Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

Project Cheetah: नामीबिया पहुंचा भारत का स्पेशल विमान, चीते की शक्ल वाले विमान में भारत आएंगे 8 चीते

15 Sep, 2022
Employee
Share on :
Cheetahs from Namibia to India.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर नामीबिया से चीतों को भारत लाने के लिए एक विशेष उड़ान की व्यवस्था की गई है। इस विमान की खास बात ये है की  8 चीते जिनमे 5 मादा और 3 नर चीते शामिल हैं इनके लिए एक ख़ास टाइगर फेस वाला स्पेशल प्लेन तैयार किया गया है.

नई दिल्ली: भारत में कई दशकों के इंतजार के बाद चीतों की वापसी हो रही है. करीब 70 साल बाद भारत में दोबारा चीता दिखाई देंगे. नामीबिया से करार के चलते 17 सितंबर को 8 चीते भारत लाए जा रहे हैं. इसी दिन पीएम मोदी (PM Modi) का जन्मदिन भी है. पूरा देश इस समय नामीबिया से आ रहे 8 चीतों का इंतजार कर रहा है. इन्हें लाने के लिए नामीबिया के हुशिया कोटाको इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर विशेष विमान पहुंच चुका है. यह एक बोईंग 747 विमान है, जिसे चीतों को लाने के लिए मॉडिफाई किया गया है. विमान की नाक पर चीते की पेंटिंग बनाई गई है. 17 सितंबर को यह विमान चीतों को लेकर पहले जयपुर आएगा. वहां से चीतों को हेलिकॉप्टर से मध्यप्रदेश के कूनो नेशनल पार्क ले जाया जाएगा. जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव और मध्यप्रदेश की मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इन्हें खुले जंगल में छोड़ेंगे. 

भारत से नामीबिया गए इस विमान को खासतौर पर डिजाइन किया गया है. इस विमान की तस्वीरें सामने आई हैं. इस पर चीते का मुंह प्रिंट किया गया है, जो देखने में काफी आकर्षक नजर आ रहा है. इसी विमान से आठों चीतों को भारत लाया जा रहा है. क्योंकि 70 साल बाद देश को चीते मिल रहे हैं, ऐसे में इसे एक इवेंट की तरह देखा जा रहा है.

चीतों को लाने के लिए 91 करोड़ का बजट
16 सितंबर यानी कल नामीबिया की राजधानी विंडहॉक से इस विशेष विमान के जरिए चीतों को भारत लाया जा रहा है. 8 चीतों में 5 मादा और 3 नर चीते शामिल हैं. सूत्रों के मुताबिक 17 सितंबर सुबह ये 8 चीते जयपुर लैंड करेंगे और वहां से हेलिकॉप्टर के जरिए उन्हें कूनो नेशनल पार्क लाया जाएगा. यह पहली बार होगा जब किसी मांसाहारी पशु को एक महाद्वीप से दूसरे महाद्वीप लाया जा रहा है. 2020 में सुप्रीम कोर्ट ने नामीबिया से चीता लाने को हरी झंडी दे दी थी. फिलहाल इस पूरी परियोजना के लिए सरकार 91 करोड़ का बजट निर्धारित किया है. 

यह भी पढ़े: National Engineers Day 2022National Engineers Day 2022: भारत के लिए ही नहीं बल्कि देशभर में बहुमूल्य रहा एम विश्वेश्वरैया का जीवन, राष्ट्रीय अभियंता दिवस के रूप में मनाया जाता है आज का दिन

चीतों के लिए खास इंतजाम
बता दें कि वन्य जीव एवं पर्यावरण मंत्रालय नामीबिया के अलावा दक्षिण अफ्रीका से चीते लाने की तैयारी कर रहा है. दक्षिण अफ्रीका से 12 चीते लाए जाने को लेकर दोनो देशों के बीच बात अंतिम दौर में है. अफ्रीका की टीम ने भारत का दौरा कर तैयारियों का जायजा भी लिया है. वह तैयारियों से संतुष्ट हैं.

वन्य जीव वैज्ञानिकों के मुताबिक भारत में चीता की आबादी बनाए रखने के लिए कुल 35-45 चीते होने ज़रूरी हैं, इसलिए अलगे 5 सालों तक हर साल 4 से 8 चीते भारत लाए जाएंगे. सूत्रों ने बताया कि जो वातावरण चीता को नामीबिया और दक्षिण अफ्रीका में मिलता है. वैसा ही वातावरण उन्हें कूनो में मिलेगा, हालांकि भारत में चीता के लिए सुविधाएं नामीबिया और दक्षिण अफ्रीका से भी बेहतर हैं. वहीं कूनो में इन विदेशी मेहमानों के लिए शिकार की भी कमी नहीं है.

Edited By – Deshhit News

News
More stories
Lakhimpur Case: अनुसूचित जाति की दो सगी बहनों को घर से जबरन उठा ले गए आरोपी, उतारा मौत के घाट ,पेड़ से लटके मिले दोनों बेटियों के शव