Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

पुलिस हिरासत में मौत: गुस्साई भीड़ ने फूंका थाना, पुलिसवालों को पीटा, तीन घंटे बाद भी नहीं पहुंचे अधिकारी

20 Mar, 2022
Employee
Share on :
Bihar Bettiah

बिहार में पुलिस कस्टडी में मौत पर बवाल मच गया है। यहां के बेतिया जिले के बलथरा थाना इलाके में ग्रामीणों ने थाना फूंक दिया। जब पुलिसवाले जान बचाने के लिए खेतों में भागे तो उनको दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। बताया जा रहा है कि DJ बजाने को लेकर हुए विवाद में पुलिस युवक को थाने लाई थी, जहां हिरासत में उसकी मौत हो गई

नई दिल्ली: बिहार के बेतिया में शनिवार को गुस्साई भीड़ ने जमकर हंगामा काटा। दरअसल,यहां के बलथर थाने में पुलिस की हिरासत में एक व्यक्ति की मौत हो गई। जिसके बाद भीड़ हिंसक हो उठी। भीड़ ने थाने और पुलिस के वाहनों में आग लगा दी। इतना ही नहीं पुलिस कर्मियों की पिटाई भी की। ग्रामीणों का ये बवाल लगभग तीन घंटे तक चला, इसके बाद भी मौके पर कोई अधिकारी नहीं पहुंचा। पूरे बलथर थाना क्षेत्र में तनाव का माहौल बना हुआ है। गुस्साए लोगों ने बेतिया-बलथर मुख्य सड़क को जाम कर दिया है।

बिहार में पुलिस कस्टडी में मौत पर बवाल


मिली जानकारी के अनुसार, शनिवार दोपहर को गश्ती के दौरान डीजे बजाने के आरोप में बलथर गांव से पुलिस अनुरुद्ध यादव को थाने पर ले आई थी। इसके बाद पुलिस की हिरासत में संदिग्धावस्था में उसकी मौत हो गई। युवक के परिजनों का आरोप है कि हिरासत में पुलिस ने उसे जमकर पीटा, जिसके कारण उसकी मौत हो गई। इस घटना के बाद परिजनों ने गांव वालों के साथ थाने को घेर लिया और जमकर उत्पात मचाया। 

बिहार बेतिया


थाने में तोड़फोड़ के बाद पेट्रोल डालकर गांव वालों ने आग लगा दी। इतना ही नहीं थाने की 3 गाड़ियों को ग्रामीणों ने आग के हवाले कर दिया। जान बचाने के लिए खेतों में भाग रहे पुलिसकर्मियों पर भी गांव वालों ने पत्थर फेंके। वहीं हैरानी वाली बात यह थी कि तीन घंटे तक चले इस बवाल के बाद भी पुलिस के कोई सीनियर अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचे। अभी भी गांव वाले थाने के बाहर डटे हुए हैं और हंगामा कर रहे हैं।

थाने में तोड़फोड़ के बाद पेट्रोल डाला
News
More stories
UP अमरोहा: होली में दो पक्षों के बीच विवाद में 40 लोगों के खिलाफ केस दर्ज, एसपी बोली- माहौल खराब करने वालों पर होगी कार्रवाई