Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

कांग्रेस पार्टी में हरीश रावत का जादू बरकरार,खड़गे की संचालन समिति में शामिल हुए

27 Oct, 2022
Head office
Share on :

कल कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे द्वारा बनाई गई कांग्रेस की संचालन समिति की सूची जारी की गई और सूची में 47 नेता हैं जिनमें से उत्तराखंड में कांग्रेस के नेता श्री हरीश रावत सूची में हैं

सोनिया गांधी-उत्तर प्रदेश
मनमोहन सिंह- पूर्व प्रधानमंत्री
राहुल गांधी- केरल
एके एंटनी – केरल
अभिषेक मनु सिंघवी- पश्चिम बंगाल
अजय माकन- दिल्ली
अंबिका सोनी- पंजाब
आनंद शर्मा -हिमाचल प्रदेश
अविनाश पांडे- झारखंड
गईखंगम गंगमई- मणिपुर
हरीश रावत- उत्तराखंड

यह दर्शाता है कि हरीश रावत (हरदा) का महत्व और जादू अभी भी कांग्रेस में और विशेष रूप से उत्तराखंड की राजनीति में मौजूद है। उत्तराखंड चुनाव के परिणाम और उनकी महत्वाकांक्षा को ध्यान में रखते हुए भी कांग्रेस को हरदा से उम्मीद है। हाल ही में हरदा ने दिखाया है कि वह हरिद्वार लोकसभा क्षेत्र से लड़ने के लिए तैयार है और यह माना जा सकता है कि उसका टिकट लगभग पक्का है और कांग्रेस के कार्यकर्ता को हरदा के लिए आज से चुनाव की तैयारी शुरू कर देनी चाहिए। क्योंकि कांग्रेस हरिद्वार निर्वाचन क्षेत्र से लोकसभा चुनाव के लिए कोई जोखिम नहीं चाहती है, जबकि हरक सिंह रावत पहले से ही इसके लिए दावा कर रहे हैं। अब लगभग कांग्रेस ने हरिद्वार लोकसभा के लिए कांग्रेस के उम्मीदवार के रूप में हरदा को घोषित कर दिया है और भाजपा पर दबाव बना दिया है।

महेश मिश्रा- कानूनी & राजनीतिक विश्लेषक पत्रकार

News
More stories
गाजियाबाद में पार्किंग को लेकर हुई बहस, रिटायर्ड पुलिस के बेटे की पीट-पीटकर हत्या