गुलरिहा थाना क्षेत्र में नवजात शिशु की मौत पर स्वजनों ने लापरवाही बताकर अस्पताल प्रशासन के विरुद्ध घंटो हंगामा किया। मौके पर गुलरिहा पुलिस पहुंचकर स्वजन को शांत कराया। तहरीर मिलने के बाद पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है।

Edit By Deshhit News

News
More stories
प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले कांग्रेस नेता राजा पटेरिया को 14 दिन की जेल, पहले भी दे चुके कई विवादित बयान...