Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

ऋषि सुनक की हुई हार, विदेश मंत्री रह चुकी लिस ट्रस ने करीब 21 हजार वोटों से जीता ब्रिटेन प्रधानमंत्री का चुनाव

05 Sep, 2022
Employee
Share on :
Britain Election Rishi SUnak vs liss truss

ऋषि सुनक (Rishi Sunak) ब्रिटिश पीएम की रेस हार गए हैं. यूके की विदेश मंत्री लिस ट्रस वहां की नई प्रधानमंत्री चुन ली गई हैं. वह बोरिस जॉनसन की जगह लेंगी. सुनक करीब 21 हजार वोटों से चुनाव हारे हैं. लिस ट्रस ब्रिटेन की तीसरी महिला प्रधानमंत्री होंगी.

नई दिल्ली: ब्रिटेन के चुनावो में से एक बड़ी खबर सामने आई है आपको बता दें कि ब्रिटेन में पीएम की रेस में ऋषि सुनक हार गए हैं. यूके की विदेश मंत्री लिस ट्रस वहां की नई प्रधानमंत्री चुन ली गई हैं. अब वह बोरिस जॉनसन की जगह लेंगी. लिस ट्रस को आज शाम ब्रिटेन की सत्ताधारी कंजर्वेटिव पार्टी का नेता चुन लिया गया है.

जानकारी के मुताबिक, लिस ट्रस को टोरी लीडरशिप के इस चुनाव में कुल 81,326 वोट मिले. वहीं ऋषि सुनक को 60,399 वोट मिले. मतलब सुनक इस चुनाव को 20,927 वोटों से हार गए. लिस ट्रस ब्रिटेन की तीसरी महिला प्रधानमंत्री हैं. इससे पहले मार्गरेट थैचर (Margaret Thatcher) और थेरेसा मे (Theresa May) इस पद पर रह चुकी हैं.

विदेश मंत्री लिस ट्रस

बता दें कि बोरिस जॉनसन को 7 जुलाई को ब्रिटेन के पीएम पद से इस्तीफा देना पड़ा था. दरअसल, जॉनसन का नाम कई विवादों से जुड़ गया था. इसके बाद जॉनसन के खिलाफ कैबिनेट मंत्रियों के इस्तीफों की छड़ी लग गई. फिर उनको इस्तीफा देना पड़ा. फिर बोरिस जॉनसन के उत्तराधिकारी की रेस में पूर्व चांसलर ऋषि सुनक और विदेश मंत्री लिस ट्रस फाइनल तक पहुंचे. अब 42 साल के सुनक को अब पीएम की रेस में 47 साल की लिस ट्रस ने हरा दिया है.

पीएम के इस चुनाव में Conservative Party के करीब 1 लाख 60 हजार से ज्यादा सदस्यों ने वोट किया था. चुनाव से पहले आ रहे सर्वे में भी बताया जा रहा था कि

ऋषि सुनक इस रेस में पिछड़ गए हैं.

विदेश मंत्री लिस ट्रस और ऋषि सुनक

ब्रिटिन इंडियन नागरिक ऋषि सुनक ने चुनाव प्रचार के दौरान वादा किया था कि वह जीते तो बढ़ती महंगाई पर लगाम लगाएंगे. वहीं लिस ट्रस ने टैक्स में कटौती का वादा किया था.

ऋषि सुनक पर थीं भारत की निगाहें

ऋषि सुनक

भले चुनाव ब्रिटेन में था, लेकिन इसकी चर्चा भारत में भी जमकर हो रही थी. इसकी वजह थी ऋषि सुनक का भारतीय कनेक्शन. ब्रिटिन इंडियन नागरिक सुनक की जीत की कामना भारतीय लोग कर रहे थे. सुनक भारत की जानी-पहचानी शख्सियत नारायण मूर्ति (Infosys के फाउंडर) के दामाद हैं.

सुनक के खिलाफ बन गया था माहौल

ऋषि सुनक

कंजर्वेटिव पार्टी के नए नेता को चुनने की प्रक्रिया अगस्त में शुरू हुई थी. इसमें कुल 1.66 लाख पार्टी सदस्यों ने हिस्सा लिया. ब्रिटेन में जब पीएम के रूप में बोरिस जॉनसन के विकल्प की बात हुई तो सुनक का नाम तेजी से ऊपर चढ़ता दिखा.

उनके ‘रेडी फॉर सुनक’ कैंपेन को काफी अच्छा रेस्पॉन्स मिल रहा था. लेकिन बाद में यह चर्चा होने लगी कि सुनक ने ही बोरिस जॉनसन का तख्तापलट किया है. ऐसे में उनको पीएम पद का ताज नहीं मिल सकता. इसके अलावा साजिद जाविद, नादिम जहावी और मार्डंट जैसे सांसदों ने अपना पाला भी बदल लिया था.

Edited By – Deshhit News

News
More stories
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने 'सल्ट क्रान्ति' के अवसर पर शहीद दिवस कार्यक्रम में प्रतिभाग किया।