Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

उद्घाटन के पांचवें दिन ही धंस गया बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे, कई वाहन हुए दुर्घटनाग्रस्त

21 Jul, 2022
Head office
Share on :
bundelkhand expressway

अभी हाल ही में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का उद्घाटन किया. बता दें कि एक्सप्रेसवे उद्घाटन के पांच दिन के अंदर ही निर्माण की हकीकत सामने आती नज़र आ रही है. इसके कारण कई वाहन दुर्घटनाग्रस्त हुए हैं. मामले की वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद लोग एक्सप्रेसवे की गुणवत्‍ता पर लगातार सवाल उठा रहे हैं.

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का उद्घाटन किया और एक्सप्रेसवे के निर्माण की असलियत उद्घाटन के पांच दिन बाद ही सामने आ गई. तेज बारिश के बाद एक्सप्रेसवे की एक लेन का एक हिस्सा धंस गया और कई जगह कट प्वाइंट पर पानी के तेज बहाव में एक्सप्रेसवे धंसा पाया गया. बता दें कि इससे एक्सप्रेस-वे पर 4 मौतें भी हो चुकी हैं. इसका वीडियो कुछ लोगों ने सोशल मीडिया पर शेयर किया है.

इसके बाद इस घटना से हड़कंप मचने लगा फिर अधिकारियों ने तुरंत जांच के आदेश दिए. PM मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का बड़े बड़े इंजीनियर ने निर्माण किया, लेकिन पहली बारिश ने पांच दिन के अन्दर ही सच्चाई सामने लाकर रख दी. उद्घाटन के महज 5 दिन बाद ही एक्सप्रेस-वे के जगह-जगह धस जाने की वजह से गुणवत्ता पर कई सवाल खड़े हो रहे हैं. वही इस पुरे मामले पर हड़कम्प मचा हुआ है. रात में ही बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे की कार्यदायी संस्था UPEIDA ने सड़क की मरम्मत करना शुरू कर दिया.

बता दें, कुल 296 किलोमीटर लंबे इस चार लेन वाले एक्सप्रेस-वे का निर्माण उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवेज औद्योगिक विकास प्राधिकरण (UPEIDA) के द्वारा लगभग 14,850 करोड़ रुपये की लागत से किया गया है. लेकिन देखने को मिल रहा है कि बुंदेलखंड एक्सप्रेस की हालत 5 दिनों में ही ख़राब हो गई. बताया जा रहा है बुन्देलखंड एक्सप्रेस-वे पर किलोमीटर क्रमांक 195 किलोमीटर पर छिरिया सलेमपुर के पास धसा पाया गया है, जिस कारण कुछ वाहन दुर्घटनाग्रस्त हो गए. लोगों ने इसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल भी किया.

इस मामले पर समाजवादी पार्टी ने केंद्र पर सीधा निशाना साधा है और ट्वीट कर कहा है, “बारिश ने खोल दी अधूरे बुंदेलखंड एक्स्प्रेस-वे की पोल. प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री द्वारा लोकार्पित बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का बारिश में निकला दम. अधूरे एक्सप्रेस-वे को बुंदेलखंडियों के लिए सौगात बताने वाली भाजपा सरकार जनता को गुमराह करती नज़र आ रही है. शर्म करो सरकार.”

आपको बता दें कि मीडिया से बात करते हुए  UPEIDA के मीडिया एडवाइजर, दुर्गेश उपाध्याय ने कहा कि ‘कोरोना के बावजूद हमने रिकॉर्ड 28 महीने में एक्सप्रेस-वे का काम पूरा किया है, और जो भी जनसुविधाओं में कमी है, उनका काम भी अगले कुछ महीने में पूरा कर लिया जाएगा’. इस घटना से साफ़ नज़र आ रहा है की PM के इस ड्रीम प्रोजेक्ट पर लगाए करोड़ों रुपये भ्रस्टाचार तले दब गए. इस घटना के बाद लोग एक्सप्रेस वे की गुणवत्‍ता पर लगातर सवाल उठा रहे हैं.

News
More stories
दिल्ली की तरह गुजरात में भी 24 घंटे मुफ्त बिजली मुहैया कराएगी AAP, दो दिवसीय गुजरात दौरे पर CM केजरीवाल