Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

भारत जोड़ो यात्रा को मिला, अयोध्या के संतों का आशीर्वाद, कहा- यात्रा देश को एकजुट करने में होगी सफल।

03 Jan, 2023
देशहित
Share on :

मुख्य पुजारी ने कहा कि उनके आशीर्वाद को राजनीतिक समर्थन- विरोध से जोड़कर नहीं देखा जाना चाहिए। सत्य यह है कि जो भी देश को एकजुट करने की बात करेगा, उसके प्रति रामलला का और हमारा आशीर्वाद है।

नई दिल्ली: 9 दिन के ब्रेक के बाद शुरु हुई, राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा आज उत्तर प्रदेश में प्रवेश करने जा रही है। इसी के साथ राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा को अयोध्या के संतों का भी आशीर्वाद मिला है। यात्रा का नेतृत्व कर रहे राहुल गांधी को आशीर्वाद देने और यात्रा के प्रति शुभकामना अर्पित करने वालों में रामलला के मुख्य अर्चक आचार्य सत्येंद्र दास भी रहे।

ये भी पढ़े: 9 दिनों के ब्रेक के बाद राहुल गांधी ने शुरु की अपनी भारत जोड़ो यात्रा, आज उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में करेगी प्रवेश।

राहुल गांधी का संकल्प रामलला की कृपा से होगा पूर्ण – आचार्य सत्येंद्र दास

spiderimg.amarujala.com/assets/images/2018/05/06/s...
आचार्य सत्येंद्र दास

राहुल गांधी को संबोधित पत्र में आचार्य सत्येंद्र दास ने उनकी यात्रा को स्वागत योग्य बताया है तथा विश्वास जताया है कि यह यात्रा नाम के अनुरूप देश को एकजुट करने में सफल होगी। उन्होंने सर्वे भवंतु सुखिनः सर्वे संतु निरामया की भारतीय परंपरा का उदाहरण देते हुए कहा, इस देश को पूरी तरह से एकजुट रहना ही चाहिए, तभी वह कहीं अधिक प्रगति कर सकता है तथा आतंकियों एवं अलगाव से सफलतापूर्वक लड़ सकता है। उन्होंने यह भी कहा कि राहुल गांधी जो लक्ष्य लेकर चल रहे हैं, वह भी रामलला की कृपा से पूर्ण होगा।

आशीर्वाद को राजनीतिक समर्थन- विरोध से जोड़कर नहीं देखा जाना चाहिए – मुख्य पुजारी

रामलला के प्रधान पुजारी अपनी जिम्मेदारी के अनुरूप सनातन परंपरा के अनुगामी और मर्मज्ञ होते हुए भी हिंदू- मुस्लिम एकता तथा देश की साझा संस्कृति के पक्षधर रहे हैं और उनका ताजा रुख भी इसी रुझान के अनुरूप है। मुख्य पुजारी ने कहा कि उनके आशीर्वाद को राजनीतिक समर्थन- विरोध से जोड़कर नहीं देखा जाना चाहिए। सत्य यह है कि जो भी देश को एकजुट करने की बात करेगा, उसके प्रति रामलला का और हमारा आशीर्वाद है।

उनका यह प्रयास सभी के लिए स्वागत योग्य होना चाहिए – महंत जन्मेजय

अयोध्या के महंत जन्मेजय शरण के खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा –  AyodhyaBreakingnews.Wordpress.Com
महंत जन्मेजय

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा को आशीर्वाद देने वालों में जानकी घाट बड़ा स्थान के महंत जन्मेजय शरण भी शामिल हैं। उन्होंने कहा कि आज राहुल गांधी भारत जोड़ो यात्रा के साथ वही काम कर रहे हैं, जो भारत मां से प्रेम करने वाले किसी भी राजनेता को करना चाहिए और उनका यह प्रयास सभी के लिए स्वागत योग्य होना चाहिए। उनकी इस कोशिश को या हमारे आशीर्वाद को राजनीतिक चश्मे से देखना उचित नहीं है।

भारत जोड़ो यात्रा को संतों का समर्थन मिलने पर कांग्रेस ने बीजेपी पर साधा निशाना

विवाद में मनीष तिवारी की नई किताब, BJP की ओर से किए जा रहे हमले पर कांग्रेस  नेता ने दी ये प्रतिक्रिया | Congress ex union minister Manish Tewari new  book controversy
कांग्रेस के प्रवक्ता गौरव तिवारी वीरू

राहुल गांधी और उनकी भारत जोड़ो यात्रा को संतों का समर्थन मिलने के बाद उपजी प्रतिक्रिया के बीच कांग्रेस के प्रवक्ता गौरव तिवारी वीरू भाजपा पर हमला करते हैं। उनका कहना है कि भाजपा रामलला से लेकर संतो और सनातन संस्कृति के मानकों- मूल्यों का इस्तेमाल अपने राजनीतिक लाभ के लिए करती है और यदि कोई इन मूल्यों को तटस्थ होकर राष्ट्रीय संदर्भों में अर्पित करना चाहता है, तो उन्हें मिर्ची लग जाती है। यह वह दौर है, जब लोगों को भाजपा के संकीर्णता समझनी चाहिए ।

भारत जोड़ो यात्रा का मकसद

bharat jodo yatra can congress party revive itself by bharat jodo yatra - भारत  जोड़ो यात्रा से पूरा होगा 'कांग्रेस जोड़ो' का मकसद, मिलेगी संजीवनी?
भारत जोड़ो यात्रा

इसे भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष एवं सांसद राहुल गांधी और तमिल नाडु के मुख्यमंत्री मुथुवेल करुणानिधि स्टालिन द्वारा 7 सितंबर, 2022 को कन्याकुमारी में लॉन्च किया गया था। इसे मूल्य वृद्धि, बेरोजगारी, राजनीतिक केंद्रीकरण और विशेष रूप से “भय, कट्टरता” की राजनीति और “नफरत” के खिलाफ लड़ने के लिए बनाया गया था।

Edit By Deshhit News

News
More stories
9 दिनों के ब्रेक के बाद राहुल गांधी ने शुरु की अपनी भारत जोड़ो यात्रा, आज उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में करेगी प्रवेश।