Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

यशवंत सिन्हा ने राष्ट्रपति चुनाव के लिए भरा नामांकन पत्र, राहुल-पवार समेत कई बड़े नेता रहे मौजूद

27 Jun, 2022
Sachin
Share on :

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रमुख शरद पवार ने कहा था कि राष्ट्रपति चुनाव में विपक्षी दलों को अपने साझा उम्मीदवार यशवंत सिन्हा की जीत सुनिश्चित करने के लिए हर संभव प्रयास करने होंगे. यदि कोई भी जानकार राष्ट्रपति चुनाव के अंकगणित पर नजर डालें तो स्थिति उतनी ज्यादा खराब नहीं है, जितनी बताई जा रही है.

नई दिल्ली: राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी के लिए विपक्ष के साझा प्रत्याशी यशवंत सिन्हा ने आज अपना नामांकन दाखिल कर दिया है. इस दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी समेत कई बड़े नेता मौजूद रहे. वहीं, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि हम लोगों को 17 से ज्यादा पार्टियों का समर्थन प्राप्त है और जिन लोगों को हमने संपर्क नहीं किया उन लोगों ने खुद हमारे राष्ट्रपति उम्मीदवार यशवंत सिन्हा जी को फोन कर उनसे बात की है. अब हो सकता है कि सभी पार्टियों के मिल जाने के बाद एक नजदीकी लड़ाई देखने को मिलेगी.

इससे पहले राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रमुख शरद पवार ने कहा था कि राष्ट्रपति चुनाव में विपक्षी दलों को अपने साझा उम्मीदवार यशवंत सिन्हा की जीत सुनिश्चित करने के लिए हर संभव प्रयास करने होंगे. यदि कोई भी जानकार राष्ट्रपति चुनाव के अंकगणित पर नजर डालें तो स्थिति उतनी ज्यादा खराब नहीं है, जितनी बताई जा रही है और विपक्षी की ओर से यह लड़ाई काफी नजदीकी होगी. राकांपा प्रमुख की टिप्पणी ऐसे समय में आई है जब वाईएसआर कांग्रेस पार्टी और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) जैसे कुछ विपक्षी दलों ने भाजपा के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को समर्थन देने की घोषणा कर दी है.

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रमुख शरद पवार

वहीं, कांग्रेस से मल्लिकार्जुन खड़गे भी शामिल हुए तो समाजवादी पार्टी से अखिलेश यादव, राम गोपाल यादव पूरी प्रक्रिया के दौरान मौजूद रहे. इसके अलावा, रालोद के जयंत चौधरी समेत एन के प्रेमचंद्रन (आरएसपी), फारूक अब्दुल्ला (नेकां), ए राजा, टी शिवा (डीएमके), डी राजा (भाकपा), केटी राव (टीआरएस) और नामा नागेश्वर राव (टीआरएस) नामांकन के दौरान मौजूद रहे.

यशवंत सिन्हा के राष्ट्रपति उम्मीदवारी के लिए भरे गये नामांकन पत्र के दौरान राहुल-पवार समेत कई बड़े नेता रहे मौजूद

और यह भी पढ़ें- भारत को नेहरू, इंदिरा, राजीव जैसे नेताओं के खून पसीने से बनाया गया था, जिसका आधार लोकतंत्र और धर्मनिरपेक्षता है: महबूबा

तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के नेता टी रामाराव ने एक बड़े राजनीतिक घटनाक्रम में सोमवार को घोषणा की कि मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने आगामी राष्ट्रपति चुनावों में संयुक्त विपक्ष के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा को समर्थन देने का फैसला किया है. वहीं, केटीआर ने ट्विटर पर लिखा, @trspartyonline के अध्यक्ष श्री केसीआर गारू ने भारत के राष्ट्रपति के चुनाव में श्री @YashwantSinha जी की उम्मीदवारी को समर्थन देने का फैसला किया है.

21 जून को, यशवंत सिन्हा को राष्ट्रपति चुनाव की उम्मीदवारी के लिए विपक्ष की ओर से नामित किया गया था. बताया जाता है कि कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने एक बैठक के दौरान विपक्ष के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के रूप में उनके नाम की घोषणा की थी. यह घोषणा सिन्हा द्वारा संकेत दिए जाने के तुरंत बाद हुई थी.

यशवंत सिन्हा ने 2018 में बीजेपी छोड़ दी थी, वह पिछले साल ही टीएमसी में शामिल हुए थे. बाद में उन्हें पार्टी का उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया था. भारत के राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव 18 जुलाई को होना है और जरूरत पड़ने पर मतों की गिनती 21 जुलाई को की जाएगी.

Edited By: Deshhit News

News
More stories
केंद्रीय मंत्री रावसाहेब दानवे ने दिया महाराष्ट्र में सत्ता बदलने का संकेत, बोले- अभी दो-तीन दिन और विपक्ष में रहूँगा