Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

गुजरात चुनाव से पहले अरविंद केजरीवाल का बड़ा बयान, राज्य में सरकार बनने पर पुरानी पेंशन योजना लागू करने को कहा

21 Oct, 2022
देशहित
Share on :

आपको बता दें कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी कुछ समय पहले आश्वासन दिया था कि अगर कांग्रेस गुजरात में सत्ता में आती तो पुरानी पेंशन योजना को बहाल करेगी।

नई दिल्ली: गौरतलब है कि इस साल दिसंबर में होने वाले गुजरात विधानसभा चुनाव है और इसे लेकर सरगर्मी भी तेज हो गई हैं। इस कड़ी में आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने एक बड़ा ऐलान किया है। उन्होंने कहा है कि अगर उनकी पार्टी इस साल दिसंबर में होने वाले चुनावों में सत्ता में आती है तो पंजाब के जैसे गुजरात में सरकारी कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन योजना लागू करेगी।

अरविंद केजरीवाल ने कहा

is country economic conditions not good doubts arvind kejriwal - देश की  आर्थिक हालत बहुत खराब? अरविंद केजरीवाल को इन वजहों से है शक
Arvind Kejriwal

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि गुजरात में जब आप सरकार बनेगी तो हम गुजरात में OPS लागू करेंगे। आपको बता दें कि कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी कुछ समय पहले आश्वासन दिया था कि अगर कांग्रेस गुजरात में सत्ता में आती तो पुरानी पेंशन योजना को बहाल करेगी।

क्या है पुरानी पेंशन योजना ?

Explained: क्या है पुरानी पेंशन योजना (OPS), जिसे लेकर हल्ला मचा है, नई  पेंशन से कैसे अलग? जानें आगे क्या होगा... | Zee Business Hindi
File photo

पुरानी पेंशन योजना (Old Pension Scheme -OPS) को दिसंबर 2003 में दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी सरकार ने खत्म कर दिया था। इसके बाद राष्ट्रीय पेंशन योजना (National Pension Scheme-NPS) लागू की गई। एनपीएस 1 अप्रैल, 2004 से प्रभावी है। पुरानी पेंशन योजना में कर्मचारी के आखिरी वेतन का 50 फीसदी पेंशन होती थी। इसकी पूरी राशि का भुगतान सरकार करती थी। वहीं राष्ट्रीय पेंशन योजना (National Pension Scheme) भारत पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकरण (Pension Fund Regulatory and Development Authority – PFRDA) और केंद्र सरकार के दायरे में सेवानिवृत्ति के लिए एक स्वैच्छिक और दीर्घकालिक निवेश योजना है। राष्ट्रीय पेंशन योजना केंद्र सरकार द्वारा एक सामाजिक सुरक्षा पहल है।

पुरानी पेंशन योजना के फायदे

  1. साल 2004 से पहले कर्मचारियों को पुरानी पेंशन स्कीम के तहत रिटायरमेंट के बाद एक निश्चित पेंशन मिलती थी।
  2. इस स्कीम में रिटायरमेंट के समय कर्मचारी के वेतन की आधी राशि पेंशन के रूप में दी जाती है।
  3. पुरानी स्कीम में जनरल प्रोविडेंट फंड यानी GPF का प्रावधान है। GPF यानी जनरल प्रोविडेंट फंड, सरकार के साथ कर्मचारी भी अपने वेतन का न्यूनतम 6% योगदान करते हैं और रिटायरमेंट पर एकमुश्‍त राशि मिलती है। GPF का मैनेजमेंट पेंशन और पेंशनभोगी कल्याण विभाग, कार्मिक मंत्रालय, लोक शिकायत और पेंशन के अंतर्गत किया जाता है।
  4. इस स्कीम में 20 लाख रुपये तक ग्रेच्युटी की रकम मिलती है।

OPS का ऐलान करने वाले राज्य

OPS की घोषणा करने वाला छत्तीसगढ़ पहला राज्य बना था। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस साल मार्च में अपने बजट भाषण में पुरानी पेंशन बहाल करने की घोषणा की थी, उसके बाद झारखंड और राजस्थान ने भी पुरानी पेंशन स्कीम पर लौटने का ऐलान किया।

Edit by Deshhit news

News
More stories
"भारत जोड़ो यात्रा" बीच में छोड़ दिल्ली आएंगे राहुल गांधी, जानिए वजह