यूपी सरकार का बजट, युवाओं ,धार्मिक पर्यटन, कृषि-उद्योग, सोलर पर बजट के फोकस होने की उम्मीद

05 Feb, 2024
Head office
Share on :

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार का आज बजट पेश किया जाएगा। यूपी सरकार में वित्त मंत्री सुरेश खन्ना इसे  11 बजे विधानमंडल में रखेंगे। बजट पेश करने से पहले सुरेश खन्ना ने घर पर बजट रखकर पूजा की। टैबलेट के साथ ही लाल रंग का बजट वाला ब्रीफकेस भी बगल में नजर आया। यह अब तक का सबसे बड़ा बजट होने की उम्मीद है। बताया जा रहा है कि इसका आकार 7.50 लाख करोड़ से अधिक हो सकता है। इसके साथ ही चुनावी साल होने के चलते इस बजट से जनता को कई सौगात मिलने की पूरी उम्मीद है। यानि बजट के लोकलुभावन होने की पूरी संभावना है।

बजट में इस पर रहेगा फोकस-

धार्मिक पर्यटन, कृषि-उद्योग, सोलर पर बजट के फोकस होने की उम्मीद है। इसके अलावा, युवाओं के लिए टैबलेट-लैपटॉप का भी प्रावधान इस बजट में हो सकता है। कैबिनेट की बैठक सीएम आवास पर हुई, इसमें बजट मसौदे को मंजूरी दी गई। इससे पहले, मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने रविवार को अपने ऑफिस में हस्ताक्षर कर बजट दस्तावेज को अंतिम रूप दिया। इस दौरान उन्होंने कहा-यह बजट प्रदेश को 1 ट्रिलियन डालर की अर्थव्यवस्था बनाने का आधार स्तंभ बनेगा।

पिछले साल 6.9 लाख करोड़ का पेश हुआ था बजट-

आपको बता दें कि पिछले साल यानि 2023 में 6.9 लाख करोड़ का बजट पेश किया गया था। इस बार, बजट में 15% की वृद्धि होने की संभावना है। इससे पहले आज कैबिनेट की बैठक मुख्यमंत्री आवास पर आयोजित की गई जिसमें बजट प्रस्तावों को मंजूरी दी गई।  उसके बाद ही यह बजट सदन में पेश किया जाएगा। 

किसानों, महिलाओं और युवाओं पर होगा फोकस 

आगामी लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए, यूपी की सरकार अपने बजट 2024-25 में युवाओं, किसानों और महिलाओं पर विशेष ध्यान केंद्रित करने के साथ ही प्रयागराज में कुंभ की तैयारियां, अयोध्या, काशी व मथुरा जैसे धार्मिक स्थलों के विकास पर खास फोकस करेगी। इसके अलावा, महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए लखपति दीदी योजना का उत्तर प्रदेश में व्यापक स्तर पर विस्तार किया जा सकता है। 

बजट में दिख सकती है लोकसभा चुनाव की झलक-

उम्मीद है कि यह मोदी सरकार के आखिरी अंतरिम बजट की योजनाओं को आगे बढ़ाने का प्रयास होगा। प्रदेशवासियों के लिए शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार और सामाजिक सुरक्षा के क्षेत्र में भी कई योजनाओं की घोषणा की जा सकती है। साथ ही लखनऊ मेट्रो के विस्तार को बजट लखनऊ मेट्रो के विस्तार की योजनाओं को भी बजट मिलने की उम्मीद है। गोरखपुर, वाराणसी, प्रयागराज मेट्रो के लिए भी बजट मिल सकता है। प्रस्तावित एक्सप्रेस-वे योजनाएं भी केन्द्र में रह सकती हैं। 

कितनी बार किसने पेश किया बजट-

यूपी में पूर्व सीएम नारायण दत्त तिवारी ने सबसे अधिक 11 बार बजट पेश किया। इसके बाद मुलायम सिंह यादव ने सबसे अधिक 9 बार बजट पेश किया। उनके बेटे अखिलेश यादव ने 2012 से 2017 के बीच 5 बार बजट पेश किया। आपको बता दें कि मौजूदा बीजेपी सरकार में वित्त मंत्री सुरेश खन्ना  लगातार 5वीं बार बजट पेश करने जा रहे हैं। योगी सरकार में शुरुआती दो बजट राजेश अग्रवाल ने पेश किया था।

News
More stories
पहाड़ों पर बर्फबारी, मैदानी इलाकों में बारिश, देहरादून में गिरे ओले
%d bloggers like this: