Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

Tiranga Rally : तिरंगा रैली को लेकर सियासत गर्म, बीजेपी और कांग्रेस आमने-सामने

03 Aug, 2022
Employee
Share on :
tiranga bike rally BJP

Tiranga Bike Rally: देश भर में आजादी के अमृत महोत्सव के तहत हर रोज कोई न कोई कार्यक्रम या अभियान चलाया जा रहा है. आज इंडिया गेट से विजय चौक तक तिंरगा बाइक रैली निकाली गई.

नई दिल्ली: (Tiranga bike Rally) दिल्ली में सांसदों की तिरंगा यात्रा पर अब सियासत तेज हो गई है। कांग्रेस समेत विपक्षी दलों के सांसद इस यात्रा में शामिल नहीं हुए, राहुल गांधी समेत कांग्रेस के कई बड़े नेताओं ने इस यात्रा में हिस्सा नहीं लिया। इन लोगों ने तिरंगा यात्रा में शामिल होने की बजाय अपनी डीपी पूर्व पीएम जवाहर लाल नेहरू की तस्वीर लगाई, जिसमें वो हाथों में तिरंगा लिए नजर आ रहे हैं। 

Tiranga Bike Rally 2022

विपक्ष का कोई भी सांसद नहीं हुआ तिरंगा यात्रा में शामिल

Tiranga Bike Rally 2022

वहीं बीजेपी ने तिरंगा यात्रा से विपक्ष की दूरी को लेकर निशाना साधा है। बीजेपी नेताओं ने राहुल गांधी समेत सभी विपक्षी दलों पर तुष्टिकरण की राजनीति का आरोप लगाया है। इस तिरंगा यात्रा का आयोजन संस्कृति मंत्रालय की ओर से किया गया था और इसमें हिस्सा लेने के लिए देश के सभी सांसदों को आने का निमंत्रण भेजा गया था लेकिन विपक्ष का कोई भी सांसद इस यात्रा में शामिल नहीं हुआ। 

मनोज तिवारी ने राहुल गांधी पर साधा निशाना

Tiranga Bike Rally 2022 Manoj Tiwari

वहीं केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा-‘हम भारत की आज़ादी के 75 साल मना रहे हैं और इस संदर्भ में हर घर में तिरंगा फहराना हमारा उद्देश्य है। तिरंगा रैली में हमने सभी को बुलाया था लेकिन फिर भी विपक्ष नहीं आया तो हम कुछ नहीं कह सकते। हम इसमें राजनीति नहीं करना चाहते। बीजेपी सांसद मनोज तिवारी ने राहुल गांधी पर हमला बोलते हुए कहा कि अगर राहुल यात्रा में शामिल होते तो उनका कद बढ़ जाता है लेकिन उनका शामिल नहीं होना बताता है कि उन्हें देश से नहीं सिर्फ अपने वोट बैंक से प्यार है। गोरखपुर से बीजेपी सांसद रविकिशन ने विपक्षी सांसदों के तिरंगा यात्रा में शामिल नहीं होने पर सवाल उठाया, रवि किशन ने कहा कि विपक्ष अभी तक तुष्टिकरण की राजनीति को नहीं छोड़ रहा है।

अधीर रंजन चौधरी का बयां आया सामने

Tiranga Bike Rally 2022

वहीं कांग्रेस के सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि हम बीजेपी के सरकारी कार्यक्रम को अगर राजनीतिक कार्यक्रम बनायेंगे तो हम उसमें शामिल नहीं होंगे। उन्होंने कहा-‘आज़ादी की जंग के समय जो अखबार निकला था उसके ख़िलाफ़ आज घिनौनी साजिश हो रही है। हम अपना कार्यक्रम करेंगे, हम भाजपा के पॉलिटिकल एजेंडा में कैसे शामिल हों सकते है ? सरकारी कार्यक्रम को अगर राजनीतिक कार्यक्रम बनाया जाएगा तो हम उसमें शामिल नहीं होंगे।

कांग्रेस नेताओं ने नेहरू की तिरंगे झंडे वाली तस्वीर को लगाया डीपी (डिस्प्ले पिक्चर)

Jawahar lal Nehru With Indian Flag

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा समेत पार्टी के कई नेताओं ने बुधवार को अपने सोशल मीडिया प्रोफाइल पर देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की हाथ में तिरंगा लिए तस्वीर डीपी (डिस्प्ले पिक्चर) के तौर पर लगाई। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने हाथ में तिरंगा लिए नेहरू की तस्वीर वाली डीपी लगाने के बाद ट्वीट किया, ‘‘देश की शान है हमारा तिरंगा, हर हिंदुस्तानी के दिल में है, हमारा तिरंगा।’’ पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी ने इसी तस्वीर की डीपी लगाई और कहा, ‘‘विजयी विश्व तिरंगा प्यारा, झंडा ऊंचा रहे हमारा।’’ कांग्रेस ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर भी डीपी के तौर पर यही तस्वीर लगाई गई है।

जयराम रमेश ने RSS पर उठाए सवाल

Jairam Ramesh Congress

कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने भी इसी तस्वीर को बतौर डीपी लगाया है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘’वर्ष 1929 के लाहौर अधिवेशन में रावी नदी के तट पर झंडा फहराते हुए पंडित नेहरू ने कहा था ‘एक बार फिर आपको याद रखना है कि अब यह झंडा फहरा दिया गया है। जब तक एक भी हिंदुस्तानी मर्द, औरत, बच्चा जिंदा है, यह तिरंगा झुकना नहीं चाहिए।’ देशवासियों ने ऐसा ही किया।’’ उन्होंने कहा, ‘हम हाथ में तिरंगा लिए अपने नेता नेहरू की तस्वीर डीपी के तौर पर लगा रहे हैं। लेकिन लगता है प्रधानमंत्री का संदेश उनके परिवार तक ही नहीं पहुंचा। जिन्होंने 52 वर्षों तक नागपुर में अपने मुख्यालय में झंडा नहीं फहराया, वे क्या प्रधानमंत्री की बात मानेंगे?’

Edited By – Deshhit News

News
More stories
Indian Railway : रेलवे ने माल ढुलाई में तोड़ा रिकॉर्ड, जुलाई में 23 महीने का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन