Breaking news

सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने पंजाब के कानून मंत्री और DGP को दी चेतावनी

Madrasa Survey: उत्तराखंड में भी होगा मदरसों का सर्वे, CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया जरुरी ! Delhi News: जल्द होगा MCD Election की तारीख का ऐलान, वार्डों के प्रस्तावित नक्शे पर कमेटी ने मांगे सुझाव पश्चिम बंगाल में नबान्न अभियान को लेकर BJP और पुलिस आमने सामने, हिरासत में लिए गए शुभेंदु अधिकारी-लॉकेट चटर्जी Delhi News: AAP के दो विधायक दंगा भड़काने में दोषी करार, 7 साल पुराना है मामला; 21 सितम्बर को कोर्ट सुनाएगा सजा Mumbai News: शख्स की कार में लगी आग तो मदद के लिए आगे आए महाराष्ट्र CM एकनाथ शिंदे, रुकवाया काफिला

उदयपुर: टेलर हत्याकांड की SIT करेगी जांच, अजमेर दरगाह के दीवान बोले- देश में तालिबानी कल्चर नहीं आने देंगे

29 Jun, 2022
Sachin
Share on :

उदयपुर में 29 जून को की गई एक दर्जी की नृशंस हत्या को आतंकवादी हमला माना जा रहा है और एक जांच दल भेजा गया है जिसमें आतंकवाद रोधी एजेंसी एनआईए के अधिकारी शामिल हैं क्योंकि प्रारंभिक जानकारी से यह सूचना मिली है कि हमलावरों के आईएसआईएस से संबंध हो सकते हैं.

राजस्थान: राजस्थान के उदयपुर जिले में कन्हैया लाल साहू नाम के एक टेलर की हत्या के बाद से क्षेत्र में तनाव बना हुआ है. वहीं, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट कर अपराधियों पर कड़ी कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है और साथ ही लोगों से शांति की अपील की है. उदयपुर घटना की जांच के लिए एसआईटी गठित की गई है, इस कमेटी में एसओजी एडीजी अशोक राठौड़, एटीएस आईजी प्रफुल्ल कुमार और एक एसपी और एडिशनल एसपी होंगे. पुलिस और प्रशासन की ओर से मामले को नियंत्रण में करने के लिए कई कदम उठाए जा रहे हैं.

उदयपुर में 29 जून को की गई एक दर्जी की नृशंस हत्या को आतंकवादी हमला माना जा रहा है और एक जांच दल भेजा गया है जिसमें आतंकवाद रोधी एजेंसी एनआईए के अधिकारी शामिल हैं क्योंकि प्रारंभिक जानकारी से यह सूचना मिली है कि हमलावरों के आईएसआईएस से संबंध हो सकते हैं. इस मामले पर अधिकारियों ने कहा कि जांच दल मामले की गहन जांच करेगा और गिरफ्तार किए गए दो आरोपियों की पृष्ठभूमि की पड़ताल गंभीरता से करेगा. एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम न बताने की शर्त पर कहा कि, प्रथम दृष्टया यह एक आतंकी मामला लगता है और इसकी गहन जांच की जरूरत है जिसमें उनके सोशल मीडिया प्रोफाइल को खंगालना शामिल है.

मुख्य सचिव ऊषा शर्मा ने मंगलवार शाम उच्चस्तरीय बैठक की और सभी संभागीय आयुक्तों, पुलिस महानिरीक्षकों एवं जिलाधिकारियों को प्रदेशभर में विशेष सतर्कता बरतने के सख्त निर्देश दिए हैं. सरकारी बयान में मुख्य सचिव ने कानून-व्यवस्था बनाये रखने की दृष्टि से प्रदेशभर में आगामी 24 घंटे के लिए इंटरनेट बंद किए जाने, सभी जिलों में आगामी एक माह तक धारा 144 लागू करने, पुलिस एवं प्रशासन के सभी अधिकारियों के अवकाश निरस्त करने, शांति समिति की बैठक आयोजित करने और उदयपुर जिले में आवश्यकतानुसार कर्फ्यू लगाए जाने के निर्देश दिए हैं.

पुलिस को दिए अपने पत्र में मृतक कन्हैयालाल ने बताया था कि आज से लगभग चार पांच दिन पहले मेरे बच्चे द्वारा मोबाइल पर इंटरनेट के माध्यम से गेम खेलते वक्त अचानक एक आपत्तिजनक पोस्ट हो गई थी, जिसकी जानकारी मुझे नहीं थी. परन्तु दो दिन बाद दो व्यक्ति मेरी दुकान पर आए, मुझसे मेरा मोबाइल मांगा और कहा कि हमारे मोबाइल में बैलेंस नहीं है, हमें किसी को कॉल करना है. हमें आपका मोबाइल चाहिए और उसके बाद मैंने मोबाइल दे दिया. परन्तु उनके द्वारा मुझे बताया गया कि आपके मोबाइल से एक पोस्ट शेय़र हुई है. आपको पता है क्या, तो मेरे द्वारा उन्हें कहा गया कि मुझे मोबाइल चलाना नहीं आता. मोबाइल मेरा बच्चा सिर्फ गेम के लिए लेता है. इसके बाद उन्होंने मेरे मोबाइल से पोस्ट डिलीट कर दी और कहा गया आईन्दा ऐसा मत करना.

पुलिस बताया कि मृतक कन्हैयालाल ने बताया था कि आज से लगभग चार पांच दिन पहले मेरे बच्चे द्वारा मोबाइल पर इंटरनेट के माध्यम से गेम खेलते वक्त अचानक एक आपत्तिजनक पोस्ट हो गई थी

और यह भी पढ़ें- जावेद पंप की याचिका पर बुलडोज़र मामले पर हुई सुनवाई के दौरान इलाहाबाद HC ने यूपी सरकार से मांगा जवाब

कन्हैयालाल का आज होगा अंतिम संस्कार

कन्हैयालाल साहू के शव का पोस्टमॉर्टम पूरा हो गया है. आधिकारिक सूचना के अनुसार आज ही उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा. पोस्टमार्टम के दौरान नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया एमबी अस्पताल के बाहर मौजूद रहे. उन्होंने पीड़ित परिवार से मुलाकात कर उन्हें सांत्वना दी है. साथ ही उन्होंने कहा कि यह मामला पूरा एक ही व्यक्ति ने नहीं किया है. इसके पीछे कोई न कोई एजेंसी लगी जरुर शामिल है. उन्होंने कहा कि मैं इस घटना के पीछे लगा रहूंगा और इस गैंग का पर्दाफाश करके रहूंगा.

देश में तालिबानी कल्चर नहीं आने देंगे-अजमेर दरगाह दीवान

अजमेर दरगाह के दीवान सैयद जैनुअल आबेदीन अली खान ने उदयपुर की घटना की घोर निंदा की है. उन्होंने कहा कि कोई भी धर्म मानवता के खिलाफ हिंसा को बढ़ावा नहीं देता है. देश में हम तालिबानी कल्चर नहीं आने देंगे. चाहे हमारी जाने ही चली जाए. ये जो लोग इस तरह की हरकत कर रहे हैं, उससे न केवल इस्लाम बदनाम होता है. धर्म बदनाम होता है, देश बदनाम होता है. यह गलत है.

उदयपुर हत्याकांड साधारण घटना नहीं-सीएम गहलोत

गृह मंत्रालय के अधिकारियों और पुलिस के साथ बैठक से पहले सीएम गहलोत ने मीडिया से बातचीत की. जिसमें उन्होंने उदयपुर हत्याकांड को लेकर कहा कि यह कोई साधारण घटना नहीं है. हम इस हत्याकांड की साजिश और इसके जुड़े लिंक को गंभीरता से जांच करवाएंगे. मैं बैठक के लिए जा रहा हूं. बैठक में क्या निर्णय लिया गया, ये आपको बताऊंगा.

उदयपुर हत्याकांड साधारण घटना नहीं-सीएम गहलोत

Edited By: Deshhit News

News
More stories
मुकेश अंबानी ने दिया JIO के डायरेक्टर पद से इस्तीफा, अब आकाश अंबानी होंगे नये चेयरमैन