Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

मध्य-प्रदेश: मंगलवार को 55 फीट गहरे बोरवेल में गिरे तन्मय को बचाया नहीं जा सका

10 Dec, 2022
komal verma
Share on :

400 फीट गहरा बोरवेल नानक चौहान नाम के किसान के खेत पर था। दो साल से बोरवेल बंद था। जब तन्मय उसमें गिरा था, उस दौरान वह 55 फीट की गहराई पर फंस गया था

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश के बैतूल जिले में मंगलवार को आठ वर्ष का बालक तन्मय साहू 55 फीट गहरे बोरबेल में गिर गया था। उसको बोरवेल से सही सलामत निकालने के लिए मंगलवार से रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा था। 84 घंटे के रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद तन्मय को बोरवेल से निकाल लिया गया। बोरवेल से निकालने के बाद तन्मय को तुरंत अस्पताल ले जा रहा था लेकिन उसने अस्पताल पहुंचने से पहले ही दम तोड़ दिया।

ये भी पढ़े: 10 सालों में आम आदमी पार्टी कैसे बनी राष्ट्रीय पार्टी, जानिए आप का इतिहास…..

तन्मय जिस बोरवेल में गिरा था वो दो साल से बंद था

400 फीट गहरा बोरवेल नानक चौहान नाम के किसान के खेत पर था। दो साल से बोरवेल बंद था। जब तन्मय उसमें गिरा था, उस दौरान वह 55 फीट की गहराई पर फंस गया था। रेस्क्यू के दौरान रस्सी में फंदा (वर्टिकल लिफ्टिंग) के तन्मय को निकालने का प्रयास किया गया था, लेकिन कुछ ऊपर आने के बाद प्रयास असफल हो गया था और तन्मय 38 फीट की गहराई पर अटक गया था ।

50 फीट गहराई में अटक गया था तन्मय

84 घंटे चला रेस्क्यू ऑपरेशन.
File Photo

तन्मय करीब 50 फीट गहराई पर अटका हुआ था और बात कर रहा था। सूचना मिलते ही मौके पर एसडीईआरएफ की टीम और पुलिस टीम पहुंची और बचाव का कार्य प्रारंभ किया गया। बोरवेल से करीब 30 फीट की दूरी पर बुलडोजर और पोकलेन मशीन की सहायता से सुरंग बनाने के लिए खोदाई प्रारंभ की गई थी। पोकलेन मशीन से करीब 50 फीट की गहराई तक खुदाई की गई, इसके बाद फंसे हुए बच्चे तक सुरंग बनाने का काम किया गया था, लेकिन अंत में तन्मय को बचाया नहीं जा सका।

Edit By Deshhit News

News
More stories
10 सालों में आम आदमी पार्टी कैसे बनी राष्ट्रीय पार्टी, जानिए आप का इतिहास.....