Uttar Pradesh: यूपी के सरकारी स्कूलों के बच्चों को मिलेगी यूनिफार्म की राशी, सीएम योगी का बड़ा फैसला

01 Aug, 2022
Deepa Rawat
Share on :
cm yogi

कोरोना महामारी के चलते स्‍‍कूल बंद हो गए थे. अब एक बार फिर से कक्षाएं शुरू हुई हैं और बच्‍चे स्‍कूल लौटना शुरू कर चुके हैं. नये सेशन की कक्षाएं शुरू होने पर राज्‍य सरकार ने बच्‍चों के अभिभावकों के खाते में यूनिफॉर्म की राशि भेजने का निर्णय किया है.

नई दिल्ली: सरकारी स्कूल के बच्चों को उत्‍तर प्रदेश सरकार बड़ी सौगात देने जा रही है. बच्‍चों के अभिभावकों के खाते में आज से निशुल्क यूनिफॉर्म की राशि भेजी जा रही है. इसके लिए DBT के माध्यम से 1200 रुपये की धनराशि सीधे खाते में भेजी जा रही है. इसके साथ ही 9 विद्यालयों को स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार भी दिया गया है.

cm yogi adityanath

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने अपने संबोधन में कहा कि प्रदेश के 1.91 करोड़ बच्चों के अभिभावकों को राशि ट्रांसफर की गई है. उन्‍होंने कहा कि कोरोना महामारी से दुनिया तबाह हुई है. प्रत्येक व्यक्ति इस महामारी से प्रभावित हुआ है. लॉक डाउन के दौरान स्कूल बंद हो गए जिससे बेसिक शिक्षा की बुनियादी आवश्यकता यानी शिक्षकों से इंटरेक्शन खत्‍म हो गया.

cm yogi adityanath

सीएम ने कहा कि स्कूल चलो अभियान इस बार फिर शुरू हुआ है. पहले स्कूलों की स्थिति बेहतर नहीं थी. स्कूलों की स्थिति बेहतर नहीं थी. स्कूलों में भवनों पर पेड़ और झाड़ी उगी थी. 2017 में कहीं स्कूल भवन नहीं तो कही शिक्षक नहीं वाली स्थिति थी. पहले अभिभावक अपने बच्चे को प्राइवेट स्कूल भेजना सही समझते थे जबकि आज हम सब के प्रयास से हमारे स्कूलों में बच्चे बढ़े हैं.

cm yogi adityanath

उन्‍होंने यह भी कहा कि 1.62 लाख शिक्षकों की भर्ती भी की गई है. ऑपरेशन कायाकल्प से विद्यालयों की तस्वीर बदली है. पहले बड़े पैमाने पर बच्चे नंगे पैर नंगे पैर स्कूल आते थे. हमे तकनीक के साथ जुड़ना है, परहेज नहीं करना है. हमें छात्रों के भीतर आदर का भाव पैदा करना है. देश के प्रति जिम्मेदारी का भाव पैदा करना है. स्‍कूल के लिए बच्‍चों में धार्मिक स्थल जैसा भाव होना चाहिए. सीएम योगी ने नारा दिया कि एक भी बच्‍चा स्‍कूल जाने से न बचे.

News
More stories
Delhi Police Commissioner: दिल्ली पुलिस के नए कमिश्नर बने 'संजय अरोड़ा', 'तीन सेब साहब' के नाम से juniors में मशहूर थे अरोड़ा
%d bloggers like this: