सेना में चार साल के लिए भर्ती होंगे युवा, 30 हजार होगी सैलरी, सेना में भर्ती के नए नियमों का ऐलान आज

08 Jun, 2022
Sachin
Share on :

अग्निपथ एंट्री स्‍कीम के तहत सैनिकों को अग्निवीर के रूप में जाना जाएगा, जिसके बाद रक्षा बलों के पास उनमें से कुछ को सेवा में रखने का विकल्प होगा. इस स्कीम के तहत देश की तीनों सेनाओं- थल सेना, वायु सेना और नौसेना में नए रूप में प्रवेश लेने का अवसर मिलेगा.

नई दिल्ली: सशस्त्र बलों में भर्ती की कोशिशों में जुटे युवाओं के लिए सरकार ने बुधवार को बड़ा ऐलान किया है. खबर है कि बदलाव के बाद नई व्यवस्था के तहत जवानों को चार साल के लिए सेना में भर्ती किया जाएगा. यह अवधि खत्म होने के बाद सरकार इन सैनिकों को बड़ी राशि देने का भी फैसला किया है. साथ ही इनमें से करीब 25 फीसदी को सेवा में दोबारा एंट्री मिल सकती है. हालांकि, इस पूरी प्रक्रिया को अंतिम रूप दिया जाना अभी बाकी है.

पीएम का ड्रीम प्रोजेक्ट

आपको बता दें कि इस योजना के तहत सेना में युवा कम समय के लिए भर्ती हो सकेंगे. योजना को “अग्निपथ” स्कीम नाम दिया गया है. इस योजना के तहत युवा चार साल के लिए सेना में शामिल हो सकते हैं और देश के लिए सेवा दे सकते है. चार साल बाद सेवा से जवान मुक्त कर दिए जाएंगे. माना जा रहा है कि पीएम मोदी का ये ड्रीम प्रोजेक्ट है जिसके जरिए सेना में शामिल हो रहे जवानों की औसत उम्र कम करने का प्रयास करना रहेगा और रक्षा बलों के खर्चे में भी कमी लाई जाएगी.

पीएम मोदी का ये ड्रीम प्रोजेक्ट

और यह भी पढ़ें- जामिया नगर की इलेक्ट्रिक मोटर पार्किंग में लगी भीषण आग, 100 वाहन जलकर राख

सेना में युवा कम समय के लिए भर्ती हो सकेंगे

अग्निपथ एंट्री स्‍कीम के तहत सैनिकों को अग्निवीर के रूप में जाना जाएगा, जिसके बाद रक्षा बलों के पास उनमें से कुछ को सेवा में रखने का विकल्प होगा. इस स्कीम के तहत देश की तीनों सेनाओं- थल सेना, वायु सेना और नौसेना में नए रूप में प्रवेश लेने का अवसर मिलेगा. इस योजना के तहत तीन-चार साल के अंत में, अधिकांश सैनिकों को ड्यूटी से मुक्त कर दिया जाएगा और उन्हें आगे के रोजगार के अवसरों के लिए सशस्त्र बलों से सहायता मिलेगी.

कॉरपोरेट कंपनियों में काम कर सकेंगे युवा

अग्निवीरों के बीच से सर्वश्रेष्ठ प्रतिभाओं को सेना में रखा जाएगा और बाकी को नागरिक नौकरियों के लिए छोड़ने का विकल्प मिलेगा. सैन्य प्रशिक्षित युवाओं को नौकरी पर रखने के लिए कॉरपोरेट घराने अभी से सरकार के संपर्क में हैं. रिकॉर्ड के मुताबिक वर्तमान में रक्षा बलों में 1.25 लाख रिक्तियां उपलब्ध हैं.

News
More stories
ऑल इंडिया कोटे की सीट खाली को लेकर केंद्र सरकार को सुप्रीम कोर्ट की फटकार, मेडिकल कॉलेजों में 1456 सीटें खाली