मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी द्वारा मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय राजनीतिक दलों के पदाधिकारियों को आदर्श आचरण संहिता पर बैठक आयोजित की

20 Mar, 2024
Head office
Share on :

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी (CEO) ने आगामी चुनावों की निष्पक्षता और स्वच्छता सुनिश्चित करने के लिए आदर्श आचरण संहिता (MCC) के बारे में मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय राजनीतिक दलों (NRPP) के पदाधिकारियों के साथ एक बैठक आयोजित की। यह बैठक चुनाव प्रक्रिया में सभी हितधारकों के बीच तालमेल और सहयोग को बढ़ावा देने के लिए एक महत्वपूर्ण कदम था।

बैठक के उद्देश्य:

एमसीसी के प्रावधानों के बारे में NRPP पदाधिकारियों को जागरूक करना।

चुनाव प्रचार के दौरान उचित आचरण के लिए दिशानिर्देश प्रदान करना।

एमसीसी के उल्लंघन की शिकायतों के निवारण के लिए तंत्र की जानकारी देना।

बैठक के प्रमुख बिंदु:

एमसीसी का महत्व: एमसीसी स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनावों के लिए एक महत्वपूर्ण नींव है। यह सभी राजनीतिक दलों और उम्मीदवारों के लिए एक समान स्तर का खेल मैदान प्रदान करता है।

एमसीसी के प्रमुख प्रावधान: धर्म, जाति, भाषा, क्षेत्र आदि के आधार पर मतदान के लिए अपील करना निषिद्ध है। सरकारी धन का दुरुपयोग, भड़काऊ भाषण, मतदाताओं को डराना-धमकाना, मतदान केंद्रों के आसपास चुनाव प्रचार सामग्री लगाना आदि भी निषिद्ध है।

एमसीसी का उल्लंघन: यदि कोई उम्मीदवार या राजनीतिक दल एमसीसी का उल्लंघन करता है, तो चुनाव आयोग द्वारा कार्रवाई की जा सकती है। इसमें जुर्माना, चुनाव प्रचार पर रोक, उम्मीदवारी रद्द करना आदि शामिल हो सकते हैं।

सीईओ द्वारा किए गए आग्रह:

सीईओ ने सभी NRPP पदाधिकारियों से एमसीसी का पालन करने का आग्रह किया।

उन्होंने एमसीसी के उल्लंघन की शिकायत करने के लिए लोगों को प्रोत्साहित किया।

उन्होंने चुनाव आयोग द्वारा स्थापित शिकायत निवारण तंत्र के बारे में जानकारी दी।

बैठक का महत्व:

यह बैठक आगामी चुनावों को स्वतंत्र और निष्पक्ष सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी। यह सभी राजनीतिक दलों को एमसीसी के बारे में जागरूक करता है और उन्हें चुनाव प्रचार के दौरान उचित आचरण करने के लिए प्रोत्साहित करता है।

निष्कर्ष:

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी द्वारा NRPP पदाधिकारियों के साथ आयोजित बैठक एमसीसी को लागू करने और आगामी चुनावों को स्वतंत्र और निष्पक्ष बनाने के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है। सभी हितधारकों को इस पहल का समर्थन करना चाहिए और चुनाव प्रक्रिया में सक्रिय रूप से भाग लेना चाहिए।

News
More stories
दिल्ली से आने वाली 12 ट्रेनें फुल, यात्रियों को हुई भारी परेशानी
%d bloggers like this: