Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

बागेश्वर धाम के धीरेंद्र शास्त्री को कथा से दो दिन पहले आना पड़ा भारी, लगा अंधविश्वास फैलाने का आरोप, ऐसे बाबा लोग सही संतो के बारे में भी लोगों की गलत राय बनवा रहे हैं – यूजर।

19 Jan, 2023
komal verma
Share on :

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश के छतरपुर स्थित बागेश्वर धाम के धीरेंद्र शास्त्री विवादों के बीच घिर चुके है। वह एक कथा वाचक हैं। वह दावा करते हैं कि वे मन की बात जान लेते हैं। बता दें, धीरेंद्र शास्त्री का विवाद नागपुर से शुरु हुआ है। वहां वह कथा में गए हुए थे। यह कथा 13 तारीख तक चलने वाली थी लेकिन धीरेंद्र शास्त्री 11 जनवरी को ही वापस आ गए और यही से धीरेंद्र शास्त्री विवादों के घेरों में घिर गए।

ये भी पढ़े: रियलिटी चेक करने के लिए निकली स्वाती मालीवाल के साथ दिल्ली के सड़कों पर की गई बदसलूकी, कार सवार ने 10-15 मीटर तक घसीटा।

यह है पूरा विवाद

कौन हैं बागेश्वर धाम के युवा संत, जिनके पास लगती है सैकड़ों अर्जी |  NewsTrack Hindi 1

दरअसल, महाराष्ट्र की एक संस्था ने धीरेंद्र शास्त्री पर अंधविश्वास फैलाने का आरोप लगाते हुए उन्हें चुनौती दी थी कि वे नागपुर में उसके मंच पर आकर अपने चमत्कारों को दिखाएं। यदि शास्त्री अपने चमत्कार को मेरे सामने सही दिखाते हैं तो उनको 30 लाख का इनाम दिया जाएगा।अगर ऐसा नहीं कर पाते हैं तो मुकदमा झेलने को तैयार रहें। धीरेंद्र शास्त्री इस चुनौती पर वहां नहीं पहुंचे और वापस लौट आए। इस पर कहा जाने लगा कि धीरेंद्र शास्त्री डर के मारे भाग आए। इसी के साथ नागपुर की अंध श्रद्धा मूलन समिति के संस्थापक श्याम मानव ने धीरेंद्र शास्त्री पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह लोगों को केवल मूर्ख बनाने का काम कर रहे हैं। इसलिए उनके खिलाफ ड्रग एंड मैजिक रेमेडी कानून के अंतर्गत मामला दर्ज करेंगे।

हमने आगामी सभी कथाओं के समय को दो-दो दिन कम किया है – धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री

बागेश्वरधाम के पीठाधीश्वर धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री से उन्हें मिली चुनौती पर जवाब दिया है। शास्त्री बोले, हमें किसी भी प्रकार के प्रमाण की आवश्यकता नहीं है। हमें बागेश्वर बालाजी पहले ही प्रमाण दे चुके हैं। हम कई साल से बोल रहे हैं कि न हम कोई चमत्कारी हैं, न हम कोई गुरु हैं, न ही हम कोई ईश्वर हैं। हम तो अपने बागेश्वर बालाजी जी के सेवक हैं, जैसी प्रेरणा लगती है हम वैसा करते हैं। हमने आगामी सभी कथाओं के समय को दो-दो दिन कम किया है। दरबार यथावत रहेगा, क्योंकि वह बालाजी की प्रेरणा से लगता है।

भगवान राम से उनके होने के लिए सबूत मांगा गया – धीरेंद्र शास्त्री

Bageshwar Dham: अंधविश्वास और झूठ के प्रचार जैसे आरोपों में घिरे बागेश्वर  धाम वाले धीरेंद्र शास्त्री का सामने आया बयान, बोले- 'मैं किसी से नहीं ...

इसी के साथ धीरेंद्र शास्त्री ने आगे कहा कि , ‘आदिकाल से भगवान राम को लोगों ने नहीं छोड़ा। ये भारत देश वो देश है, जहां भगवान राम से उनके होने के लिए सबूत मांगा गया। अयोध्या के लिए सबूत मांगा गया। भगवान कृष्ण को नहीं छोड़ा, उनको तांत्रिक और चमत्कारी कहा जाता रहा, तो हमें भरोसा है कि हम तो आम इंसान हैं, हमें कब छोड़ेंगे।’

बाबा जी को राजनीतिक संरक्षण कुछ ज्यादा ही मिल रहा है – यूजर

विवादों में घिरे धीरेंद्र शास्त्री पर संजय त्रिपाठी नाम के एक ट्विटर यूजर ने लिखा, ” बाबा ‘बाबा’ हैं।” विजय पाल सिंह नाम के एक टि्वटर यूज़र ने सवाल किया कि जिन गुरु के चेले मंत्री हैं, वह ऐसी भाषा का प्रयोग कर रहे हैं। विष्णु राजपूत नाम के एक यूजर ने कमेंट किया कि बाबा जी को राजनीतिक संरक्षण कुछ ज्यादा ही मिल रहा है। शैलेश शर्मा नाम के एक यूजर ने लिखा- भक्ति भाव आटे में नमक की तरह हो तो कोई बात नहीं लेकिन नमक में आटा करने पर यही होता है।

इनके खिलाफ तो सख्त कार्रवाई होनी चाहिए- यूजर

Bageshwar Dham Unknow Facts who is Dhirendra Shastri Bageshwar Dham  Bageshwar Maharaj| Times Now Navbharat

मोनू नाम के एक यूजर ने लिखा कि यह एक संत की भाषा तो बिल्कुल नहीं हो सकती है। मनीष परमार नाम के एक यूजर ने कमेंट किया, “अरे बाबा जी, 2 दिन और बैठकर अपनी सिद्धि साबित कर देते तो क्या हो जाता?” आफताब आलम नाम के एक यूजर ने कमेंट किया कि ऐसे बाबा लोग सही संतो के बारे में भी लोगों की गलत राय बनवा रहे हैं, इनके खिलाफ तो सख्त कार्रवाई होनी चाहिए लेकिन जब मंत्री और विधायक ही इनकी पूजा करने पहुंच रहे हैं तो क्या ही हो पाएगा?


Bageshwar Dham
deshhit newsDhirendra Shastri of Bageshwar Dham NewsDhirendra Shastri pr lga andhvishwas failane ka AaropDhirendra Shastri vivado mai ghireNagpur latest NewsNagpur newsNagpur updated News

Edit By Deshhit News

News
More stories
रियलिटी चेक करने के लिए निकली स्वाती मालीवाल के साथ दिल्ली के सड़कों पर की गई बदसलूकी, कार सवार ने 10-15 मीटर तक घसीटा।