दिवाली के बाद दिल्ली में फिर हालत खराब, कई इलाकों में 999 पहुंचा AQI

13 Nov, 2023
Head office
Share on :

नई दिल्ली:  दीवाली के मौके पर देश भर में खूब आतिशबाजियां हुईं. इस दौरान पटाखे जलाने से हर जगह धुआं-धुआं हो गया. दीवाली से पहले देश की राजधानी दिल्ली में प्रदूषण का बढ़ता स्तर चिंता का विषय बना हुआ था.

बता दें कि दिल्ली में हवा की खराब स्थिति को देखते हुए पटाखे पर प्रतिबंध लगाया गया है।पर्यावरणविद् भवरीन कंधारी ने बताया कि उनके आवासीय क्षेत्र डिफेंस कॉलोनी में भी पटाखे फोड़े जाने की सूचना मिली। उन्होंने कहा कि डिफेंस कॉलोनी थाने में भी शिकायतें दर्ज की गईं, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि ‘पटाखों को लेकर सुप्रीम कोर्ट का सख्त रुख आतिशबाजी के धुएं में उड़ गया। चेतावनियों और पूर्ण प्रतिबंध के बावजूद अधिकारी एक बार फिर विफल रहे हैं। सवाल यह उठता है कि उच्चतम न्यायालय अब क्या रुख अपनाएगा? हम उत्सव के नाम पर अपने बच्चों को घुट-घुटकर जीने को मजबूर कर रहे हैं।”

एयर क्वालिटी अर्ली वार्निंग सिस्टम के अनुसार, कुल मिलाकर, दिल्ली का AQI 275 “खराब” श्रेणी में था.केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) के मुताबिक, दिल्ली में कई जगह पर सांस लेना दूभर है और यहां वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 900 के पार पहुंच गया।

दिल्ली के आसपास इलाकों में क्या स्थिति?

दिल्ली के आसपास इलाकों में भी पटाखों पर प्रतिबंध का खुलेआम उल्लंघन किया गया।AQI डॉट इन के ताजा आंकड़ों के मुताबिक, नोएडा में PM2.5 का स्तर 238 दर्ज किया गया। यहां AQI कई जगहों पर 448 पहुंच गया है। गौतमबुद्ध नगर में 11 हॉट स्पॉट चिन्हित किए गए हैं। ग्रेटर नोएडा में भी AQI खराब है।गाजियाबाद की हवा भी खतरनाक जोन में बनी हुई है। यहां इंदिरापुरम में AQI 505 दर्ज किया गया।गुरुग्राम का AQI 241 रहा।

कैसी मांपी जाती है एयर क्वालिटी
शून्य और 50 के बीच AQI को अच्छा माना जाता है, 51 और 100 के बीच संतोषजनक, 101 और 200 के बीच मध्यम, 201 और 300 के बीच खराब, 301 और 400 के बीच बहुत खराब और 401 और 500 के बीच गंभीर माना जाता है.

ये है आपके आस-पास के इलाके का AQI

  • पूर्वी दिल्ली · 309 एक्यूआई · बहुत खराब
  • सेक्टर – 125, नोएडा – यूपीपीसीबी
  • नोएडा · 295 एक्यूआई · ख़राब
  • सीआरआरआई मथुरा रोड, दिल्ली – आईएमडी
  • दक्षिण पूर्वी दिल्ली · 340 एक्यूआई · बहुत खराब
  • दक्षिण पूर्वी दिल्ली · 273 AQI · ख़राब
  • विनोबा पुरी · 242 AQI · ख़राब
  • पटपड़गंज · 191 एक्यूआई · मध्यम
  • सेक्टर – 62, नोएडा – आईएमडी
  • नोएडा · 285 एक्यूआई · ख़राब
  • दक्षिण पूर्वी दिल्ली · 257 AQI · ख़राब
  • साहिबाबाद · 312 एक्यूआई · बहुत खराब
  • दक्षिण पूर्वी दिल्ली · 199 एक्यूआई · मध्यम
  • गोकलपुरी · 315 एक्यूआई · बहुत खराब
  • दक्षिण पूर्वी दिल्ली · 280 AQI · ख़राब
  • बहादुर शाह जफर मार्ग · 282 AQI · ख़राब
  • रणजीत सिंह ब्लॉक · 208 AQI · ख़राब
  • शाहदरा · 234 एक्यूआई · ख़राब
  • शाहदरा · 229 एक्यूआई · ख़राब
  • आर के पुरम, दिल्ली – डीपीसीसी
  • नई दिल्ली · 305 एक्यूआई · बहुत खराब
  • नई दिल्ली · 274 AQI · ख़राब
  • मंदिर मार्ग, दिल्ली – डीपीसीसी
  • मध्य दिल्ली · 242 एक्यूआई · ख़राब
  • सोनिया विहार, दिल्ली – डीपीसीसी
  • श्रीराम कॉलोनी · 304 एक्यूआई · बहुत खराब
  • दिल्ली दुग्ध योजना कॉलोनी · 303 एक्यूआई · बहुत खराब
  • पश्चिमी दिल्ली · 370 एक्यूआई · बहुत खराब
  • पश्चिमी दिल्ली · 302 एक्यूआई · बहुत खराब
  • शादीपुर, दिल्ली – सीपीसीबी
  • पश्चिमी दिल्ली · 321 एक्यूआई · बहुत खराब
  • अशोक विहार, दिल्ली – डीपीसीसी
  • अशोक विहार II · 243 AQI · ख़राब

दिल्ली सरकार ने जारी की है एडवाइजरी

प्रदूषण को देखते हुए दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने एडवायजरी जारी की है।इसमें कहा गया है कि लोगों को खुले वातावरण में सुबह की सैर और अन्य शारीरिक व्यायाम से बचना चाहिए।स्वास्थ्य विभाग ने वायु प्रदूषण के दौरान विशेषकर गर्भवती महिलाओं, बच्चों और बुजुर्गों को अधिक सावधानी बरतने और बाहर न निकलने को कहा है।सांस फूलने, चक्कर आने, खांसी, सीने में असहजता या दर्द होने, आंखों में जलन होने पर चिकित्सीय परामर्श लेने को कहा है।6/6

पिछले सालों में दिवाली पर कैसी थी दिल्ली की हवा ?

CPCB के आंकड़ों के मुताबिक, दिल्ली में पिछले साल दिवाली पर AQI 312, 2021 में 382, 2020 में 414, 2019 में 337, 2018 में 281, 2017 में 319 और 2016 में 431 दर्ज किया गया।दिवाली से ठीक पहले हवा की गुणवत्ता में तेजी से सुधार देखा गया था।इसकी सबसे बड़ी वजह 10 नवंबर को रुक-रुक हुई बारिश और हवा की गति का तेज होना है, जो प्रदूषकों को उड़ा ले गई।

News
More stories
गाजा पर इजरायल के हमलों को लेकर बंटे अरब देश, सऊदी में हुई मीटिंग में नजर आए मतभेद!
%d bloggers like this: