Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

आज दोपहर 3 बजे होगा गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान, दिल्ली के विज्ञान भवन में होगी प्रेस-कॉन्फ्रेंस

14 Oct, 2022
देशहित
Share on :

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप के प्रमुख अरविंद केजरीवाल दावा कर चुके हैं कि गुजरात में आम आदमी पार्टी की सरकार बन रही है और हिमाचल में भी बड़ी जीत हासिल करेंगे।

नई दिल्ली:भारत निर्वाचन आयोग आज दोपहर 3 बजे के बाद एक प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित करेगा। बताया जा रहा है कि इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में गुजरात और हिमाचल प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान किया जाएगा। आपको बता दें कि इस साल के अंत तक दोनों राज्यों में चुनाव को लेकर अटकलें लगाई जा रही थीं। ऐसे में आज सभी की निगाह इस पीसी पर होगी कि दोनों जगहों पर चुनाव कब होंगे?  

नवंबर में मतदान होने की संभावना

जल्द हो सकता है गुजरात, हिमाचल में चुनाव का ऐलान (File Photo)
Elections may be announced in Gujarat, Himachal soon (File Photo)

चुनाव आयोग आज दिल्ली में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करेगा। जिसमें गुजरात और हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव का कार्यक्रम घोषित हो सकता है। दोनों राज्यों में साल के अंत में चुनाव होने हैं। आपको बता दें, दोनों ही राज्यों में बीजेपी की सरकार है। पहले से ही अनुमान लगाया जा रहा कि नवंबर में मतदान हो सकता है। आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस दिल्ली के विज्ञान भवन में होगी।

ये भी पढ़े: आम आदमी पार्टी के नेता गोपाल इटालिया को दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार, पीएम मोदी और मंदिर को लेकर की थी आपत्तिजनक टिप्पणी, वीडियो हुआ था वायरल

दोनों ही राज्यों में भाजपा को मिली थी जीत

निर्वाचन आयोग चुनाव कार्यक्रम की घोषणा करने से पहले अक्सर राज्यों का दौरा करता है। इससे पहले भी उम्मीद जताई जा रही थी कि चुनाव आयोग दिवाली से पहले विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान कर सकता है। बता दें कि हिमाचल प्रदेश में साल 2017 में 9 नवंबर को चुनाव हुए थे, जबकि गुजरात में 9 और 14 दिसंबर को दो चरणों में मतदान कराया गया था। वहीं गुजरात चुनाव में भाजपा को जीत मिली थी।

गुजरात में 182 सीटों के लिए चुनाव होगा

गुजरात विधानसभा में कांग्रेस के विधायक ने गृहमंत्री को कहे अपशब्द, 7 दिन के  लिए सस्पेंड - gujrat assembly congress mla suspended for using foul  language for home minister ntc - AajTak
Gujarat Legislative Assembly

गुजरात में विधानसभा (Gujarat Assembly) की कुल 182 सीटें हैं। इनमें 40 सीटें आरक्षित हैं। 13 सीटें अनुसूचित जाति (SC) के लिए और 27 सीटें अनुसूचित जनजाति (ST)/आदिवासी समाज के लिए रिजर्व हैं। 2017 के चुनाव में भाजपा (BJP) को 99, कांग्रेस (Congress) को 77 सीटें मिलीं थी। दो सीटें भारतीय ट्राइबल पार्टी (BTP), एक सीट एनसीपी (NCP) को मिली थी, बाकी तीन सीटों में निर्दलीय जीते थे। गुजरात में लंबे समय से चुनावों में भाजपा और कांग्रेस के बीच मुकाबला हो रहा है, लेकिन इस बार विधानसभा चुनावों के लिए आम आदमी पार्टी (Aam aadmi Party) भी जी तोड़ मेहनत कर ही है।

हिमाचल में 68 सीटों के लिए होगा चुनाव

हिमाचल विधानसभा का मानसून सत्र 19-31 अगस्त तक, हंगामेदार रहने के आसार –  News18 हिंदी
Himachal Pradesh Legislative Assembly

हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव 2017 में राज्य की 68 विधानसभा सीटों पर चुनाव हुए। वर्तमान में राज्य में कुल 68 विधानसभा क्षेत्र हैं और सरकार बनाने के लिए 35 सीटें जीतने की दरकार होती है।  हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव 2017 में राज्य की 17 विधानसभा सीटें अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित हैं। वहीं 3 विधानसभा क्षेत्र अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं। राज्य में 48 विधानसभा सीटों पर सामान्य वर्ग से कोई भी चुनाव लड़ सकता है।

गुजरात विधानसभा में बहुमत के लिए 92 सीटें जरूरी है।

आपको बता दें, 2017 के चुनाव में बीजेपी ने गुजरात विधानसभा की 182 में से 99 सीटें जीती थी। वहीं कांग्रेस ने 77 सीटें हासिल की थीं। चुनाव के बाद बीजेपी ने विजय रूपाणी को मुख्यमंत्री बनाया गया था। हालांकि, सितंबर 2021 में रूपाणी की जगह भूपेंद्र पटेल को मुख्यमंत्री बना दिया गया था। गुजरात में 2017 में 9 दिसंबर से 14 दिसंबर के बीच वोटिंग हुई थी। 18 दिसंबर को नतीजे आए थे। गुजरात विधानसभा में बहुमत के लिए 92 सीटें जरूरी है। वहीं, हिमाचल विधानसभा की 68 सीटों के लिए 2017 में 9 नवंबर को वोटिंग हुई थी। बीजेपी ने 68 में से 44 सीटों पर जीत दर्ज की थी। जबकि, कांग्रेस ने 21 सीटें हासिल की थी। हिमाचल में जयराम ठाकुर को मुख्यमंत्री बनाया गया था।

पिछली बार अलग-अलग आया था तारीखों का नोटिफिकेशन

आपको बता दें, 2017 में इन दोनों राज्यों हिमाचल प्रदेश और गुजरात के विधानसभा चुनाव कार्यक्रम की घोषणा पर गौर करें, तो काफी कुछ बदला नजर आया था। कई दशकों में पहली बार दोनों राज्यों के लिए चुनाव कार्यक्रम की घोषणा अलग-अलग दिन हुई थी। तब 13 दिन के अंतर पर चुनाव का ऐलान किया गया था। आयोग ने 12 अक्टूबर की सुबह दोपहर बाद प्रेस कांफ्रेंस करने की सूचना जारी की। उस दिन सिर्फ हिमाचल प्रदेश के चुनाव का कार्यक्रम घोषित किया गया था। हिमाचल प्रदेश में 9 नवंबर 2017 को मतदान की घोषणा की गई। जबकि मतगणना की तारीख करीब 40 दिन बाद यानी 18 दिसंबर को रखी गई थी।

इस घोषणा के 13 दिन बाद 25 अक्टूबर को गुजरात की 14वीं विधान सभा की 182 सीटों के लिए चुनाव तारीखों का ऐलान किया गया।हिमाचल प्रदेश के चुनावों के लिए मतदान ठीक एक महीने बाद यानी 9 और 14 दिसंबर को दो चरणों में मतदान हुआ था। मतगणना 18 दिसंबर को दोनों राज्यों के चुनाव की साथ-साथ हुई थी

दोनों राज्यों में आम आदमी पार्टी ने किया था जोर – शोर से प्रचार

2017 के चुनाव में भाजपा ने गुजरात विधानसभा की 182 में से 99 सीटों पर जीत दर्ज की थी। वहीं, हिमाचल विधानसभा की 68 सीटों के लिए 2017 में भाजपा ने 44 सीटों पर जीत दर्ज की थी। इस बार दोनों में आम आदमी पार्टी भी बड़े जोर-शोर से प्रचार कर रही है। इस बार का चुनावी मुकाबला काफी रोचक रहने वाला है।

अरविंद केजरीवाल का हिमाचल में बड़ी जीत हासिल करने का दावा

हर युवा को रोजगार और बेरोजगारों को 3000 रुपए का भत्ता, सोमनाथ में अरविंद  केजरीवाल का बड़ा ऐलान | For the second time in 7 days, Arvind Kejriwal will  come to gujarat
Arvind Kejriwal

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप के प्रमुख अरविंद केजरीवाल दावा कर चुके हैं कि गुजरात में आम आदमी पार्टी की सरकार बन रही है और हिमाचल में भी बड़ी जीत हासिल करेंगे।

आयोग ने लिया तैयारियों का जायजा

चुनाव को लेकर तैयारियों का जायजा लेने के लिए निर्वाचन आयोग ने दोनों राज्यों का दौरा कर लिया है। आयोग अब बस चुनाव कार्यक्रम को अंतिम रूप देने की तैयारियां कर रहा है। इसके लिए दोनों राज्यों में अनुकूल मौसम, स्कूलों की परीक्षाएं, स्थानीय त्यौहार उत्सव, खेती बाड़ी और अन्य कुछ आयोजनों पर आयोग की टीम का ध्यान है। ताकि चुनाव का कार्यक्रम ऐसा बने कि मतदाताओं और मतदान में जुटी सरकारी मशीनरी को कोई दिक्कत ना हो।

Edited By Deshhit news

News
More stories
आम आदमी पार्टी के नेता गोपाल इटालिया को दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार, पीएम मोदी और मंदिर को लेकर की थी आपत्तिजनक टिप्पणी, वीडियो हुआ था वायरल