Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

आज है Delhi CM अरविंद केजरीवाल का जन्मदिन, जन्माष्टमी के दिन जन्में थे केजरीवाल तो नाम पड़ा ‘कृष्ण’, जन्मदिन पर जानें उनके सफर की पूरी कहानी

16 Aug, 2022
Employee
Share on :
delhi cm arvind kejriwal birthday

अरविंद केजरीवाल का जन्म 16 अगस्त सन् 1968 में हरियाणा के हिसार में हुआ, आज दिल्ली सीएम अपना 55वां जन्मदिन मना रहे हैं। हरियाणा के हिसार में जन्मे केजरीवाल का सफर आईआईटी से निकलकर दिल्ली के मुख्यमंत्री तक काफी रोमांचक रहा है। आईये जानते है क्या कुछ रोमांचक रहा

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अपनी जिंदगी के 54 साल पूरे कर 16 अगस्त को 55वां जन्मदिन मना रहे हैं। सन् 1968 में हरियाणा के हिसार में जन्मे केजरीवाल आईआईटी से निकलकर दिल्ली के मुख्यमंत्री तक का सफर काफी रोमांचक रहा है।

Delhi CM अरविंद केजरीवाल

आईआईटी खड़गपुर से स्नातक करने के बाद केजरीवाल साल 1992 भारतीय राजस्व सेवा से जुड़े और फिर साल 2000 नौकरी से छुट्टी ले ली। 2006 में उन्होंने नौकरी से इस्तीफा दिया और दिल्ली में ‘परिवर्तन’ नामक नागरिक आंदोलन में लग गए। साल 2010 में दिल्ली में हुए कॉमनवेल्थ खेलों के बाद उन्होंने भ्रष्टाचार के मुद्दे को काफी प्रखरता से उठाया। सूचना अधिकार अधिनियम को लेकर भी केजरीवाल ने लंबी लड़ाई लड़ी।

Delhi पूर्व सीएम शीला दीक्षित को पहले चुनाव में ही दी थी मात

Delhi CM अरविंद केजरीवाल With Family

अरविंद केजरीवाल ने अन्ना हजारे के साथ मिलकर केन्द्र की कांग्रेस सरकार के खिलाफ आंदोलन शुरू किया। बाद में 26 नवंबर 2012 को अरविंद ने दिल्ली में आम आदमी पार्टी के गठन का ऐलान किया। साल 2013 में आम आदमी पार्टी ने दिल्ली विधान सभा में अपने प्रत्याशी उतारे और इस चुनाव में केजरीवाल ने नई दिल्ली सीट से उस समय दिल्ली की मुख्यमंत्री रही शीला दीक्षित के खिलाफ चुनाव लड़ा और उन्हें 25864 वोटों से मात दी। 

पहली बार दिल्ली में बनाई थी 49 दिन की सरकार

अरविंद केजरीवाल

2013 के विधानसभा चुनाव में अरविंद की पार्टी को 70 में से 28 सीटें मिलीं और उन्होंने कांग्रेस के साथ मिलकर 49 दिन की सरकार बनाई। 28 दिसम्बर 2013 से 14 फ़रवरी 2014 तक केजरीवाल दिल्ली के मुख्यमंत्री रहे और फिर उन्होंने इस्तीफा दे दिया। साल 2015 में केजरीवाल की आम आदमी पार्टी ने 70 में से 67 सीटें जीतकर न सिर्फ बहुमत हासिल किया, बल्कि राजनीतिक गलियारों में भी हलचल मचा दी। इसके बाद 2020 के विधानसभा चुनाव में भी केजरीवाल ने सरकार बनाई। इस बार आप को 62 और भारतीय जनता पार्टी को 08 सीटें मिलीं।

अरविंद केजरीवाल से जीवन से जुड़ी कुछ खास बातें

अरविंद केजरीवाल पत्नी सुनीता के साथ

अरविंद केजरीवाल के बचपन का नाम ‘कृष्ण’ था और उनका जन्म जन्माष्टमी के दिन हुआ था, अरविंद शुद्ध शाकाहारी हैं और नियमित योग का अभ्यास करते हैं।
केजरीवाल डॉक्टर बनना चाहते थे लेकिन पिता की इच्छा के मुताबिक उन्होंने इंजीनियरिंग को चुना।
साल 1995 में अरविंद ने 1993 बैच की आईआरएस अधिकारी सुनीता से शादी की। केजरीवाल के बच्चों की बात करें तो उनका एक बेटा और एक बेटी हैं।
केजरीवाल की स्वराज नामक किताब काफी चर्चा में रही थी। 

केजरीवाल की स्वराज किताब

भारत में सूचना अधिकार अर्थात सूचना कानून (सूका) के आन्दोलन को लेकर साल 2006 में केजरीवाल को रमन मैग्सेसे पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।
भारतीय राजस्व सेवा में चयनित होने से पहले अरविंद केजरीवाल मदर टेरेसा,नेहरू युवा केंद्र और रामकृष्ण मिशन में भी काम कर चुके हैं।

Edited By – Deshhit News

News
More stories
हर घर तिरंगा वेबसाइट पर 5 करोड़ से ज्यादा तिरंगा सेल्फी अपलोड किया गया I