Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

UK Political Crisis: 50 मंत्रियों की बगावत के बाद बोरिस जॉनसन आज देंगे इस्तीफा, आज रात राष्ट्र को करेंगे संबोधित

07 Jul, 2022
Sachin
Share on :

बीबीसी की पॉलिटिकल एडिटर क्रिस मेसन ने कहा, बोरिस जॉनसन आज कंजरवेटिव पार्टी के नेता के पद से इस्तीफा देंगे. कई दिनों से अपने पद के लिए लड़ रहे जॉनसन को उनकी पार्टी में कुछ लोगों के अलावा सभी ने अकेला छोड़ दिया है.

नई दिल्ली: ब्रिटन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन आज कंजरवेटिव पार्टी से इस्तीफा दे सकते हैं. इसकी जानकारी बीबीसी ने दी है. बताया जा रहा अहै कि नए नियुक्त किए गए मंत्रियों ने भी उनका साथ छोड़ दिया था और उनकी कैबिनेट से अभी तक 50 से अधिक सदस्यों ने इस्तीफा दे दिया है. इनमें 8 मंत्री और दो सेक्रेट्री ऑफ स्टेट ने पिछले कुछ घंटों में इस्तीफा दिया है. अब मंत्रियों के इस्तीफे की छड़ी लगने के बाद पीएम जॉनसन अलग-थलग पड़ गए और मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो, जॉनसन को अब बागी नेताओं की मांग के आगे झुकना पड़ा और उन्होंने बाद में घोषणा की कि वो इस्तीफा देने वाले हैं. गौरतलब है कि कंजरवेटिव पार्टी के अगले नेता के चुनाव तक वो प्रधानमंत्री पद पर बने रहेंगे. इसका मतलब यह है कि बोरिस इस अक्टूबर 2022 तक ब्रिटिश प्रधानमंत्री पद पर बने रह सकते हैं. कंजरवेटिव पार्टी बहुमत से जीती थी इस कारण इस पार्टी के नेता को ही ब्रिटिश प्रधानमंत्री के पद पर रहने का अधिकार होता है.

बीबीसी की पॉलिटिकल एडिटर क्रिस मेसन ने कहा, बोरिस जॉनसन आज कंजरवेटिव पार्टी के नेता के पद से इस्तीफा देंगे. कई दिनों से अपने पद के लिए लड़ रहे जॉनसन को उनकी पार्टी में कुछ लोगों के अलावा सभी ने अकेला छोड़ दिया है. गौरतलब है कि साल 2019 में भारी बहुमत से सत्ता में आए 58 साल के जॉनसन के लिए इसे स्वीकारना मुश्किल था. उनके नेतृत्व में उनकी पार्टी को उन क्षेत्रों में भी भारी वोट मिला जहां पहले कभी कंजरवेटिव पार्टी को समर्थन नहीं मिला था.

बीबीसी की पॉलिटिकल एडिटर क्रिस मेस

और यह भी पढ़ें- करोड़ों की सौगातों का पिटारा लेकर पीएम मोदी आज पहुंचेंगे काशी, आगमन पर आज शहर में 11 घंटे रहेगा डायवर्जन

मंत्रियों ने की थी इस्तीफा देने की अपील

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यूके के नए वित्त मंत्री नादिम जहावी ने गुरुवार को पीएम बोरिस जॉनसन से इस्तीफा देने की अपील की थी. उन्होंने ट्विटर पर पोस्ट किए गए एक बयान में कहा, प्रधानमंत्री, आप जानते हैं कि क्या करना सही है, और अभी इस्तीफा दे दीजिए.

मंत्रियों के इस्तीफे से बना दबाव

इससे पहले बोरिस जॉनसन के शीर्ष सहयोगियों में से एक ने बुधवार को दावा किया था कि वह बेहद उत्साहित हैं और ब्रिटेन के प्रधानमंत्री पद पर बने रहने के लिए परेशानियों का डटकर सामना करेंगे. वहीं गृह मंत्री प्रीति पटेल सहित मंत्रिमंडल में प्रधानमंत्री के कई करीबी अब उनके इस्तीफे की मांग कर रहे हैं. जॉनसन के अपने एक वरिष्ठ मंत्री को बर्खास्त करने की खबर सामने आने के कुछ समय बात उनके शीर्ष सहयोगी का यह बयान आया है.

मंत्रियों ने किन कारणों से छोड़ा बोरिस जॉनसन का साथ

पूरा मामला सांसद क्रिंस पिंचर को डिप्टी चीफ़ व्हिप बनाने से शुरू हुआ था. प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने सांसद क्रिस पिंचर को सरकारी ज़िम्मेदारी देने के मामले में माफ़ी भी मांगी. लेकिन मंत्री और सांसद इससे नहीं माने. बोरिस जॉनसन ने स्वीकार किया कि पिंचर को इस साल की शुरुआत में डिप्टी चीफ़ व्हिप बनाकर बड़ी ग़लती की थी. दरअसल, 30 जून को ब्रिटेन के समाचार-पत्र ‘द सन’ ने एक रिपोर्ट छापी थी, जिसमें दावा किया गया था कि सत्ताधारी कंज़र्वेटिव पार्टी के सांसद क्रिस पिंचर ने लंदन के एक प्राइवेट क्लब में दो मर्दों को आपत्तिजनक तरीक़े से छुआ था. जिसको लेकर विवाद भी बढ़ गया था अब इसपर लगातार प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है.

Edited By: Deshhit News

News
More stories
कर्नाटक के केरूर में दो समुदायों के बीच हिंसक झड़प, 4 लोग घायल, धारा 144 लागू