Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

मोरबी हादसे में अब तक 141 लोगों की मौत, पीएम मोदी – मैंने अपने जीवन में कभी इस तरह के दर्द का अनुभव नहीं किया

31 Oct, 2022
देशहित
Share on :

बताया जा रहा है कि फिटनेस सर्टिफिकेट लिए बिना ही ब्रिज को शुरू कर दिया गया था।

नई दिल्ली: गुजरात के मोरबी में रविवार शाम करीब 6.30 बजे रात को बड़ा हादसा हो गया। यहां के मच्छु नदी में बना केबल ब्रिज अचानक टूट जाने से कई लोग नदी में गिर गए। इस हादसे में 141 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि हादसे के वक्त पुल पर 400 से ज्यादा लोग मौजूद थे। ये लोग रविवार की छुट्टी होने पर ब्रिज पर घूमने पहुंचे थे। रेस्क्यू के लिए सेना, नेवी, एयरफोर्स एनडीआरएफ, फायर ब्रिगेड, एसडीआरएफ की टीमें जुटी हुई हैं। अब तक 177 लोगों को रेस्क्यू किया जा चुका है। हादसे में राजकोट से बीजेपी सांसद मोहनभाई कल्याणजी कुंदारिया के 12 रिश्तेदारों की भी इस हादसे में मौत हो गई है।

Gujarat के मोरबी में पुल गिरने से मरने वालों की संख्या 100 से अधिक, पीएम और

ये भी पढ़े: बेहद गंभीर है भारतीय इतिहास में 29 अक्टूबर का दिन, हिंद महासागर उष्णकटिबंधीय सुपर साइक्लोन का हादसे में हुई थी 15000 लोगों की मौत, 16 लाख हुए थे बेघर

मोरबी हादसे में अब तक 141 लोगों की मौत

  • हादसे में अब तक 141 लोगों की मौत हो गई है।
  • 177 लोगों को रेस्क्यू किया जा चुका है।
  • 19 लोगों का इलाज चल रहा है। 3 लोगों को राजकोट में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है।
मोरबी के सिविल अस्पताल में घायलों का इलाज किया जा रहा है।
  • मोरबी सिविल अस्पताल में अन्य अस्पतालों से करीब 40 डॉक्टरों की टीम मौके पर पहुंची है।
  • मौके पर करीब 30 एंबुलेंस को तैनात किया गया है।
  • एनडीआरएफ की 5 टीमों में करीब 110 सदस्य रेस्क्यू में जुटे हैं।
  • जामनगर एसडीआरएफ की 2, वड़ोदरा और गोंधाल की 3-3 टुकड़ियां रेस्क्यू में जुटी हैं।
  • रेस्क्यू के लिए 20 बोट तैनात की गई हैं।

5 दिन पहले ही शुरू हुआ था ब्रिज

यह पुल छह महीने से बंद था। रेनोवेशन के बाद 25 अक्टूबर को इसे खोला गया था।

केबल ब्रिज 100 साल से ज्यादा पुराना बताया जा रहा है। यह ब्रिटिश शासन के दौरान बनाया गया था। राजा-महाराजाओं के समय का यह पुल ऋषिकेश के राम-झूला और लक्ष्मण झूला पुल कि तरह झूलता हुआ सा नजर आता था, इसलिए इसे झूलता पुल भी कहते थे। इसे गुजराती नव वर्ष पर महज 5 दिन पहले ही रिनोवेशन के बाद चालू किया गया था। रिनोवेशन के बाद भी इतना बड़ा हादसा होने पर अब कई तरह के सवाल उठ रहे हैं। बताया जा रहा है कि फिटनेस सर्टिफिकेट लिए बिना ही ब्रिज को शुरू कर दिया गया था। ब्रिज पर घूमने आए लोगों को 17 रुपए का टिकट खरीदना होता था। वहीं, बच्चों के लिए 12 रुपए का टिकट अनिवार्य था।

मोरबी पुल हादसा: PM मोदी ने CM भूपेंद्र पटेल से की बात, हर संभव मदद  पहुंचाने के निर्देश | TV9 Bharatvarsh

पीएम मोदी ने जताया दुख

गुजरात के केवड़िया में पीएम मोदी ने कहा कि मैं एकता नगर में हूं लेकिन मेरा मन मोरबी के पीड़ितों के साथ है। मैंने अपने जीवन में शायद ही कभी इस तरह के दर्द का अनुभव किया होगा। एक तरफ दर्द से भरा दिल है तो दूसरी तरफ है कर्तव्य का रास्ता है।

Edit by deshhit news

News
More stories
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने रविवार को पुलिस लाईन रेस कोर्स में ‘देहरादून मैराथन’ में प्रतिभाग किया।