Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

दिल्ली में बड़ा हादसा: सीवर में गिरने से 3 कर्मचारी की मौत, एनडीआरएफ की टीम बॉडी निकालने में लगी…

30 Mar, 2022
Employee
Share on :

देश की राजधानी दिल्ली में सीवर से जुड़ा एक दर्दनाक हादसा सामने आया है, ये घटना उत्तरी-पश्चिमी दिल्ली के संजय गांधी ट्रांसपोर्ट नगर के एक सीवर में काम करने गए तीन लोगों की दर्दनाक मौत की खबर सामने आई है

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली में सीवर से जुड़ा एक दर्दनाक हादसा सामने आया है, ये घटना उत्तरी-पश्चिमी दिल्ली के संजय गांधी ट्रांसपोर्ट नगर के एक सीवर में काम करने गए तीन लोगों की दर्दनाक मौत की खबर आई है. वही दूसरी ओर रिक्शे वाले ने बहादुरी से बचाने की कोशिश की तो उसकी भी जान चली गई. जिन तीन कर्मचारी की सीवर में डूबने से मौत हुई है वह एमटीएनएल के लिए काम करते थे. प्राप्त जानकारी के मुताबिक, सीवर की जहरीली गैस की चपेट में आने से सभी चार लोगों की मौत हुई है.

उत्तरी-पश्चिमी दिल्ली के संजय गांधी ट्रांसपोर्ट में एक सीवर में काम करने गये तीन कर्मचारी की हुई मौत

और यह भी पढ़ें- भीषण कार हादसा ऑडी Q3 के उड़े परखच्चे,DMK विधायक के बहू-बेटे समेत 7 की मौत

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, जिनकी मौत हुई है वह तीन शख्स बच्चू सिंह, पिंटू और सूरज कुमार एक सीवर में वायर का काम करने गए थे, लेकिन तभी उनका दम घुटने लगा. उनकी मदद के लिए 38 वर्षीय रिक्शे वाले सतीश ने कोशिश की लेकिन वह भी गटर में फंस गया और काल के गाल में समा गए. सबसे पहले बच्चू और पिंटू सीवर में उतरे थे और सूरज सीवर के बाहर खड़ा हुआ था. सीवर के अंदर गए, बच्चू और पिंटू की जब आवाज आनी बंद हो गई तो सूरज भी उनको देखने के लिए सीवर के अंदर उतर गया. पास में खड़ा रिक्शा चालक सतीश यह सब देख रहा था. जब कुछ देर तक सीवर से कोई भी बाहर नहीं आया तो सतीश भी सीवर के पास पहुंचा और आवाज लगाई. जब अंदर से कोई आवाज नहीं आई तो सतीश भी सीवर में उतर गया और वो भी इन तीन कर्मचारियों के साथ वहां फंस गया. जिसके कारण उसकी भी मौत हो गई.

उत्तरी-बाहरी जिला पुलिस उपायुक्त बृजेंद्र यादव का कहना है कि एमटीएनएल की तार के मरम्मत कार्य के लिए तीन कर्मचारी सीवर लाइन में उतरे थे, जो सीवर में ही गिर गए. उनको बचाने के लिए सीवर में उतरा रिक्शा चालक भी सीवर में गिर गया. जिसके कारण उसकी भी मौत हो गई. इस घटना की खबर पुलिस को करीब शाम साढ़े छह बजे सूचना मिली. पुलिस कर्मी व दमकल विभाग के कर्मचारी की बॉडी सीवर से निकालने के कार्य में जुटे हुए हैं.

पुलिस से पत्रकारों की हुई बात

पुलिस के अधिकारियों ने बताया कि कर्मचारियों की पहचान बच्चू सिंह, पिंटू और सूरज कुमार साहनी के रूप में हुई है, जबकि रिक्शा चालक की पहचान रोहिणी के सेक्टर-16 स्थित सदर कॉलोनी निवासी सतीश के तौर पर हुई है. उन्होंने बताया कि सीवर में लोहे का जाल है और यह एमटीएनएल की लाइन के नीचे है. ऐसी शंका है कि चारों लोग वहीं फंस गए होंगे. सीवर में जहरीली गैस होने के साथ रक्षात्मक उपकरणों के न होने के कारण इन तीनों की जान चली गई. अभी एनडीआरएफ की टीम इन चारों लोगों को मशीनों के इस्तमाल से सीवर को चौड़ा कर बाहर निकालने के लिए, कोशिश कर रही है. कुछ पत्रकारों से बातचीत में एक स्थानीय निवासी हरजिंदर सिंह ने बताया कि सतीश उसके दोस्त का भाई है. उसने कहा, हमें पता चला कि सतीश दूसरे लोगों की मदद करने के लिए सीवर में उतरा था. लेकिन वह भी इसके अंदर फंस गया.

सीवर से बॉडी को बाहर निकालने के लिए एनडीआरएफ की टीम
News
More stories
Jammu Kashmir: फिर से खुलेगी बिट्टा कराटे की फाइल, श्रीनगर कोर्ट में कश्मीरी पंडित ने लगाई याचिका