Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

मध्य प्रदेश के मुरैना जिले में पटाखों में आग लगने से फैक्टरी में विस्फोट, मौके पर ही चार लोगों की मौत, आधा दर्जन लोग घायल

20 Oct, 2022
देशहित
Share on :

विस्फोट होने से चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गई और आधा दर्जन लोगों के घायल होने की आंशका जताई जा रही है।

मध्य प्रदेश: मध्य प्रदेश से एक बेहद दुखद खबर सामने आयी है। बताया जा रहा है कि मध्यप्रदेश के मुरैना में अवैध पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट हो गया। इस हादसे में चार लोगों की मौत हो गई। जबकि 7 लोग जख्मी हो गए। विस्फोट इतना तेज था कि पूरी फैक्टरी ध्वस्त हो गयी है। बताया जा रहा है कि अभी और लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका है।

File photo

ये भी पढ़े: 21 अक्टूबर को प्रधानमंत्री मोदी का केदारनाथ का छठवां दौरा, 3400 करोड़ रुपये की देंगे सौगात

चार लोगों की मौके पर ही मौत

दुर्घटना बानमोर कस्बे में जैतपुर रोड पर करीब 11.15 बजे की है। विस्फोट होने से चार लोगों केा मौके पर ही मौत हो गई और आधा दर्जन लोगों के घायल होने की आंशका जताई जा रही है।

रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

घटना की सूचना मिलते ही पुलिस और प्रशासन की पूरी टीम मौके पर पहुंच गई है। यहां मलबे में दबे लोगों को बाहर निकालने के लिए बड़े पैमाने पर रेस्‍क्‍यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है, जिसके लिए जेसीबी मशीन सहित अन्य साधनों की मदद ली जा रही है।

गोदाम में रहते थे किराएदार

बताया जा रहा है कि बिल्डिंग में पटाखों के गोदाम के अलावा किराएदार भी रहते थे।

पैटलावद में भी हुआ था मुरैना जैसे हादसा

मुरैना में हुए इस हादसे में पेटलावद की याद दिला दी है। मध्‍य प्रदेश के झाबुआ जिले के पेटलावद में 12 सितंबर, 2015 को जिलेटिन छड़ों के गोदाम में भयंकर धमाका हुआ था। यह गोदाम सेठिया नाम के एक रेस्टोरेंट के पास बने मकान में था। इस गोदाम में यूरिया का भंडारण किया गया था और जिलेटिन राॅड व डेटोनेटर अवैध रूप से रखे गए थे। हादसे में करीब 78 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई थी और 150 से अधिक लोग गंभीर रूप से घायल हुए थे। धमाका इतना जोरदार था कि लोगों के शरीर के चिथड़े उड़ गए थे। 

Edit by deshhit news

News
More stories
21 अक्टूबर को प्रधानमंत्री मोदी का केदारनाथ का छठवां दौरा, 3400 करोड़ रुपये की देंगे सौगात