इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने अल जजीरा के प्रसारण पर लगाई रोक, पीएम नेतन्याहू ने बताया आतंकी चैनल

02 Apr, 2024
Head office
Share on :

Israel Hamas war: इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने अल-जजीरा चैनल के इजराइल में प्रसारण पर बैन लगा दिया है। उन्होंने हाल ही में बनाए गए नए कानून का हवाला देते हुए इसकी जानकारी दी है। इसके साथ ही उन्होंने अल-जजीरा को आतंकवादी चैनल बताया है।

इजराइल और हमास के बीच चल रही जंग के बीच न्यूज चैनल अल-जजीरा को झटका लगा है। दरअसल इजराइल ने अल-जरीरा न्यूज चैनल के प्रसारण पर बैन लगा दिया है। इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने इस बात की जानकारी दी है। उन्होंने सोशल मीडिया प्लेटफार्म एक्स पर एक पोस्ट कर अल-जजीरा के प्रसारण पर रोक लगाने की बात कही है। इसके साथ ही उन्होंने अल-जरीरा को ‘टेररिस्ट चैनल’ भी करार दिया है।

इजरायल हमास युद्ध के बीच कतर के न्यूज चैनल अल जजीरा पर लगातार एक तरफा और इजरायल विरोधी रिपोर्टिंग करने का आरोप लगा है। अल जजीरा पर आरोप है कि वह लगातार झूठी खबरें फैलाकर इजरायल को बदनाम कर रहा है। इस पर अब इजरायल ने बड़ा कदम उठाते उठाते हुए एक कानून पास करके इजरायल में अल जजीरा पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया है। इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने खुद ही इसकी पुष्टि की।उन्होंने कहा कि अब अल जजीरा इजरायल में नहीं दिखेगा।……

उन्होंने सोशल मीडिया पर कहा कि अब अल जजीरा को इजरायल से प्रसारित नहीं किया जाएगा और मैं चैनल की गतिविधियों को रोकने के लिए नए कानून के तहत तुरंत कार्रवाई करना चाहता हूं।

वहीं इसको लेकर इजरायल के दूरसंचार मंत्री श्लोमो करही ने कहा, “इसका बंद होना निश्चित था।” करही ने अल जजीरा पर दुनियाभर में इजरायल के खिलाफ शत्रुता को बढ़ावा देने का आरोप लगाया.और कहा कि एक ऐसे मीडिया आउटलेट्स को बर्दाश्त करना असंभव है, जो कि हमारे देश में रहकर युद्ध के समय में हमारे ही खिलाफ काम कर रहा है।

पीएम ने एक्स पर दी जानकारी

बता दें कि इजलाइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने एक्स पर किए गए पोस्ट में लिखा है कि ‘अल जज़ीरा ने इजराइल की सुरक्षा को नुकसान पहुंचाया। 7 अक्टूबर के नरसंहार में सक्रिय रूप से भाग लिया। अब समय आ गया है कि हमारे देश से इसे हटाया जाए।’ उन्होंने आगे लिखा कि ‘आतंकवादी चैनल अल-जजीरा अब इजराइल से प्रसारित नहीं होगा। मैं चैनल की गतिविधि को रोकने के लिए नए कानून के अनुसार तुरंत कार्रवाई करने का इरादा रखता हूं।’ उन्होंने लिखा है कि ‘मैं संचार मंत्री श्लोमो कराई द्वारा प्रचारित कानून का स्वागत करता हूं।

News
More stories
उत्तराखंड में मौसम का बदला मिजाज, ऊंचाई वाले इलाकों में बारिश की संभावना
%d bloggers like this: