Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

केंद्रीय मंत्री रावसाहेब दानवे ने दिया महाराष्ट्र में सत्ता बदलने का संकेत, बोले- अभी दो-तीन दिन और विपक्ष में रहूँगा

27 Jun, 2022
Sachin
Share on :

मुख्यमंत्री कुर्सी पर सवाल करते हुए दानवे से पूछा कि अगर मान लीजिये बीजेपी एकनाथ शिंदे के साथ मिलकर सत्ता में आती है तो सीएम कुर्सी किसको मिलेगी? जिसका जवाब देते हुए दानवे ने कहा कि, मैं इस पर निर्णय लेने वाला कोई नहीं होता हूँ.

नई दिल्ली: महाराष्ट्र में जारी सियासी संकट के बीच केंद्रीय मंत्री राव साहेब दानवे ने महाराष्ट्र में सत्ता पलटने के संकेत दिए हैं. जालना के एक सभा में सांसद दानवे ने कहा, मैं केंद्र में मंत्री हूं, भैया साहब राज्य में मंत्री हैं. मुझे केंद्र में मंत्री बने लगभग ढाई साल हो चुके हैं, लेकिन 14 साल से तुम (राजेश टोपे) मंत्री हो, इसलिए जल्दी काम पूरा कर लो वरना वक़्त निकाल जाएगा. यदि आप भविष्य में अवसर चाहते हैं, तो आप इस पर विचार कर सकते हैं. मैं अभी भी दो-तीन दिन और विपक्ष में रहूँगा.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि राजेश टोपे राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के सदस्य हैं. उन्होंने महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव 2019 में घनसावंगी से जीत हासिल की थी. जिसके बाद उनको महाराष्ट्र का स्वास्थ्य मंत्री बनाया गया था. उन्होंने उसी निर्वाचन क्षेत्र से 2009 का भी विधानसभा चुनाव भी जीता था. मालूम हो कि महाराष्ट्र की मौजूदा महाविकास अघाड़ी सरकार और अपनी पार्टी शिवसेना से बगावत कर मंत्री एकनाथ शिंदे और उनके साथ 39 विधायक असम के गुवाहाटी के रैडिशन ब्लू होटेल में डेरा जमाए बैठे हैं. वहीं, इनके साथ 9 निर्दलीय विधायक भी होटल में मौजूद हैं.    

महाराष्ट्र में राजनीतिक संकट गहराया, किसको मिलेगी मुख्यमंत्री की कुर्सी

और यह भी पढ़ें- भारत को नेहरू, इंदिरा, राजीव जैसे नेताओं के खून पसीने से बनाया गया था, जिसका आधार लोकतंत्र और धर्मनिरपेक्षता है: महबूबा

हमने पहले ही कहा था कि ये आपस में भिड़ेंगे

शिवसेना और एकनाथ शिंदे गुट के विवादों के बीच बीजेपी की भूमिका होने के सवाल पर दानवे ने कहा कि हम इस सरकार के बनने के वक्त से ही कर रहे थे कि ये आपस में भिड़ेंगे और आज ऐसा ही हो रहा है. ये लोग आपस भी ही लड़कर पार्टी गिरा देंगे और इसमें बीजेपी का कोई रोल नहीं है.

केंद्रीय मंत्री रावसाहेब दानवे ने कहा कि हम इस सरकार के बनने के वक्त से ही कर रहे थे कि ये आपस में भिड़ेंगे

सीएम कुर्सी पर दिया दानवे ने ये जवाब…

मुख्यमंत्री कुर्सी पर सवाल करते हुए दानवे से पूछा कि अगर मान लीजिये बीजेपी एकनाथ शिंदे के साथ मिलकर सत्ता में आती है तो सीएम कुर्सी किसको मिलेगी? जिसका जवाब देते हुए दानवे ने कहा कि, मैं इस पर निर्णय लेने वाला कोई नहीं होता हूँ. मैं तय नहीं करूंगा कि कुर्सी पर कौन बैठेगा और कौन नहीं.

जारी है जुबानी जंग

आपको बता दें, महाराष्ट्र की शिवसेना और बागी विधायकों के बीच लगातार बयान आरोप-प्रत्यारोप चल रहे हैं. शिवसेना सांसद संजय राउत ने आज अपने पुराने विवादित बयान पर सफाई देते हुए कहा कि, उन्होंने आत्मा और जमीर मरने की बात कही थी. दरअसल, संजय राउत ने आपत्तिजनक बयान देते हुए कहा था कि गुवाहाटी से 40 विधायकों की बॉडी मुंबई आएगी. इसके बाद अब सफाई दी कि उन्होंने ये कहा है कि जो 40 विधायक गुवाहाटी में उनकी आत्मा मर चुकी है, वो जिंदा लाश की तरह हैं.

Edited By: Deshhit News

News
More stories
Maharashtra Crisis: शिंदे गुट पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, तो ठाकरे खेमे ने भी की पलटवार की तैयारी