जीवन में पग-पग पर काम आएगा गीता ज्ञान – स्वामी ज्ञानानन्द

19 Dec, 2023
Head office
Share on :

चण्डीगढ़, 19 दिसंबर – हरियाणा के कुरुक्षेत्र में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव के अवसर पर गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद महाराज ने कहा कि गीता का ज्ञान प्राणी मात्र के सुखी जीवन का मार्ग प्रशस्त करता है और विशेषकर विद्यार्थियों के लिए गीता ज्ञान बहुत उपयोगी है। विद्यार्थियों को नियमित रूप से गीता पढ़नी चाहिए और इसकी शिक्षाओं को अपने जीवन में अपनाना चाहिए।


गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद महाराज आज अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव के अवसर पर कुरुक्षेत्र के राजकीय मॉडल संस्कृति स्कूल में शिक्षा विभाग द्वारा गीता पर आधारित राज्य स्तरीय प्रतियोगिताओं के उद्घाटन समारोह को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि विद्यार्थी काल में ही गीता का भाव समझ गए तो यह जीवन में पग-पग पर काम आएगा। जीने की कला आ जाएगी। आपत्तियों तथा कष्टकर परिस्थितियों में निराशा नहीं घेरेगी। गीता में भगवान ने मनुष्य के जीवन में आने वाली सभी समस्याओं का सर्वमान्य समाधान दिया है, इसलिये विद्यार्थियों को नियमित रूप से गीता का अध्ययन व मनन करना चाहिए।


इस अवसर पर विद्यार्थियों ने गीता के श्लोकों का, न केवल शुद्ध रूप में उच्चारण किया बल्कि लयबद्ध तरीके से गाया। संस्कृत के विद्वानों की तरह बच्चों ने बेहतर ढंग से गीता के चुनिंदा श्लोकों का पाठ किया।


उन्होंने कहा कि जिस प्रकार विद्यार्थी गीता पर आधारित स्पर्धाओं में उत्साहपूर्वक ढंग से भाग ले रहे हैं वह अपने आप में बहुत सुखद है विद्यार्थियों ने गीता के श्लोकों का जिस प्रकार उच्चारण किया है वह प्रशंसनीय है। उन्होंने बताया कि राज्यस्तरीय स्पर्धाओं के अंतर्गत 19 दिसंबर को कक्षा 6 से 8 वर्ग की गीता श्लोक चारण, संवाद, गीता निबंध लेखन, भाषण (घोषणा) व पेंटिंग प्रतियोगिता आयोजित की गई जबकि कक्षा 9 से 12 वर्ग की सभी प्रतियोगिताएं 20 दिसंबर को आयोजित की जाएंगी और 21 दिसंबर को विजेताओं को पुरस्कार वितरित किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि प्रतियोगिताओं में प्रथम आने वाली टीम को 5100, द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाली टीम को 3100, तृतीय स्थान प्राप्त करने वाली टीम को 2100 और सांत्वना पुरस्कार प्राप्त करने वाली टीम को 1000 रुपए का नकद पुरस्कार दिया जाएगा।

News
More stories
तारक मेहता का उल्टा चश्मा में होगी दया की वापसी
%d bloggers like this: