Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

आखिर लहसुन से भरी बोरियां अचानक नदी में क्यों फेंकने लगे किसान ? सामने आई बड़ी वजह

18 Aug, 2022
Employee
Share on :
madhya Pradesh Lehsoon Ko nadi main feka

मध्य प्रदेश के लहसुन किसान भाव नहीं मिलने से परेशान हैं. इस बीच, सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है. वीडियो के मुताबिक, एक पिकअप वाहन में लहसुन से भरी हुई बोरियां रखी हैं, जिसे कुछ युवकों के द्वारा पार्वती नदी में फेंका जा रहा है.

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश के सीहोर जिले के हाईवे पर पार्वती नदी में लहसुन से भरी बोरियां फेंकते हुए किसानों का एक वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है. दरअसल लहसुन का कम भाव मिलने से नाराज किसानों द्वारा पार्वती नदी में लहसुन को फेंका जा रहा है. वीडियो को सोशल मीडिया पर जमकर शेयर किया जा रहा है.

नदी में फेंकी जा रही हैं लहसुन की बोरियां

पार्वती नदी में लहसुन से भरी बोरियां फेंकते हुए किसान

भोपाल इंदौर हाईवे पर जिले की पार्वती नदी में किसानों के द्वारा लहसुन से भरी हुई बोरियों को फेंका जा रहा है.इस वीडियो पर सोशल मीडिया पर जमकर प्रतिक्रिया आ रही है. वायरल वीडियो के मुताबिक, एक पिकअप वाहन में लहसुन से भरी हुई बोरियां रखी हैं, जिसे कुछ युवकों के द्वारा नदी में फेंका जा रहा है.

पार्वती नदी में लहसुन से भरी बोरियां फेंकते हुए किसान

किसानों ने क्या कहा ?

किसान स्वराज संगठन के राष्ट्रीय महामंत्री भगवान मीणा

किसान स्वराज संगठन के राष्ट्रीय महामंत्री भगवान मीणा ने बताया कि किसानों को लहसुन और प्याज का दाम नहीं मिल रहा है. उचित दाम ना मिलने से नाराज किसान लहसुन को भोपाल इंदौर हाईवे पर आष्टा की पार्वती नदी में फेंक रहे हैं. उन्होंने आगे कहा कि किसानों को उनकी उपज का सही दाम मिलना चाहिए. सरकार द्वारा लहसुन प्याज का दाम फिक्स करना चाहिए. इस साल लहसुन प्याज की खेती करने वाले किसान लागत भी नहीं निकाल पा रहे हैं. सरकार को किसानों की इस समस्या का समाधान भी करना चाहिए.

इससे पहले भी हुई है इस तरह की घटना

लहसुन

कुछ दिन पहले सीहोर जिले के ही जावर में लहसुन का भाव नहीं मिलने पर किसानों ने नाराजगी व्यक्त की थी. इस दौरान किसानों ने लहसुन को जलाकर विरोध प्रदर्शन किया था. वहीं महाराष्ट्र में भी प्याज किसानों को उनकी उपज पर सही कीमत नहीं मिल पा रही है. इस बीच राज्य में कई जिलों से किसानों द्वारा प्याज फेंकने की तस्वीरें और वीडियोज सामने आ रहे हैं.

Edited By – Deshhit News

News
More stories
पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी बड़ी कार्रवाई,दिल्ली लखनऊ समेत कई ठिकानों पर ED की छापेमारी