Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

Unnao: नौकरी के पहले दिन ही फंदे पर लटकी मिली नर्स की लाश, परिवार का आरोप- रेप के बाद हुई हत्या

01 May, 2022
Sachin
Share on :

बंगारमऊ में दुल्लापुरवा गांव के पास न्यू नवजीवन नर्सिंग होम है. यहां पर मृतक युवती (18 वर्ष) नर्स का काम करती थी. उसकी मां ने पुलिस को बताया कि बेटी शुक्रवार शाम अस्पताल में काम के लिए गई थी. शनिवार को सूचना मिली कि बेटी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है.

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के उन्नाव में एक नर्सिंग होम में नर्स का शव दीवार से लटकता हुआ मिला. नर्स का शव लटका देख गाँव में हड़कंप मच गया. बताया जा रहा है कि मृत युवती ने शुक्रवार को ही नर्सिंग होम में ज्वाइन किया था. मृतक युवती के परिवार वालों ने आरोप लगाया कि उसका रेप करने के बाद उसकी हत्या की गई और फिर बाद में दीवार से लटका दिया गया. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. और अब पुलिस जांच में जुट गई है है आसपास के लोगों से पूछताछ आकर रही है.

बंगारमऊ में दुल्लापुरवा गांव के पास न्यू नवजीवन नर्सिंग होम है. यहां पर मृतक युवती (18 वर्ष) नर्स का काम करती थी. उसकी मां ने पुलिस को बताया कि बेटी शुक्रवार शाम अस्पताल में काम के लिए गई थी. शनिवार को सूचना मिली कि बेटी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है. जब वह अस्पताल पहुंची तो देखा कि बेटी का शव छत में बने पिलर की सरिया में रस्सी के सहारे सड़क की ओर लटक रहा था.

शव छत में बने पिलर की सरिया में रस्सी के सहारे सड़क की ओर लटका हुआ, जिसे पुलिस निकालने की कोशिश कर रही है

और यह भी पढ़ें- पंजाब: पटियाला में शिवसेना की रैली के दौरान दो गुटों में झड़प

इस घटना को लेकर एडिशनल एसपी शशिशेखर सिंह ने मीडिया से बात अक्र्ते हुए बताया कि युवती की मौत के कारणों का पता लगाने के लिए शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है. जब वह रिपोर्ट आ जाएगी तो गह्तना के और पहलु भी स्पष्ट रूप से सामने आ जायेंगे. परिजनों के आरोप के बाद तीन व्यक्तियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर लिया गया है.  एसपी ने कहा कि दोषी व्यक्तियों के खिलाफ़ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

एडिशनल एसपी शशिशेखर सिंह

सीएमओ कार्यालय में पंजीकृत नहीं है नर्सिंगहोम

कहा जा रहा है कि न्यू जीवन नर्सिंग होम का संचालन तीन लोगों ने मिलकर शुरू किया है. अस्पताल के बाहर लगे बोर्ड में डॉ. अनिल कुमार के साथ निदेशक चांद बाबू व मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ. असलम का नाम पड़ा हुआ है. यह तीनों लोग ही अस्पताल में कर्मचारियों की नियुक्ति भी करते हैं. अब इस अस्पताल के बारे में एक और खुलासा हुआ है कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से मात्र 300 मीटर दूरी पर स्थित इस अस्पताल के बारे में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को भनक तक नहीं थी. स्वास्थ्य नियमों के अनुसार नर्सिंग होम में मरीजों को भर्ती करना तो दूर कर्मचारियों की तैनाती तब तक नहीं की जा सकती जब तक उसका पंजीकरण न हो जाए. इस अस्पताल किस शुरुआत पांच दिन पहले ही हुई थी. स्वास्थ्य विभाग अगर सचेत होता तो इस नर्सिंगहोम का संचालन ही न हो पाता और युवती की जान जाने से बच जाती.

न्यू जीवन नर्सिंग होम

अस्पताल संचालक ने पंजीकरण के लिए आवेदन तक नहीं किया था और सभी गतिविधियां शुरू कर दी थीं. जांच करने गई पुलिस को अस्पताल में मरीज भर्ती नहीं मिले. सीएमओ डॉ. सत्यप्रकाश ने बताया कि बिना पंजीकरण निजी अस्पताल संचालित था. नियमानुसार नहीं होना चाहिए था. घटना के बाद इसकी जानकारी हुई है. रविवार को एसीएमओ को भेजकर पूरी जांच कराई जाएगी. जिसके बाद आगे की कार्रवाई होगी.

पिता की हो चुकी है मौत

मृतक नर्स के पिता की सात वर्ष पहले मृत्यु हो गई थी. नर्स आठ बहनों में चौथे नंबर की थी. तीन बहनों का विवाह हो चुका है. मृतक की मां के मुताबिक़ उसके कोई बेटा न होने से परिवार का खर्च व बहनों की परवरिश के लिए उसकी इस बेटी ने नौकरी की शुरुआत की थी. उसे क्या पता था कि बेटी को इतनी दर्दनाक मौत दे दी जाएगी.

News
More stories
International Labour Day 2022: आखिर क्यों मनाया जाता है मजदूर दिवस